Universe

मिल्की वे में बुलेट होल्स – Bullet Holes In Milky Way In Hindi

ऐसा माना जा रहा है कि जिसने ऐसा किया वह सूर्य के द्रव्यमान का एक लाख गुना है।

वैज्ञानिकों ने दावा किया है कि किसी अज्ञात वस्तु ने मिल्की वे (Milky Way) के कुछ हिस्सों में विशाल “बुलेट छेद” (Bullet Holes) किये है। Bullet Holes In Milky Way In Hindi 

यह रहस्यमय वस्तु जिसने हमारी आकाशगंगा में छेद कर दिया है, जब दूरबीन द्वारा सीधे देखा जाता है तो वह दिखाई नहीं देता।

इन “बुलेट होल” की खोज शोधकर्ता एना बोनका (Ana Bonaca) ने की। वह हार्वर्ड-स्मिथसोनियन सेंटर फॉर एस्ट्रोफिज़िक्स (Harvard-Smithsonian Center for Astrophysics) में शोधकर्ता हैं।

उनके अनुसार, “यह किसी चीज़ की घनी गोली (Dense Bullet) जैसा है”। यह बुलेट छेद मिल्की वे में एक सितारों की धारा (Star Stream) में दिखाई दिए जिसे जीडी -1 (GD-1) कहा जाता है।

सितारों की धारा तारों के एक समूह को कहा जाता है जो वर्षों से मिल्की वे के गुरुत्वाकर्षण बल द्वारा बनाया गया हो। GD-1 सितारों को पहली बार 2006 में खोजा गया था। वे आकाशगंगा के पार होते है और मिल्की वे के निर्माण को समझने में हमारी मदद करते हैं।

जब बोनाका ने जीडी -1 को हाल ही में देखा, तो उन्होंने उसमे एक अजीब सा गैप (Gap) पाया। यह गैप सुचारू (Smooth) नहीं था और इसमें एक धार थी – जैसे कि किसीने इसके माध्यम से गोली चलायी हो।

मिल्की वे में बुलेट होल्स किसने किये? – Who shot Bullet Holes in Milky Way?

Milky Way | Bullet Holes In Milky Way In Hindi
  • Save
This illustration shows the spiral shape of the Milky Way galaxy. (Image Credits: National Geographic)

चलिए कोशिश करते हैं और समझते हैं कि वास्तव में इन बड़े बुलेट छेदों को किसने किया होगा (Big Bullet Holes In Milky Way In Hindi)?

ऐसे कई सिद्धांत हैं जो हमें बताते हैं कि ये बुलेट छेद कौन कर सकता है।

एक सिद्धांत यह है कि एक ब्लैक होल (Black Hole) अपराधी हो सकता है।

हालांकि, यह संभावना नहीं की जा सकती कि आवश्यक आकार का एक और ब्लैक होल मौजूद हो, जैसे कि हमारी आकाशगंगा में पहले से ही मौजूद है। ब्लैक होल के बारे में अधिक पढ़ें।

लेकिन बोनका के अनुसार इस संभावना से इंकार भी नहीं किया जा सकता।

दूसरा सिद्धांत और भी अधिक मायावी है: डार्क मैटर (Dark Matter)। डार्क मैटर एक अदृश्य शक्ति है जो माना जाता है कि ब्रह्मांड का 85 प्रतिशत हिस्सा बनाती है।

पढ़िए डार्क मैटर के बारे में।

नासा (NASA) के अनुसार, ज्ञात होने की तुलना में डार्क मैटर के बारे में अधिक अज्ञात है।

तीसरा सिद्धांत इस बारे में है कि वर्तमान में यह वस्तु ब्रह्मांड में कहां हो सकती है। इसके अस्तित्व का कारण चाहे जो भी हो। यह वस्तु निश्चित रूप से आकार में बड़े पैमाने पर है और मिल्की वे आकाशगंगा में कहीं छिपी हुई है।

इस रहस्यमय पदार्थ की खोज का नेतृत्व करने वाले डेटा को यूरोपीय अंतरिक्ष एजेंसी (European Space Agency’s) के गैया (Gaia) मिशन द्वारा यूरोपीय अंतरिक्ष मिशन (European Space Mission, ESA) से इकट्ठा किया गया था।

गैया आकाशगंगा और मिल्की वे से बाहर निकलकर इनके विकास, संरचना और गठन का अध्ययन करता है।

स्टार स्ट्रीम में बुलेट होल्स के आकार से परे अपराध स्थल पर कोई और सबूत नहीं मिला। अतः, हम केवल कल्पना कर सकते है की इनमे से यह बुलेट होल्स किसने किये होंगे।

इसलिए, दुर्भाग्य से, इन बुलेट छेद के अपराधी को अब तक पकड़ा नहीं जा सका है।

बुलेट होल्स का गठन – Formation Of Bullet Holes

Dark Matter | Bullet Holes In Milky Way In Hindi
  • Save
A simulation of the dark matter distribution in the universe 13.6 billion years ago. (Image Credits: National Geographic)

वैज्ञानिकों के पास बुलेट छेद होने का प्रमाण है। लेकिन किसी को नहीं पता कि ये बुलेट छेद किस बंदूक से किये गए।

आईये, हमारे मिल्की वे से इन बुलेट होल के गठन (Formation Of Bullet Holes In Milky Way In Hindi) को समझते है।

किसी वस्तु ने मिल्की वे (Milky Way) के माध्यम से बड़े छेद कर दिए। यह कुछ इतना अजीब है की खगोल विज्ञान (Astronomy) की पुस्तकों को फिर से लिख सकता है।

स्टार स्ट्रीम का अध्ययन करते हुए, बोनका ने पाया कि जीडी -1 स्टार स्ट्रीम में एक राक्षस के आकार जितना छेद है।

बुलेट के छेद के कारण को ट्रैक करने के सारे प्रयास विफल हो गए हैं। जो बहुत अजीब है!

ऐसा लगता है जैसे यह बुलेट होल्स हाल ही में किये गए हो। और यह जिसने भी किया है वह संभवतः बहुत बड़ा और विशाल होगा।

डॉ. बोनाका सोचती हैं, “यह हो सकता है कि यह एक चमकदार वस्तु है जो कहीं दूर चला गयी हो, और यह भी हो सकता है कि ये आकाशगंगा में कहीं छिपी हुई हो ,”।

ब्रह्मांड गुरुत्वाकर्षण (Gravitational Force) द्वारा एक साथ टिका रहता है, जिस वस्तू का जितना अधिक द्रव्यमान (Mass) होता है, उतना ही अधिक वो गुरुत्वाकर्षण (Gravitational Force) के जरिए अपनी ओर खींचती है। इसका सीधा उदाहरण आप हमारे ब्लैक (Amazing Facts Of Black Holes) होल वाले पोस्ट में पढ़ सकते हैं।

इसके बावजूद, आज तक हम यह पता नहीं लगा पाए हैं कि वास्तव में यह वस्तु किस चीज से बनी है। तारों की धारा में ये बुलेट छेद लगभग 30-65 प्रकाश वर्ष (Light Years) दूर हैं।

क्या यह हमारे सौर मंडल को भी नुकसान पहुंचा सकता है?

इससे पहले कि कोई भी चिंतित हो जाए, यह कहा जा सकता है कि यह सौर मंडल को नुकसान पहुंचाने के लिए पर्याप्त नहीं है। ” ये हमारे सौर मंडल से अभी बहुत दूर है।

बुलेट छेद के बारे में निष्कर्ष – The Conclusion

यह उम्मीद की जाती है कि जिसने ऐसा किया वह एक स्टार की तुलना में बहुत अधिक बड़ा है। हम नहीं जानते कि यह क्या है। हम यह भी नहीं जानते हैं कि यह किस से बना है।

शायद, यह सूर्य के द्रव्यमान (Solar Mass) से एक लाख गुना ज़्यादा हो।

और हमे इस सौर द्रव्यमान वाला कोई भी तारा ज्ञात नहीं हैं। हर दिन हम किसी ऐसी नई जानकारी पाते हैं जो ब्रह्मांड को और समझ पाना अधिक जटिल बनाता है।

एक अध्ययन के अनुसार, सूर्य हर दिन गर्म हो रहा है और इससे अंततः पृथ्वी निर्जन हो सकती है। हमारे मेजबान तारे (Sun) में सौरमंडल के द्रव्यमान का 99.8 प्रतिशत है। लेकिन इस द्रव्यमान (Mass) का उपयोग किया जा रहा है, जिससे हमारे सूर्य का विस्तार हो रहा है और परमाणु संलयन (Nuclear Fusion) नामक प्रक्रिया से अधिक गर्मी पैदा होती जा रही है।

इस तरह से, भविष्य में किसी समय, सूर्य हमारे ग्रह को निर्जन बनाने के लिए काफी बड़ा और काफी गर्म हो जाएगा।

Souces: LiveScience

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
737 Shares