Health

दुनिया के 5 सबसे घातक वायरस (Deadliest Viruses) के बारे मे पूरी जानकारी

HIV नहीं हैं दुनिया के सबसे खतरनाक और जानलेवा Viruses! क्या आपके बारे में यह सब जानते हैं?

दुनिया के सबसे जानलेवा भूताणुयों (deadliest viruses in detail) के नाम और इनके ऊपर एक पहल नजर:- Introduction of worlds deadliest viruses in Hindi.

आज के इस आधुनिक युग में हमने विज्ञान से जुड़ी बहुत सारे गज़ब के अजूबों को काफी सालों से देखते आ रहे हैं। अंतरिक्ष के अंधकार से ले कर समंदर की गहराई तक हर तरह विज्ञान की ही चर्चा है। इसलिए मैं आज आपको विज्ञान के एक नए पहलू से रूबरू करवाने जा रहा हूँ और वह पहलू हैं Medical Science. जी हाँ! मेँ आपको आज दुनिया के 5 सबसे जानलेवा भूताणुयों (वायरस)  के बारे में (deadliest viruses in detail) बताने जा रहा हूँ|

दुनिया के 5 सबसे जानलेवा भूताणु | - Worlds 5 most deadliest viruses in detail.
बहुत घातक होते हैं भूताणु(virus) Credit:top teny

दोस्तों इस से पहले मैंने आपको चाँद और सूर्य के बारे में काफी सारी रोचक बातें बता चुका हूँ| इसलिए अंतरिक्ष के विज्ञान से थोड़ी दूर आ कर आज हम एक नए विज्ञान की हसीन सफर में चलने के लिए बिलकुल तैयार हैं| तो सबसे  पहले  5 सबसे जानलेवा वायरस (Virus Hindi) के नाम  (deadliest viruses in detail) जान लेते हैं| क्योंकि नाम से ही तो हम उसे पहचानेंगे|

तो, दुनिया के 5 सबसे जानलेवा वायरस (भूताणुयों) के नाम है (deadliest viruses in detail):- World’s 5 most Deadliest Viruses

  1. जीका वायरस (Zika Virus)
  2. निपाह वायरस (Nipah Virus)
  3. इबोला वायरस (Ebola Virus)
  4. मारबर्ग वायरस (Marburg Virus)
  5. हैन्ट्स वायरस (Hants Virus)

तो, चलिये एक-एक कर के इन भूताणुयों के बारे में जानते हैं|

दुनिया के 5 सबसे जानलेवा भूताणु | - Worlds 5 most deadliest viruses in detail.
Zika Virus का मूल परिवाहक मच्छर Credit: cdc

1. जीका वायरस के बारे में पूरी जानकारी (Zika Virus  Hindi)

मित्रों! अगर में आपसे पुछूँ की दुनिया के सबसे बड़े और घातक भूताणुयों (virus) का नाम बताइये? तो, आपका जवाब शायद HIV ही होगा| परंतु दोस्तों यह जवाब बिलकुल भी सही नहीं हैं।  समय की चक्र जैसे ही बीतता जा रहा है और जैसे विज्ञान की और उन्नति होती जा रही हैं| ठीक इसी तरह दिन व दिन इंसान को नए-नए रोग लगते ही जा रहे हैं।

इसीलिए आज के समय में कोई भी भूताणु बहुत ज्यादा देर तक सबसे ज्यादा घातक बन कर नहीं रह सकता, तो, दुनिया के सबसे घातक भूताणु(virus) का नाम हैं, Zika Virus जी हाँ! मित्रों Zika Virus आज सबसे ज्यादा खतरनाक और जानलेवा भूताणु के रूप में दुनिया भर में चर्चा का विषय बना हुआ है|

Zika Virus ज़्यादातर tropical और sub-tropical जलवायु वाली क्षेत्रों में ज़्यादातर पाया जाता हैं। इस Virus की वजह से गर्भवती औरत की गर्भपात और बच्चे की सही से विकास भी नहीं हो सकता है। अगर यह भूताणु (virus) किसी वयस्क को हो जाता हैं , तो उसकी दिमाग सही तरीके से काम  नहीं करता है| इसके अलावा उसको बहुत प्रकार के Neurological Disorder भी हो सकते हैं|

जीका ( Zika ) वायरस के लक्षण (Symptoms Of Zika Virus Hindi)
  1. मच्छरों के द्वारा काटे जाने पर यह  किसी भी व्यक्ति को हो सकता हैं| इसलिए इसके लक्षण आप आसानी से खोज नहीं सकते हैं| परंतु कुछ-कुछ व्यक्तियों को मच्छरों के द्वारा काटे जान के 2 से 8 दिन बाद सबसे पहले बुखार पकड़ता हैं|
  2. बुखार होने के बाद रोगी व्यक्ति के त्वचा पर लाल-लाल छाले पड़ने शुरू हो जाता हैं| इसके अलावा उनके मांसपेशियों में जकड़न होना और गांठों में दर्द होना शुरू हो जाता हैं|
  3. कुछ-कुछ व्यक्तियों को सर दर्द और आँखें लाल हो जाते हैं|
इस भूताणु (वायरस)  के फैलने का कारण या Zika जीका रोग होने का कारण :-
  1. जीका (Zika)  रोग से पीड़ित मान के गर्भ से जन्म बच्चा Zika रोग से पीड़ित हो सकता हैं|
  2. असुरक्षित योन संबंध और रक्त के आदान-प्रदान (blood transfusion) से , यह बीमारी आसानी से फैल सकती हैं|
जीका रोग के उपचार (Zika Virus treatment Hindi )

आपको यहाँ जानकार थोड़ी सी निराशा होगी की Zika Virus का अभी तक कोई स्थाई और सौ-प्रति शत सटीक तोड़ या उपचार नहीं हैं| परंतु हाँ! Acetaminophen के जरिये अस्थाई रूप से इस से उपचार लिया जा सकता हैं|

खैर, इसके ऊपर अभी कई सारे टीका बन रहे हैं , जो की भविष्य में इस रोग के निदान में बहुत ही लाभकारी हो सकते हैं|

तो, दुनिया के सबसे जानलेवा वायरस (deadliest viruses in details) के ऊपर आधारित इस लेख मे आगे बढ़ते हुए , चलिए दूसरे वायरस (भूताणु) के बारे में जानते हैं|

दुनिया के 5 सबसे जानलेवा भूताणु | - Worlds 5 most deadliest viruses in detail.
Nipah रोग का मूल कारण Credit:online biology notes

2. निपाह वायरस के बारे में पूरी जानकारी (Nipah Virus Full detail in Hindi)

सन 1999 में सबसे पहले निपाह वायरस ( Nipah Virus)  को Malaysia में देखा गया था| इसके बाद इसे साल 2001 में Bangladesh में दूसरी बार देखा गया था| यहाँ मेँ आपको बता दूँ की Bangladesh भारत की पड़ोसी देश होने के कारण Nipah Virus आसानी से भारत में प्रवेश भी कर सकता हैं। यहाँ तक की इसे Bangladesh से सटी हुई भारत के कुछ-कुछ हिस्सों में भी देखा गया था|

इस Virus की फैलने की तीव्रता को देखते हुए , इसके ऊपर कई देशों ने एक-जुट हो कर इसे जड़ से खत्म करने के लिए काफी सारी शोध किए|

 निपाह ( Nipah)  के लक्षण (Nipah Virus Sysmptoms Hindi)
  1. यह Virus एक Zoonotic Virus है (जानवरों से इंसानों को फैलने वाला Virus)| इस से पीड़ित लोगों में सबसे पहले बुखार , जुकाम और उलटी के लक्षण पाये जाते हैं|
  2. इसके बाद पीड़ित व्यक्ति को बीच-बीच में बेहोशी जैसा महसूस होना , बेहोश होना , सर में दर्द होना , Pneumonia और सांस लेने में दिक्कत जैसी असुविधा यों का सामना करना पड़ता हैं| इस रोग में पीड़ित व्यक्ति की मरने की 40% से 70% तक संभावना होती है| इसलिए यह एक काफी जानलेवा Virus के रूप में दुनिया भर में मशहूर है (deadliest viruses in hindi)
निपाह (Nipah) रोग होने के कारण
  1. जैसा की मैंने आपको ऊपर ही बता दिया था की , यह एक जानवरों से फैलने वाला बीमारी है| इसीलिए यह ज़्यादातर गृह-पालित पशुओं से ही इंसानों को होता हैं| इस Virus का मूल-वाहक Pteropodidae फ़ैमिली के Fruit-bats होते हैं
  2. अगर कोई व्यक्ति  इन Fruit-bat के Urine या saliva के द्वारा दूषित फल या फलों से बने खाने को खा लेता हैं| तो , उसे यह रोग हो सकता हैं|
  3. किसी भी रोगी व्यक्ति से यह Virus उस के saliva (लार) या उसके नजदीक जाने से भी दूसरे व्यक्तियों को संक्रमित हो सकता हैं| रोगी व्यक्ति से ज्यादा बात चित या उस के करीब नहीं जाना चाहिए (जितना हो सके)|
निपाह रोग के उपचार (Nipah Treatment Hindi)

निपाह (Nipah) को इसके प्रारंभिक अवस्था में ELISA टेस्ट के माध्यम से आसानी से पहचाना जा सकता है और इसका निदान भी किया जा सकता हैं| परंतु रोग इस के आगे बढ़ जाता हैं तो , इससे जूझने के लिए अभी तक कोई औषधि या उपचार नहीं है| इसके ऊपर अभी काफी सारी शोधें जारी हैं और आशा हैं की वैज्ञानिक इसका एक स्थाई समाधान जल्दी ही ढूंढ लेंगे|

Ebola के बारे मे पूरी जानकारी|
Ebola virus की एक फोटो Credit:abc

3. इबोला वायरस के बारे में पूरी जानकारी (  Ebola Virus Full detail in Hindi)

मित्रों! दुनिया के सबसे खतरनाक वाइरस (sabse ghatak viruses hindi) के ऊपर पूरी जानकारी आपकी तभी पूरी होगी , जब आप Ebola Virus के बारे में भी जानेंगे। क्योंकि, यह भूताणु (वायरस)  दुनिया का सबसे मशहूर और सबसे भयानक भूताणु हैं। मित्रों! मेँ आपको यहाँ बता दूँ की , ये भूताणु एक साल पहले काफी चर्चा में आया था| इसने काफी कम समय में अपनी बर्बरता दुनिया भर को दिखा दिया था|

इसलिए मैंने इसको दुनिया के सबसे जानलेवा भूताणुयों (deadliest viruses in detail) के ऊपर बनी इस सूची में शामिल किया हैं| यह Virus सबसे पहले अफ्रीका मे साल 1976 को देखा गया था| यह Virus भी जानवरों से इंसानों को संक्रमित होता हैं| परंतु इस रोग को फैलाने के लिए ज़्यादातर जंगली जानवर ही जिम्मेदार होते हैं| Ebola से पीड़ित व्यक्ति की बचने का प्रति शत मात्र 50% ही है| इसलिए इसे एक काफी खतरनाक बीमारी भी कहा जा सकता हैं|

इबोला (Ebola) के लक्षण( Ebola Symptoms Hindi)
  1. इस बीमारी के लक्षण संक्रमित होने के 2 से 20 दिन के अंदर देखा जा सकता है| इसके प्रारंभिक लक्षण बुखार , बिना कारण थकान , मांसपेशी में दर्द , सर दर्द और गले में खराश आदि हैं|
  2. इस के अलावा कुछ-कुछ व्यक्तियों में उलटी, छाले पड़ना , रक्त स्राव और जुकाम भी लक्षण के तौर पर देखा जा सकता हैं|
इबोला (Ebola) रोग होने के कारण:-
  1. यह वायरस  (virus) ज़्यादातर bats , गोरीला , सिंपंजी , आंटीलोप जैसे जंगली जीवों के लार और bodily-fluids से इंसानों को संक्रमित होता हैं| ज़्यादातर इस रोग के मूल कारण को bats (चिंकादर) को ही माना गया हैं|
  2. संक्रमित व्यक्ति से Ebola Virus खून , bodily fluids के जरिए दूसरे स्वस्थ व्यक्ति के पास संक्रमित होता हैं|
  3. रोगी के पास रहना और उससे ज्यादा मेल-मिलाव कर ना भी इस रोग के होने का कारण बन सकता हैं|
इबोला (Ebola) रोग के उपचार :-

इबोला (Ebola) का अभी तक कोई स्थाई उपचार नहीं मिला है| परंतु रोगी को Dehydration से बचाने के लिए ORS और बाकी rehydration salt का इस्तेमाल किया जाता हैं| rVSV-ZEBOV के नाम का यह टीका Ebola को भविष्य में जड़ से मिटाने के लिए सक्षम हो सकता हैं| क्योंकि एक शोध से इसके क्षमता को वैज्ञानिकों ने आंक कर काफी बड़ी सफलता प्राप्त कर लिया हैं|

Marburg Virus के बारे मे पूरी जानकारी|
Marburg Virus को फैलाने वाला Bat (चिन्मकादर) Credit:daily news

4. Marburg Virus के बारे मे पूरी जानकारी ( Marburg Virus Hindi )

दुनिया के सबसे जानलेवा वायरस में से (deadliest viruses in detail) एक भूताणु हैं Marburg Virus| इसलिए इसके बारे में आपको जानना बहुत ही जरूरी हैं| मित्रों! यहाँ मेँ आपको बता दूँ की यह भूताणु(virus) Ebola Virus के साथ ही आता हैं| क्योंकि Ebola और Marburg दोनों ही Virus एक ही कारण से फैलते हैं|

ज्यादातर जिन जीवों में Ebola पाया जाता हैं,उन जीवों में Marburg Virus भी पाया जाता हैं| इसी कारण से यह इतना खतरनाक बन जाता हैं|

मारबुर्ग  वायरस (Marburg ) के लक्षण  (Marburg Virus Symptoms hindi)
  1. इस बीमारी का लक्षण 2 से 20 दिनों में दिखना शुरू कर देता हैं| रोग की प्रारंभिक अवस्था में व्यक्ति को किसी भी काम को करने में दिलचस्पी नहीं रहता , उसको काफी तेज बुखार होता हैं और बुखार के साथ-साथ जुकाम भी व्यक्ति को और भी परेशान करता हैं|
  2. मांसपेशी  में दर्द , पेट में दर्द , diarrhea , उलटी आदि इसके बाद के लक्षण हैं| काफी ज्यादा Dehydrate के कारण रोगी का शरीर काफी कमजोर और निढाल सा दिखता हैं| रोग के अंतिम पलों में रोगी के शरीर से काफी ज्यादा रक्त स्राव और जलीय पदार्थों का निष्कासन होता जाता हैं|
मारबुर्ग (Marburg ) रोग होने के कारण
  1. Marburg रोग गुफाओं और खदानों में रहने वाले Rousettus Bat के द्वारा फैलता हैं|
  2. यह रोग संक्रमित व्यक्ति से स्वस्थ व्यक्ति को त्वचा की सीधे स्पर्श से , मेल-मिलाव से , bodily fluids के माध्यम से संक्रमित होता है|
मारबुर्ग (Marburg ) रोग के उपचार (Marburg Treatment Hindi)

इस रोग का अभी तक कोई सफल उपचार नहीं खोजा गया है| परंतु रोगी को ORS के माध्यम से dehydrate से बचाने के लिए लिया जा सकता हैं| इसके अलावा कई प्रकार से immune therapy और drug therapy के जरिए कुछ हद तक बीमारी को नियंत्रण में लाया जा सकता हैं|

Marburg को चाहे अभी अच्छे से उपचार किया नहीं जा सकता हैं| परंतु हम चाहें तो इसे फैलने से रोक सकते हैं| जन-जागरूकता के माध्यम से हम लोगों को इसके बारे में बता सकते हैं|

Hanta Virus के बारे मे पूरी जानकारी|
चूहों से हो सकता से आ सकता हैं Hanta Virus Credit: kfyr

5. Hanta Virus के बारे मे पूरी जानकारी (Hanta Virus Full detail in Hindi)

यह Virus ऊपर बताए गए अन्य Viruses के मुक़ाबले काफी अनोखा और काफी ज्यादा दर्द देने वाला हैं| यह Virus इंसानों में सांस लेने के लिए काफी ज्यादा मुश्किल पैदा करता हैं , जो की वास्तव में काफी जादा दर्दनाक होता हैं| यह आमतौर पर चूहों से होती है|

Hanta के लक्षण  (Hanta Virus Symptoms Hindi)
  1. इस Virus के द्वारा होने वाले रोग के प्रारंभिक अवस्था में शरीर काफी ज्यादा ठंडा पड कर बुखार से ग्रस्त हो जाता हैं| मांसपेशीओं मे दर्द , उलटी और पेट में दर्द इसके अन्य मूल लक्षण हैं|
  2. रोगी को बाद में खाँसी, छोटी-छोटी सांस , निम्न रक्त चाप और दिल के बीमारी से भी जूझना पड़ता है|
Hanta रोग होने के कारण
  1. Deer Mouse के द्वारा फैलने वाला यह रोग उसके saliva या urine के जरिए इंसानों को संक्रमित होता हैं|
  2. यहाँ पार्क मेँ आपको बता दूँ की यह बीमारी एक रोगी व्यक्ति से एक स्वस्थ व्यक्ति को संक्रमित नहीं होता| इसलिए सावधानी बरतते हुए आप रोगी से मिल सकते हैं|
Hanta रोगे के उपचार  ( Hanta Virus Treatment Hindi)

इस रोग को इस के प्रारंभिक अवस्था में ठीक किया जा सकता हैं| हालाँकि अगर रोग ज्यादा बढ़ जाता हैं तो रोगी को ICU में भी ठीक तरीके से उपचार किया जा सकता हैं| आपात कालीन स्थिति में रोगी को ECMO के जरिए भी बचाया जा सकता हैं।

निष्कर्ष – Conclusion

मित्रों! मैंने ऊपर दुनिया के सबसे 5 जानलेवा वायरस (sabse ghatak virus) के बारे में पूरी जानकारी (deadliest viruses in details) दे दी हैं| परंतु यहाँ पर मेँ आप से आग्रह करूंगा की जितना हो सके आप अपने सेहत का ख्याल रखें क्योंकिसेहत ही हर इंसान की सबसे बड़ी संपत्ति है ” इन सबके अलाबा एक और वायरस है जो सीधा बैक्टीरिया को खा जाता है इसके बारे में जानने के लिए आप यहां पर पढ़ सकते हैं – The Bacteriophage Virus In Hindi

Tags

Bineet Patel

मैं एक उत्साही लेखक हूँ, जिसे विज्ञान के सभी विषय पसंद है, पर मुझे जो खास पसंद है वो है अंतरिक्ष विज्ञान और भौतिक विज्ञान, इसके अलावा मुझे तथ्य और रहस्य उजागर करना भी पसंद है।

Related Articles

Back to top button
Close