Universe

चांद (Moon) से जुड़ी रोचक और अद्भुत बातें – Amazing Moon Facts In Hindi

चाँद से जुड़ी इन अनकही बातों को शायद ही आपने कभी सुना होगा

नमस्कार! क्या कर रहे हैं आप सब? अब ( now ) की बार गर्मी से शायद आपकी भी थोड़ी हालत मेरी तरह खराब ही होगी। परंतु जब भी में रात को छत पर चाँद (Moon Facts In Hindi) को देख कर सोता हूँ , तब मानो ऐसा लगता है की मेरी पूरे दिन की थकान उस वक़्त चली गई हो। खैर चाँद से याद आया , आप सभी ने बचपन में बड़े-बुजुर्गों से चंदा मामा के विषय पर कहानी या कविता सुना ही होगा| मित्रों! यहाँ ( here ) पर आज में उसी चाँद से जुड़ी रोचक बातों (Moon Facts In Hindi) को आपको बताने जा रहा हूँ जिसको आपने शायद बचपन में नहीं सुना होगा|

हालाँकि! यहाँ पर बताई गई हर बात आपके लिए बहुत ही उपयोगी होगी| क्योंकि हर एक बात विज्ञान से जुड़ी हुई है| वैसे मैने यहाँ और भी विशेष प्रकार के बातों का उल्लेख किया हूँ , जिसे पढ़ कर आपकी आँखें खुली की खुली रह जाएंगी। वैसे में आप को और भी बता दूँ की यहाँ पर दि गई हर एक बात विशेष प्रकार की खोज करने के बाद ली गई है| इसलिए  इसे आप धैर्य के साथ पढ़ें।

इसके अलावा  मैंने आपको और भी चाँद से जुड़ी ज्ञानवर्धक बात (Moon Facts In Hindi) बताऊंगा जिसे आप पढ़ कर निश्चित रूप से उपकृत होंगे| इसलिए बिना किसी देरी के चाँद के रोचक बातों को जान ने के लिए इस लेख में आगे बढ़ते हैं|

तो, चाँद एक खगोलीय उप-ग्रह है , जो की हमारे पृथ्वी के चारों तरफ घूमता रहता है खैर अब आप बोलोगे की, क्या बिनीत ! यह तो चाँद से जुड़ी रोचक बात तो नहीं है (Moon Facts In Hindi) तो, यहाँ  थोड़ा ठहरिए , क्योंकि अभी तो कहानी शुरू हुई है।

चाँद क्या है और इस से जुड़ी कुछ खगोलीय बातें (Moon Facts In Hindi)

Moon Facts और इस से जुड़ी रोचक बातें| - Amazing moon facts.
चाँद से जुड़ी दिलचस्प बातें Credit: pintrest

अब यहाँ ( here ) पर आपके सामने में  चाँद से जुड़ी कुछ खगोलीय रोचक बातों को (Moon Facts In Hindi) रखने जा रहा हूँ| क्योंकि  अगर आप इसे अच्छे से समझ जाएंगे तो , आपको बाद की बातों को समझने में काफी आसानी होगी।

चाँद हमारे सूर्य-मंडल में पाँचवा सबसे बड़ी उप-ग्रह है। हमारे चाँद की आयु हमारे पृथ्वी के करीब है। अभी इसे बने 4.51 अरब साल ही हुए हैं। यहाँ पर ज़्यादातर लोगों को एक भ्रम है की , चाँद (Moon Facts In Hindi) की दोनों सतह को वह देख सकते हैं| परंतु  में आपको बता दूँ की आप जितना भी कोशिश कर लें , पर आप सिर्फ चाँद की एक ही सतह को ही देख पाएंगे। परंतु  ऐसा क्यूँ? कभी सोचा है! नहीं ना, कोई बात नहीं , में हूँ ना! दोस्तों , हमारा चाँद हमारी पृथ्वी के साथ Synchronous rotation  ( एक साथ एक ही वेग में घूमना ) में है। इसलिए  हम इसका सिर्फ ही side के सतह को देख सकते हैं।

हम चाँद की जिस सतह को देखते हैं , उस के ऊपर ( above ) एक बड़े गड्ढे को हमेशा ही देखते हैं| यहाँ में आपको बता दूँ की उस गड्ढे का नाम उस के पास मौजूद ज्वालामुखी Maria के नाम से ही बहुत प्रसिद्ध है|

सूर्य के अलावा चाँद ही है , जिसे हम अपनी खुली आँखों से अच्छे तरीके से देख सकते हैं| इस के साथ-साथ यह हमारे आसमान में मौजूद दूसरी सबसे चमकीला खगोलीय पिंड है , जो की हमेशा पृथ्वी के आकाश में मौजूद रहता है|

पृथ्वी से चाँद की दूरता 3,84,402 km है| इसी तरह  चाँद की आकार हमारे आसमान में आसपास सूर्य की जितना ही है| क्योंकि हमारे से सूर्य चाँद के मुकाबले काफी दूर हैं|

चाँद की खगोलीय रूपरेखा (Moon astronomical Profile In Hindi)

  1. भू-मध्य व्यास ( Equitorial Diametre ) – 1738.1 km.
  2. ध्रुवीय व्यास ( Polar Diametre ) – 1736.0 km.
  3. द्रव्यमान ( Mass ) – 7.342 * 10^22 kg.
  4. सतह की क्षेत्रफल – 3.793 * 10^7 km^2.
  5. आयतन ( volume ) – 2.1958 * 10^10 km^3.
  6. पलायन वेग ( Escape Velocity ) – 2.38 km/s.
  7. गुरुत्वाकर्षण बल ( gravity ) – 1.62 m/s^2.
  8. वायुमंडलीय दबाव  ( atmospheric pressure ) – 10^-7 Pa.
  9. त्रिजा ( radius ) – 1737.1 km.

तो, मित्रों! ऊपर मैंने चाँद से जुड़ी कुछ खगोलीय तथ्यों का (Moon Facts In Hindi) जिक्र किया है| इसलिए ( therefore ) में चाहता हूँ की , आप सभी इन ऊपर लिखे तथ्यों को अच्छे से पढिए। क्योंकि यह आपको बाद  में काफी काम आएगा।

अब चाँद से जुड़ी रोचक बातें (Moon Facts In Hindi) के आधारित इस लेख में बारी आई है , चाँद से जुड़ी अनकही और अनसुनी रोचक बातों का| तो, चलिए उन बातों को एक-एक कर के जानते हैं।

चाँद से जुड़ी कुछ रोचक बातें  (Amazing Moon Facts In Hindi)

हालाँकि आपने अभी-अभी ऊपर चाँद से जुड़ी कुछ खगोलीय रोचक बातों (Moon Facts In Hindi) को जाना| परंतु ( but ) अब ( now ) भी ऐसी कुछ बातें शेष हैं , जिसे आपका जानना बहुत ही जरूरी है| तो, चलिए जानते हैं!

1. बडा रहस्यमय है चाँद का बनना (How Moon Was Formed Hindi)

कैसे बना चाँद|
चाँद का बनाना भी है एक रहस्य Credit: sky and telescope

में , मानता हूँ की Black Hole और Quasars की तरह अंतरिक्ष में शायद ही और कोई इतना रहस्यमय चीज़ होगा| परंतु क्या आप जानते हैं ! चाँद के बनने का रहस्य| आज विज्ञान की इतनी उन्नति होने के बाद भी इसके बारे में इतनी चर्चा नहीं होती है| और इस के पीछे का कारण है इसका रहस्यमय होना|

जब ( when ) चाँद बना तब ( since ) से ले कर आज तक इसके उत्पत्ति को ले कर काफी सारी विवाद हुई हैं| परंतु आखिर कार वैज्ञानिकों ने एक थिओरी के हिसाब से चाँद की उत्पत्ति का अनुमान लगाने में सक्षम रहे|

Robert Massey ने कहा है की , हमारी पृथ्वी ( प्रारंभिक पृथ्वी ) और Theia ( मंगल के आकार का ) नामक एक खगोलीय पिंड के आपसी तकरार से आज के चाँद (Moon Facts In Hindi) का जन्म हुआ है| कुछ वैज्ञानिक यहाँ ( here ) तक भी कहते हैं की Dinosaur को खत्म करने वाली उल्का पिंड के टकराव से यह टकराव 100 million गुना ज्यादा बड़ा था|

2. आज के हिसाब से कभी ज्यादा बड़ा हुआ करता था हमारा चाँद (The Size Of Moon)

आज से कई साल पहले हमारा चाँद पृथ्वी के सतह  से 10 गुना ज्यादा पास था| इसलिए यह उस समय आसमान में 10 गुना ज्यादा बड़ा दिखता था| मित्रों! यहाँ ( here ) पर थोड़ा सोचिए की अगर आप आज के चाँद के हिसाब से 10 गुना ज्यादा बड़ा चाँद देखेंगे तो आपका भाव उस समय क्या होगा?

इसी तरह कुछ वैज्ञानिक यह भी कहते हैं की, चाँद पृथ्वी से सिर्फ 20,000 km से 30,000 km तक के दूरी पर मौजूद था| जो की , आज के दूरी के हिसाब से 12 से 14 गुना कम है। यहाँ मैं आपको और भी बता दूँ की पृथ्वी की घूमने से पैदा हुए बल के कारण चाँद प्रति साल 3.78 cm हम से दूर जा रहा है।

आपको जान के हैरानी होगा की आपका नाखून भी एक साल में 3.78 cm ही बढ़ता है| तो , यहाँ थोड़ा सोचिए की एक दिन ऐसा भी आएगा की जब पृथ्वी के लोग चाँद को भी देख नहीं पाएंगे| परंतु अभी के लिए आपको चिंता करने की जरूरत नहीं हैं|

3. बारूद की तरह महकती है चाँद की सतह (Moon Smells Like Gun Powder)

बारूद की तरह महकता है चाँद|
बारूद की तरह महकता है इसका सतह Credit: wideners

यह बात चाँद से जुड़ी रोचक बातों की (Moon Facts In Hindi) सूची में सबसे खास है| क्योंकि ऐसी तथ्य आपने शायद ही पहले ( before ) कभी सुना होगा| Apollo 17 के एक मिसन के दौरान एक महाकाश यात्री के पोशाक में चाँद के सतह की मिट्टी लग गयी| बाद ( later ) में जब वह मिट्टी को सूंघा गया तो , पता चला की वह बंदूक के गोली में इस्तेमाल किए जाने वाले बारूद की तरह महकती है|

वास्तव में हमारा अंतरिक्ष बहुत सारे अजूबों से भरी हुई है| अगर आपको भी इस तरीके के अजूबों के बारे में और अधिक जानना है तो , इस लेख को भी आप एक बार जरूर पढ़ें| विशेष अगर आप रसायन विज्ञान में रुचि रखते हैं , तो आप इस लेख को भी पढ्ना ना भूलें|

वैसे पृथ्वी के विपरीत चाँद पर कोई भी वायुमंडल न होने के कारण चाँद के मिट्टी को उड़ाने के लिए कोई भी हवा मौजूद नहीं है|

4. आप उबल सकते हैं चाँद के सतह पर

मैंने अभी-अभी ही ऊपर आपको बताया है की , चाँद पर किसी भी प्रकार का कोई वायुमंडल नहीं है| इसलिए ( therefore ) इस का सतह कभी भी अचानक बदल सकता है| वायुमंडल की अनूपस्थिती में चाँद का एक हिस्सा जब ठंड से जमी होती है , तो दूसरा हिस्सा सूर्य के प्रकाश से जल रहा होता है|

यहाँ में आपको बता दूँ की ,चाँद (Moon Facts In Hindi) की सतह का तापमान 123 c से ले कर -233 c तक हो सकता है| दिन में जहां इसकी तापमान 107 c होती हैं , तो वहाँ रात में यह घट कर -153 c तक पहुँच जाता है|

इसके बाद  चाँद में मौजूद वातावरण का दबाव इतना कम होता है , की आप के शरीर को यह काफी नुकसान पहुंचा सकता है|

5. चाँद मे मौजूद हो सकती है प्रयोगशाला (A laboratory On Moon)

LUNAR BASE
चाँद पर बन सकता हौ प्रयोग शाला Credit: NBC news

आपने कभी आनटार्कटीका के प्रयोग शालों के बारे में पढ़ा है| अगर पढ़ा होगा तो आपको पता होगा की यह प्रयोगशाला कितने प्रतिकूल वातावरण में मौजूद है| परंतु अगर आपने नहीं पढ़ा भी है तो कोई बात नहीं|

खैर NASA ने 2020 के अंत तक अपने वैज्ञानिकों को चाँद पर उतारने की पहले ( before ) से ही मन बना लिया है| NASA का यहाँ  पर कहना है की , अगर चाँद पर किसी भी प्रकार से एक प्रयोगशाला खोला जाए तो , हम इस के माध्यम से अंतरिक्ष में छुपी और भी रहस्यों को उजागर कर सकते हैं|

तो, मित्रों आपको क्या लगता है| बाद ( later ) में कभी हम चाँद पर प्रयोगशाला खोल पाएंगे?

6. चाँद पर भी हो सकता है जीवन (Life On Moon)

मैंने अपने ही एक पहले ( before ) के लेख में Terraforming के ऊपर विस्तृत बात किया है| इसलिए अगर आप इस के बारे में नहीं जानते तो उस लेख को एक बार जरूर पढ़ें| मैंने वहाँ किस तरीके से हम अन्य ग्रहों और उप-ग्रहों पर जीवन की शुरुआत कर सकते हैं , इस के ऊपर ( above ) आलोचना किया हैष

खैर, अब  मुख्य विषय पर आते हैं। आपको अब भारतीय होने पर बहुत ही गर्व होने वाला है| क्योंकि ( because ) इतिहास में पहली बार भारत ने अपने चंद्रयान-1 के मिसन के दौरान चाँद पर पानी की खोज कर लिया हैं|

में आपको यहाँ ( here ) और भी बता दूँ की , मिसन में चंद्रयान ने चाँद के ध्रुवीय क्षेत्र पर पानी की खोज किया है| वाकई में अगर आप एक सच्चे देश प्रेमी हैं तो , इस बात को सुनकर आपके दिल में अपने अपने देश के प्रति जरूर गर्व महसूस होगा|

7. चाँद पर बने गड्ढों का अपना ही है एक इतिहास (Moon craters Hindi)

history of lunar craters
क्या है इन गड्ढों का इतिहास  Credit:earthsky

बिना किसी वायुमंडल के चलते चाँद (Moon Facts In Hindi) में नियमित रूप से उल्का पिंड गिरने की वजह से काफी सारे गड्ढे बने हुए हैं| इसी कारण से हम हमेशा से ही चाँद के इन गड्ढों की मदद हम हमारे सूर्य-मंडल से जुड़ी बातों के जानने में लेते आ रहे हैं|

मित्रों! में यहाँ ( here ) और भी बता दूँ की , यह गड्ढे कोई आम गड्ढे नहीं हैं| यह , हमारे ब्रह्मांड की धरोहर हैं| इसलिए ( therefore ) हमें इन से इन का इतिहास जानना चाहिए| आज के समय में हमने 190 गड्ढों को पहचान लिया हैं| परंतु वैज्ञानिकों का कहना है की , इस प्रकार के और भी कई सारे ( millions ) गड्ढे चाँद पर मौजूद हैं|

निष्कर्ष – Conclusion :-

मित्रों! आज के इस लेख का अंतिम हिस्सा आ गया हैं| इसलिए मैं यहाँ पर आपसे कुछ आग्रह जरूर करना चाहूँगा। मित्रों , जैसे एक दिन कभी अच्छा रहता हैं तो , एक दिन कभी हमारे लिए  बुरा भी रहता है| बिल्कुल इसी प्रकार से चाँद को भी ग्रहण लगता हैं , तो कभी यह पूर्ण रूप में आकार आसमान का शोभा बढाता हैं|

परंतु दोस्तों , क्या हम चाँद की भांति कभी हमारे जीवन में हार न मानकर अपना कर्तव्य करते हैं? क्या कभी हम चाँद की तरह उदास न हो कर अपने रास्ते पर अटल रहते हैं| देखिए ऊपर  मैंने चाँद से जुड़ी कई रोचक बातों (Moon Facts In Hindi) का उल्लेख किया है। परंतु अगर हम किसी भी खगोलीय पिंड को तार्किक रूप से विश्लेषण करेंगे तो , तब हमें इन पिंडों का असली महत्व पता चलेगा।

इसलिए में भी आप से यह आशा करूंगा की , आप भी चाँद से कुछ शिक्षा प्राप्त करें और अपने जीवन को सही रूप से सार्थक करें| वैसे जाते-जाते और बिनती आपसे करना चाहूँगा की , अगर आपको इस तरीके विषय पर और भी लेख चाहिए अपना सुझाव जरूर रखें। क्योंकि इस से हमें बहुत प्रेरणा मिलती है|

धन्यवाद!!

Tags

Bineet Patel

मैं एक उत्साही लेखक हूँ, जिसे विज्ञान के सभी विषय पसंद है, पर मुझे जो खास पसंद है वो है अंतरिक्ष विज्ञान और भौतिक विज्ञान, इसके अलावा मुझे तथ्य और रहस्य उजागर करना भी पसंद है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close