Universe

प्रलयंकारी सूपरनोवा धमाके (Supernova Explosion) और इसके घातक परिणाम

क्या आप अंतरिक्ष के इस महाकाय और खतरनाक घटना के बारे जानते हैं?

सूपरनोवा धमाके और इस से जुड़ी कुछ मूलभूत बातें (Basic things related to Supernova Explosion and its power)

नमस्कार मित्रों! कैसे हैं आप? मैंने आपको मेरे पिछले आलेख में दुनिया के सबसे खतरनाक भूताणुयों के बारे में बताया था| परंतु आज मेँ अंतरिक्ष से जुड़ी एक दिलचस्प घटना आपके लिए लाया हूँ| जिसे पढ़कर आप निश्चित रूप से चौंक जाएंगे| तो, वह घटना क्या हैं? सोचिए! सोचिए | जी हाँ! आप सही सोच रहे हैं| आज मेँ आपको  सूपरनोवा धमाके ( Supernova Explosion In Hindi)  और इसके घातक शक्तियों के बारे में (supernova explosion and its power) बताने जा रहा हूँ।

हमेशा से ही लोग Black Hole को ही अंतरिक्ष का सबसे बड़ी विनाशक चीज़ मानते हैं| परंतु मित्रों हकीकत इस से बहुत ही अलग हैं| क्योंकि Black Hole तो सिर्फ ग्रहों और नक्षत्रों को ही निगलता हैं| पर एक Supernova Explosion पूरी दुनिया को खत्म कर सकता हैं|

ज़्यादातर लोग Supernova Explosion और इसके शक्तियों के बारे मेँ (supernova explosion and its power) बात नहीं करते, क्योंकि यह विषय ही है इतना रहस्यमय| खैर आज मैंने अति सरल तरीके से एक-एक कर के Supernova की संज्ञा से ले कर इसके विनाशक शक्तियों के बारे मेँ आपको बताया है| इसलिए कृपया इस आलेख के हर एक हिस्से को थोड़ी धैर्य के साथ पढ़ें|

वैसे तो अंतरिक्ष मेँ हर एक सेकंड मेँ एक नया Supernova Explosion घटित होता है| परंतु हैरानी की बात यह है की दुनिया मेँ जीवन के उपस्थिती के लिए आवश्यक सारी रासायनिक पदार्थ इस Supernova Explosion से ही बनते हैं|

तो, चलिए अब Supernova Explosion और इस के शक्तियों (supernova explosion and its power) के आधारित इस आलेख मेँ आगे बढ़ते हुए सबसे पहले Supernova की संज्ञा को जानते हैं|

सूपरनोवा क्या हैं ?  ( What is Supernova in Hindi)

जब भी हम  सूपरनोवा (Supernova) के बारे में बात करते हैं , तो सबसे पहले हमारे मन मेँ यह ख्याल जरूर आता ही होगा की ” आखिर यह Supernova क्या चीज़ हैं? “| तो, मित्रों इस सवाल का जवाब आपको सिर्फ और सिर्फ इसके संज्ञा को जानने के बाद ही पता चलेगा| तो, इसका संज्ञा क्या है! आखिर किसे कहते हैं Supernova (what is Supernova)? तो, मित्रों सुनिए|

जब भी अंतरिक्ष मेँ एक तारे (star) का विलय होता हैं , तो वह धमाके के साथ ज़ोर से फट कर अंतरिक्ष मेँ समा जाता हैं| इसी धमाके के कारण कुछ समय के लिए अंतरिक्ष मे हमारे कल्पना से परे प्रकाश की एक किरण कौंध जाती है| तो, इसी चमकीला व धमाके दार प्रक्रिया को  सूपरनोवा (Supernova या Supernova Explosion) कहते हैं|

प्रलयंकारी supernova explosion और इसके घातक शक्ति के बार मेँ | - Supernova explosion and its power.
supernova क्या है? Credit:syfy

सिर्फ एक , जी हाँ! सिर्फ एक Supernova Explosion पूरे ब्रह्मांड को प्रकाशित कर सकता हैं और इससे निकलने वाली प्रकाश के किरणों का तेज इतना ज्यादा होता हैं की , हमारा सूर्य इस तीव्रता के किरणों को कभी प्रकाशित ही नहीं कर सकता है| मात्र एक Supernova Explosion से निकली ऊर्जा पूरे अंतरिक्ष को थर्रा देती हैं|

हमारे आकाशगंगा का आकार अन्य आकाशगंगाओं के मुक़ाबले बहुत ही छोटा है| इसलिए हमारे आकाशगंगा में प्रति 50 साल मेँ एक Supernova Explosion घटित होता हैं| परंतु जैसा की मैंने आपको ऊपर ही पहले से बता दिया है की , कुछ-कुछ आकाशगंगा इतने बड़े होते हैं की इन के अंदर हर एक सेकंड एक नया Supernova Explosion घटित होता रहता हैं| हमारे सूर्य-मंडल के करीब मौजूद धूल का बादल (local bubble) 10 million साल पहले एक Supernova Explosion से ही बना हुआ है|

सूपरनोवा (Supernova) के प्रकार – Types of Supernova in Hindi.

सूपरनोवा (Supernova) के घातक विस्फोट और इसकी शक्तियाँ (supernova explosion and its power) इस के प्रकारों के ऊपर सीधे तरीके से निर्भर करते हैं| इसलिए आपके लिए इनके प्रकारों के बारे में जानना बहुत ही जरूरी हैं| तो, चलिए इनके प्रकारों को जान लेते हैं|

supernova के प्रकार
Type 1 aur Type 2 Supernova के बारे मेँ Credit:slideshare

विशेष रूप से अगर देखा जाए तो Supernova को मुख्य रूप से दो भागों मेँ बाँटा गया हैं|

1. Type I Supernova :-

मुख्य रूप से इस Supernova के Light Spectrum मेँ आपको कोई भी हाइड्रोजन का अणु आपको देखने को नहीं मिलेगा| वैज्ञानिकों के हिसाब से Type I के Supernova white dwarf तारों से ही बनते हैं और  इन से निकलने वाली धमाके की ऊर्जा white dwarf तारों के गैस से बनी दबाव के कारण होता हैं|

वैज्ञानिक इस प्रकार के Supernova को अंतरिक्ष में प्रकाश को मापने के लिए एक एकक की तरह इस्तेमाल करते हैं| ज़्यादातर Type I प्रकार के Supernova अंतरिक्ष मेँ अपने विलय के दौरान अपने संरचना के बाहरी कक्षा मे मौजूद हाइड्रोजन अणु को नहीं खोते हैं|

2. Type II Supernova :-

Type II प्रकार के Supernova अंतरिक्ष मेँ सबसे ज्यादा देखे जाते हैं| इनका आकार हमारे सूर्य से काफी ज्यादा बड़ा होता हैं और इनसे निकलने वाली ऊर्जा काफी ज्यादा तेज होती हैं| जब भी कोई नक्षत्र (star) अपने Core से हाइड्रोजन और हीलियम को खो देता हैं , तब दबाव के चलते वह नक्षत्र अपने अंदर मौजूद कार्बन को विलय करना शुरू कर देता हैं| इसी कार्बन की विलय बाद में Type II Supernova को जन्म देती हैं|

जब कोई इस प्रकार घटित होता है| तब, नक्षत्र के अंदर मौजूद हर एक मौलिक धातु इस के केंद्र मे जमा होने लगता हैं| इसी कारण से उस नक्षत्र का केंद्र काफी ज्यादा सघन हो जाता हैं| बाद मे इसी सघनता के चलते नक्षत्र के अंदर काफी ज्यादा दबाव पैदा होता है और यह इसके अंदर एक विस्फोट को जन्म देती हैं| यह विस्फोट बाद मेँ नक्षत्र के अंदर मौजूद हर एक पदार्थ को अंतरिक्ष मे बहुत तेजी से फट कर फैला देती हैं|

मित्रों! यही है Supernova के बनने का विज्ञान (सरल भाषा मेँ)| यहाँ पर मेँ आपको और भी बता दूँ की सूर्य से 20-30 गुना बड़े नक्षत्र अंतरिक्ष में Supernova के माध्यम से विलय न हो कर यह Black Hole के रूप मेँ परिवर्तित हो जाते हैं| जी हाँ ! आपने सही सुना Black Hole , क्योंकि उनके अंदर का दबाव इतनी ज्यादा बढ़ जाती है की वह चाहें तो भी Supernova का विस्फोट नहीं करा सकते हैं|

तो, आपने ऊपर Supernova विस्फोट और इसके शक्तियों (supernova explosion and its power) के ऊपर आधारित इस आलेख मेँ Supernova के प्रकारों को जान लिया| इसलिए चलिए अब इससे जुड़ी कुछ रोचक सवालों के जवाब को जानते हैं| तो, वह सवाल क्या-क्या हैं? जानने के लिए पढ़ते रहिए|

क्या सूपरनोवा विस्फोट और इसकी शक्ति  खतरनाक है ? – Is Supernova Explosion and its power Dangerous in Hindi?

जैसा की मैंने पहले भी कहा था , Supernova की शक्ति  (Power Of Supernova)  काफी ज्यादा होता है| इसकी एक किरण अगर आपके ऊपर पद जाए तो आप पल भर मेँ भाँप बन कर हवा मेँ विलीन हो जाएंगे| Supernova से निकलने वाली किरण UV किरणों का भंडार है , जो की आपके शरीर मेँ Mutation करवा कर आपको काफी ज्यादा बुरी मौत दे सकता हैं|

अगर एक सूपरनोवा धमाका (Supernova Explosion) पृथ्वी से 50-60 आलोक वर्ष दूरी पर भी घटता हैं , तो इसकी ऊर्जा हमारे पूरे पृथ्वी को आसानी से एक झटके मेँ तबाह कर सकता हैं|

तो, हाँ Supernova वाकई मेँ काफी ज्यादा विनाशक और खतरनाक होते हैं|

क्या होगा अगर हमारे पृथ्वी के पास ही एक Supernova विस्फोट होगा तो ?

मित्रों , यह सवाल Supernova विस्फोट और इस के शक्तियों के ऊपर (supernova explosion and its power) आधारित इस लेख मेँ सबसे ज्यादा गौर करने वाली बात हैं| क्योंकि यह हमारी पृथ्वी से ही तो जुड़ी हैं| अगर एक Supernova हमारे पृथ्वी से 30-1000 आलोक वर्ष दूरी पर घटित हैं , तो ही वह हमारे पृथ्वी पर प्रभाव डाल सकता हैं| हर एक Supernova Explosion पृथ्वी पर 3-4 C तापमान बढ़ाने के लिए जिम्मेदार हैं| पृथ्वी के जन्म के बाद से अभी तक करीब-करीब 20 Supernova विस्फोट हो चुका हैं|

supernova का पृथ्वी पर असर|
यह होगा अगर पृथ्वी के पास supernova फटा तो|

एक आंकड़े से यह पता चलता है की , हर 240 million सालों मेँ एक Supernova विस्फोट पृथ्वी से 33 आलोक वर्ष के दूरी पर होता हैं| ज़्यादातर इस विस्फोट मेँ UV और Gamma के किरण पैदा होते हैं| यह किरण पृथ्वी मेँ मौजूद Ozone layer को नष्ट करते हुए , समंदर के प्राकृतिक Ecosystem को काफी गंभीर रूप से हानी पहुंचाहेगे| बाद मेँ यह किरण पैड-पौधों मेँ मौजूद chloroplast को भी नष्ट कर के इन के photosynthesis कर ने के प्रक्रिया को भी रोक देंगे|

तो, मित्रों अगर देखा जाए तो एक Supernova ही हमारे पृथ्वी मेँ बसी जीवन को उजाड़ सकती हैं और इतिहास मेँ ऐसे ही कुछ Supernova के कारण ही आज के दुनिया मेँ मौजूद Radioactive पदार्थ अस्तित्व मेँ हैं| इस का अच्छा उदाहरण है Iron-60. जी हाँ! आपने सही सुना यह पदार्थ पृथ्वी के पास करीब-करीब 50 लाख (5 Million) साल पहले हुआ था|

इसलिए मित्रों अगर किसी चीज़ की खामियाँ हैं तो , उसकी कुछ अच्छे गुण भी होते हैं| हालाँकि! मेँ मानता हूँ की Supernova काफी विनाशक होते हैं| परंतु , हमारे पृथ्वी को इससे समय-समय पर काफी सारी विरल धातु भी मिली है|

तो, आपकी  Supernova को लेकर क्या राय हैं?

Tags

Bineet Patel

I am a learner and passionate writer who loves to spread the interesting concepts of science through my writing.

Related Articles

Back to top button
Close