Universe

न्यूट्रॉन स्टार और पल्सर: पदार्थ का रहस्यमय रूप – Neutron Star and Pulsars: Mysterious Form of Matter

अगर एक न्यूट्रॉन तारा धरती से टकरा जाए तो क्या होगा? आप जानकर चौंक जाएंगे।

तारे  (Neutron Star and Pulsars Hindi)आसमान में चमकने वाले वो पिंड है जिनका अपना खुद का प्रकाश होता है और वे ग्रहों को अपनी ग्रेविटी से बांध कर एक सौर मंडल का निर्माण करते हैं। सूर्य हमारा सबसे नजदीकी तारा है, या कहें तो वही एकमात्र तारा है, जिसकी वजह से हमारे ग्रह पृथ्वी पर जीवन है।

पर ये जो आप सूर्य देख रहे हैं वो भी एक ना एक दिन मर जायेगा, और तब हमारे पास कोई तारा नहीं होगा जिससे हमारी पृथ्वी उर्जा प्राप्त कर सके और जीवन जो पनपने में मदद कर सके। उस समय पृथ्वी पर कुछ नहीं होगा।

 तारे का    Supernova  विस्फोट 

सूर्य से 15से 20 गुना भारी तारा जिसका  सौर द्रव्यमान (Solar Mass)  सूर्य से 20 गुना हो वह अगर उपनी पूरी उर्जा को खत्म करके मरेगा तो एक महाविशाल विस्फोट को जन्म देगा जिसे Supernova  भी कहा जाता है।

ये विस्फोट इतना भयानक और तीव्र होगा कि पलक छपकते ही वह स्टार इतने छोटे आकार का हो जायेगा जो कि शायद  उसे आप देख भी ना पाओ! इस छोटे से आकार के तारे जिसमें आकार तो छोटा है पर द्वव्यमान(Mass)  अपने तारे के बराबर ही  न्यूट्रॉन तारा ( Neutron Star ) कहलाता है।

हमारा सूर्य नहीं बन सकता है, जब ये मरेगा तो एक सफेद बौने तारे के रूप में अपनी अंतिम सासें गिन रहा होगा,  सफेद बौने तारे (White Dwarf Star)  भी न्युट्रोन तारों के जैसे ही होते हैं बस इनका घनत्व  (Density) काफी कम होता है।

आइये इसके बारे में अब गहराई से समझते हैं  – 

Neutron Star and Pulsars Hindi –

जब लगभग १५-२० (15-20) सौर द्रव्यमान (Solar Mass) का एक स्टार पूरी तरह से अपने ईंधन को जला देता हैं। तब वह एक सुपरनोवा घटना (Supernova Event) में विस्फोट करता हे।

साथ ही, विकिरण के रूप में अपने द्रव्यमान को छोड़ कर, गुरुत्वाकर्षण के पतन (Gravitational Collapse) के परिणामस्वरूप न्यूट्रॉन स्टार (Neutron Star) का निर्माण करता हे।.

न्यूट्रॉन तारा (Neutron Star) क्या है?

न्यूट्रॉन तारे एक तारे के मृत अवशेष हैं और लगभग पूरी तरह से न्यूट्रॉन से बने होते हैं। इनका वजन लगभग 1.53 सौर द्रव्यमान होता हैं और यह त्रिज्या (Radius) में बहुत छोटा होते हैं।

Universe Most Dense Star - Neutron Star
Universe Most Dense Star – Neutron Star

यदि आप एक छोटे कप में ग्रह पर सभी मनुष्यों को संकुचित करते हैं, तो घनत्व (Total Density) न्यूट्रॉन स्टार के घनत्व के समान होगा । न्यूट्रॉन तारे हमारे सूर्य के द्रव्यमान (Solar Mass) का लगभग 1.5 गुना हैं, और इस प्रकार अविश्वसनीय रूप से घने (Dense) हैं।

न्यूट्रॉन स्टार पदार्थ के बस एक चीनी जितना क्यूब का वजन, पृथ्वी पर लगभग एक सौ मिलियन टन (10 करोड़ टन)  होगा।

पल्सर (Pulsar)- एक न्यूट्रॉन तारा

एक तारा अपनी धुरी (Axis) के बारे में घूमता है। जब यह सुपरनोवा (Supernova Event) से गुजरता है, तो यह अपना द्रव्यमान (Solar Mass) खो देता है।

हालांकि, कोणीय गति बनाए रखने के लिए, इसे अब तेजी से स्पिन करना होगा। और जब यह होता है, तो यह अपनी चुंबकीय क्षेत्र  रेखाओं (Magnetic field) के साथ विकिरण (Radiation) के विस्फोट का उत्सर्जन करता है।

जब पृथ्वी से देखा जाता है, तो हम प्रकाश की एक स्पंदित किरण को देखते हैं। यही एक पल्सर (Pulsar) को जन्म देता है। इस प्रकार, पल्सर प्रकाश की गति (Speed of light) से कणों का उत्सर्जन करते हुए अत्यधिक घूर्णन वाले न्यूट्रॉन स्टार हैं।

सभी पल्सर (Pulsar) न्यूट्रॉन तारे (Neutron Star) हैं लेकिन सभी न्यूट्रॉन तारे पल्सर नहीं हैं।

Pulsar Star PSR J0357 - Neutron Star and Pulsars: Mysterious Form of Matter
Pulsar Star PSR J0357 (Image Credits: NASA)

पहली बार खोजी गई रेडियो पल्सर PSR B1919 + 21 थी। 28 नवंबर,1967 को जॉचली बेल बर्नेल (Jocelyn Bell Burnell) और एंटनी हेविश (Antony Hewish) द्वारा खोजा गया, यह पहला रेडियो पल्सर है।

क्या आप न्यूट्रॉन तारे देख सकते हैं?

न्यूट्रॉन तारे की सतह वास्तव में घने लोहे से बनी होती है।और जैसा कि हम सभी जानते हैं कि गर्म लोहा हमेशा चमकता है।

तो आप पूरी तरह से एक न्यूट्रॉन स्टार (Neutron Star) देख सकते हैं क्योंकि यह अपने उग्र गठन (Fiery Formation) से बचे हुए गर्मी को विकीर्ण (Radiate) करता है।

अगर एक न्यूट्रॉन तारा (Neutron Star) धरती से टकरा जाए तो क्या होगा?

याद रखें कि न्यूट्रॉन स्टार, हालांकि अपेक्षाकृत छोटा है पर एक तारे की तरह भारी है और हमारे सूर्य से काफी बड़ा है। गुरुत्वाकर्षण उस चीज के लिए बड़ा हो जाता है जो भारी और छोटा होता है।

क्योंकि  न्यूट्रॉन तारे छोटे और भारी दोनों होते हैं इसलिए उनका गुरुत्वाकर्षण क्षेत्र बहुत बड़ा होता है।

अब कल्पना करें कि यदि सूर्य से अधिक द्रव्यमान वाली कोई वस्तु जो हमारे ब्रह्माण्ड की सबसे गर्म वस्तु में से एक है, हमारी पृथ्वी के समीप आएगी तो क्या होगा।

“तारे का गहन गुरुत्वाकर्षण क्षेत्र (Gravitational Field) कुछ ही समय में पृथ्वी को न्यूट्रॉन-स्टार सामग्री (Neutron Star Material) में कुचल देगा।”

Tags

Related Articles

Back to top button
Close