Facts & Mystery

साइबेरिया की इन बातों पर आपको बिना पढे यकीन नहीं आएगा! – Wonderful Siberia Facts In Hindi

चाय को माना जाता हैं मुद्रा, बिल्ली को मिलता है Mayor का पद! - जाने इस तरह के अजीबो-गरीब साइबेरिया से जुड़ी कई तथ्य इस पोस्ट में।

मैंने देखा है की, लोगों के मन में हमेशा से ही वीरान और बीहड़ जगहों के बारे में जानने के लिए उत्सुकता रहता ही हैं। क्योंकि इंसानी फितरत ही कुछ ऐसी है की, जिस चीज़ के बारे में लोगों को नहीं पता उसी के बारे में ही हमें जानना बहुत ही पसंद हैं। मैंने इससे पहले भी बीहड़ अंटार्टिका के बारे में काफी कुछ आप लोगों को बताया हैं और आप लोगों ने भी उस लेख को बड़े उत्सुकता के साथ पढ़ा भी। खैर आज के इस लेख में हम लोग साइबेरिया (Wonderful Siberia Facts In Hindi) से जुड़ी बहुत ही चित्ताकर्षक बातों के बारे में जानेंगे।

साइबेरिया से जुड़ी अद्भुत बातें - Wonderful Siberia Facts In Hindi.
बैकाल झील | Credit: Russia Trek.

लेख में आगे बढ्ने से पहले मेँ आप लोगों को साइबेरिया (wonderful siberia facts in hindi) के बारे में कुछ मूलभूत तथ्य देता चलूँ। दरअसल साइबेरिया एक बहुत ही सुनसान और बर्फीली जगह है जो की रूस में मौजूद हैं। यह आमतौर पर रूस के पूर्वी क्षेत्र में आता हैं। रूस के पश्चिमी क्षेत्र के मुक़ाबले इस साइबेरिया का क्षेत्र बहुत ही अंजान हैं और लोगों को इस क्षेत्र के बारे में ज्यादा कुछ अभी भी नहीं पता हैं। आप लोगों ने इससे पहले भी कई बार किताबों तथा फिल्मों में इस जगह से जुड़ी कई कहानियाँ सुनी होगी, परंतु जिस तथ्यों के बारे में मेँ आज इस लेख में बताऊंगा उसे शायद ही आपने कभी पढे होंगे।

खैर अब चलिए लेख को आगे बढ़ाते हैं और साइबेरिया से जुड़ी गुप्त रहस्यों को उजागर करते हैं।

साइबेरिया से जुड़ी कई निराले बातें – Wonderful Siberia Facts In Hindi :-

लेख के इस भाग में मैंने साइबेरिया (wonderful siberia facts in hindi) से जुड़ी कई चित्तरंजक बातों को आप लोगों को बताया हैं; इस लिए सविनय अनुरोध है की, इसे आप जरा गौर से पढ़िएगा। क्योंकि यह तथ्य आप लोगों को बेहद ही पसंद आएगा।

1. रूस का एक-तिहाई हिस्सा साइबेरिया के क्षेत्र में ही आता हैं ! :-

जी हाँ! मित्रों आप लोगों ने अभी-अभी जिस शीर्षक को पढ़ा हैं, वह पूर्ण रूप से सत्य हैं। रूस का ज़्यादातर हिस्सा साइबेरिया के अंतर्गत ही हैं। लगभग 51 लाख वर्ग किमी में फैली यह जगह रूस के कुल क्षेत्रफल का एक-तिहाई हैं और पृथ्वी के भूभाग के कुल क्षेत्रफल का 10% भी हैं।

इतने बड़े क्षेत्रफल के साथ साइबेरिया एक बहुत बड़ी जगह तो हैं ही, पर इसके साथ ही साथ यह इंसानों की रहने के लिए पृथ्वी पर मौजूद सबसे खतरनाक जगहों में से भी एक हैं। यहाँ का जलवायु इंसानों के लिए बहुत ही भयानक हैं। माना जाता है की, यहाँ की आबादी बहुत ही कम जिसके बारे में आप लोगों ने कभी सोचा ही नहीं होगा। खैर इसके बारे में मेँ आगे आप लोगों को अवश्य ही बताऊंगा।

2. एक वर्ग मिल के अंदर रहते हैं सिर्फ 7 या 8 लोग ! :-

साइबेरिया में जलवायु इतनी खराब होती हैं की, आप शायद ही वहाँ कभी रहने का सोचे। ठंड इतनी ज्यादा खराब होती है की, हड्डियों को ही अंदर से जमा दे। खून तो शरीर में बर्फ ही बन जाए। खैर बता दूँ की, इतनी प्रतिकूल परिवेश के बावजूद वहाँ पर लोग रहते हैं परंतु बहुत ही कम मात्रा में।

बता दूँ की, प्रति एक वर्ग मिल के अंदर सिर्फ 7 या 8 लोग यहाँ रहते हैं। वैसे यहाँ पर गौरतलब बात यह है की, हमारे देश भारत में प्रति वर्ग मिल के अंदर 171.9 या लगभग 172 लोग रहते हैं। तो, भारत को आप दुनिया की सबसे अधिक जनसंख्या-घनत्व वाला देश भी मान सकते हैं। साइबेरिया की स्थिति ही कुछ ऐसी हैं की, वहाँ के जानवरों से लेकर इंसानों को अपने पूरे जीवन काल में बहुत ही ज्यादा संघर्ष करना पड़ेगा। जो की अपने-आप में ही एक बहुत ही अनोखी व दुर्लभ बात हैं।

3. सर्दी में यहाँ का तापमान होता हैं –70°C ! :-

क्या आप कभी मान सकते हैं की, पृथ्वी पर ऐसी भी एक जगह होगी जिसकी सर्दियों में तापमान –70°C हैं और वहाँ पर लोग स्थायी रूप से रहते भी होंगे। नहीं ना ! मैंने भी कभी नहीं सोचा होगा की, साइबेरिया (wonderful siberia facts in hindi) जैसे सर्द जगह पर कोई इंसान इतने प्रतिकूल वातावरण में जी भी पाएगा।

खैर पृथ्वी पर कुछ भी हो सकता हैं। साइबेरिया में जहां तापमान –70°C तक पहुँच जाता हैं; वहीं दूसरी तरफ हैरान कर देने वाली बात तो यह है की गर्मियों में वहाँ का तापमान 35°C तक पहुँच जाता हैं। वाकई में दोस्तों तापमान में इतना गहन अंतर शायद ही कहीं और होता होगा, क्योंकि यह जगह अपने इसी वातावरण के लिए ही तो बहुत प्रसिद्ध हैं।

4. सर्दियों में गिरती हैं विशालकाय स्नो फ्लैक (Snowflakes) :-

साइबेरिया के बारे में बातें हो रहीं हों और इसके सर्दियों के बारे में बात ही न हो, यह कभी हो नहीं सकता। दरअसल कहने का तात्पर्य यह हैं की, साइबेरिया की सर्दियों में एक बहुत ही खास बात हैं। तो, वह खास बात आखिर क्या हैं ? जानने के लिए इसी तरह लेख को आगे पढ़ते रहिए।

यहाँ पर सर्दियों के दौरान बहुत ही बड़े-बड़े तथा आकृति में विशालकाय Snowflakes गिरते हैं। अब आप यहाँ पूछेंगे, भैया अब इसमें कौन सी बड़ी बात हैं” ! तो, सुनिए मित्रों आमतौर पर Snowflakes आकार में बहुत ही छोटे-छोटे होते हैं (3 से 4 इंच तक) परंतु साइबेरिया में जो स्नो फ्लैक गिरते हैं उनका आकार लगभग 12 इंच तक होता हैं। जी हाँ! दोस्तों इतने विशाल स्नो फ़्लेक्स को वैज्ञानिक साल 1971 में ढूंढ कर निकाला था।

अधिक जानकारी के लिए बता दूँ की, इन बड़े-बड़े स्नो फ्लैक्स को लोग “Diamond Dust” भी कहते हैं। देखने में यह काफी पतली और नुकीली होती हैं। अत्यधिक कम तापमान में यह (snow flakes) आपस में घिस कर एक अजीब सी ध्वनि का उत्पन्न भी करते हैं, जो की सुनने में काफी अलग और विशेष होता हैं।

साइबेरिया से जुड़ी अद्भुत बातें - Wonderful Siberia Facts In Hindi.
खूबसूरत स्नो फ्लैक्स | Credit: Chemistry World.
5.साइबेरिया में लोगों को रहते हुए 1,25,000 साल हो चुके हैं ! :-

अब यह जो तथ्य हैं न, मित्रों इसको लेकर लेख आपको इंटरनेट पर पहले से पढ़ने को नहीं मिलेंगे। क्योंकि यह तथ्य बहुत ही अंजान हैं। इंसानों को साइबेरिया (wonderful siberia facts in hindi) में रहते हुए लगभग 1,25,000 साल हो चुके हैं। इसलिए आप इस जगह को इंसानों के रहने के लिए सबसे पहली जगहों में से एक जगह मान सकते हैं।

साल 2010 में वैज्ञानिकों को साइबेरिया के अंदर इंसानों के पूर्वज कहे जाने वाले Neanderthal लोगों की हड्डियाँ मिली। जो की इस बात का पुष्टीकरण कारण देता है की, वहाँ पर इंसानी सभ्यता कई सालों पहले से ही मौजूद हैं। वैसे आज यहाँ पर Nivkhi और Buryat जैसे स्थानीय निवासी रहते हैं।

खैर यहाँ पर Neanderthal से याद आया की, मैंने इन लोगों के ऊपर एक बहुत ही विशेष तथा सरल लेख आप ही लोगों के लिए लिखा हैं, जिसमें आप इनके रहन-सहन, खान पान और रीति-रिवाजों के बारे में जान पाएंगे। तो अगर आप इंसानी पूर्वजों के जीवन को लेकर रुचि रखते हैं तो, आपके लिए वह लेख बहुत ही अच्छा रहेगा।

6. दुनिया की सबसे गहरी झील साइबेरिया में मौजूद हैं ! :-

लेक बैकाल (Lake Baikal) के बारे में क्या आपने कभी सुना हैं ? अगर नहीं तो मेँ आप लोगों को बता दूँ की यह पृथ्वी की सबसे गहरी झील हैं जो की करीब-करीब 1.6 Km तक गहरी हैं। इसके अलावा एक रोचक बात यह भी है की, यह झील आयतन (Volume) के हिसाब से भी बहुत बड़ी हैं।

पृथ्वी पर मौजूद कुल फ्रेश-वॉटर का 20% हिस्सा इसी झील में मौजूद हैं। इस झील के चारों तरफ पर्वत मौजूद हैं और लगभग 330 नदियां इस झील में आ कर मिल जाती हैं। तो, आप अंदाजा लगा ही सकते हैं की इस झील में कितनी मात्रा में फ्रेश-वॉटर मौजूद होगा। हालांकि इसके बृहत आकार को लेकर कई बार लोग इसे “Baikal Sea” भी कहते हैं।

सर्दियों में अकसर यह झील पूर्णतः बर्फ में जम जाती हैं, जो की देखने में काफी खूबसूरत होता हैं। गर्मियों के समय इस झील में ऐसे भी तूफान उठते हैं जिससे इसके अंदर 14 फीट ऊंची लहर भी बन जाती हैं। कुल मिलाकर यह कहा जा सकता है की, यह झील पूरे दुनिया में सबसे ज्यादा अनोखी व शानदार हैं!

7. प्राकृतिक गैस और खनिजों का भंडार घर हैं “साइबेरिया” ! :-

प्रतिकूल परिवेश के लिए दुनिया भर में प्रसिद्ध साइबेरिया, बहुत सारे दुर्लभ खनिज और प्राकृतिक गैसों का भंडार घर हैं। जी हाँ! मित्रों रूस में खपत होने वाली लगभग 70% प्राकृतिक गैस और ईंधन साइबेरिया से ही आता हैं। यहाँ पर लोग ज़्यादातर साइबेरिया में रहने के लिए इच्छुक नहीं रहते हैं, इसी वजह से वहाँ पर प्राकृतिक संसाधनाओं का दोहन न के बराबर हैं और इसके कारण साइबेरिया में कई प्रकार के पेट्रोलियम के भंडार मौजूद हैं।

20 लाख वर्ग किमी क्षेत्रफल में फैली साइबेरिया की जमीन रूस को पेट्रो-केमिकल का बहुत ही बड़ा निर्यात करने वाला देश बनाता हैं। साइबेरिया के कारण रूस को विदेशों से कई बड़े-बड़े ऑर्डर पेट्रो-केमिकल आते हैं, जिससे इसका आर्थिक स्थिति संतुलित हो कर रहता हैं। साइबेरियन टेरिटोरी के कारण रूस को काफी ज्यादा सुविधाएं भी मिल रहीं हैं। इसे वीरान व बीहड़ मान कर इसके महत्वपूर्णता को नजरंदाज नहीं कर सकते हैं।

8. दुनिया की सबसे बड़ी रेल नेटवर्क साइबेरिया में मौजूद हैं ! :-

साइबेरिया (wonderful siberia facts in hindi) के बारे में बहुत सारी रोचक तथ्य हैं, जिसमें से इसका बृहत रेल-नेटवर्क एक प्रमुख उदाहरण हैं। Trans-Siberian Railway Network के नाम से पूरे दुनिया में लोकप्रियता हासिल करने वाला यह रेल का तंत्र सबसे लंबी रेल तंत्र हैं। इसकी लंबाई लगभग 9,288.2 km हैं और यह रूस के दो मुख्य नगरों को आपस में जोड़ता हैं।

यह रेल का तंत्र रूसी राजधानी Moscow को पूर्व में स्थित बंदरगाह नगरी Vladivostok के साथ जोड़ता हैं। अगर आप इस रेल तंत्र की यात्रा Moscow से Vladivostok तक करना चाहेंगे तो आपको रेलगाड़ी पर 7 दिवस और 6 रात बितानी पड़ेगी। इसके अलावा इस यात्रा के दौरान रेलगाड़ी हर एक स्टेशन पर लगभग 10 से 20 मिनट तक भी रुकता हैं। तो, क्या आप इस Trans-Siberian Railway Network की सफर करना पसंद करेंगे, क्या आप रेल गाड़ी में इतनी लंबी यात्रा करना चाहते हैं (अगर मौका मिला तो)? जरूर ही कॉमेंट कर के बताइएगा दोस्तों।

इसके साथ ही साथ बता दूँ की; इस लंबी यात्रा के दौरान आप लोगों को कई लुभावनी प्राकृतिक दृश्यों को देखने का मौका मिलेगा, जिनमें से आकर्षक बैकाल झील, हरी-भरी बिर्च और पाइन के जंगल और सुशोभित उरल के पर्वत प्रमुख हैं। इस यात्रा के दौरान आप रूस के11 में से 8 अलग-अलग टाइम जोन से होते हुए भी गुजरेंगे।

9. यह हैं दुनिया की सबसे सर्द सहर, औसतन तापमान में सर्दियों में –40°C ! :- 

हालांकि साइबेरिया (wonderful siberia facts in hindi) जैसे जगहों पर तापमान सर्दियों में -70°C  चला जाता हैं, वह जगह आमतौर पर वीरान होते हैं। वैसे मेँ यहां पर साइबेरिया में स्थित एक ऐसी सहर के बारे में बात करने जा रहा हूँ जो की दुनिया की सबसे सर्द सहर भी हैं।

यहां का औसतन सर्दियों में तापमान -40°C तक चला जाता हैं। वैसे इस सहर का नाम हैं, “Yakutsk”। यहां पर लोग स्थायी रूप से घर कर के रहते हैं और यहां पर औसतन तापमान (सर्दी में) -40°C तक होता हैं। हालांकि गर्मियों के दौरान यहां का तापमान थोड़ा गरम अवश्य ही रहता हैं।

वैसे आप लोगों ने क्या कभी इस सहर के बारे में कुछ सुना हैं? आपके हिसाब से लोग यहां लोग कैसे रहते होंगे !

Trans-Siberian Rail Network- Worlds Longest Railway.
ट्रांस-साइबेरियन रेल नेटवर्क | Credit: Trans-Siberian Rail.
10. साल 2007 में साइबेरिया में आया था नारंगी रंग का बर्फ़ीला तूफान (Orange Snow Storm) ! :-

दुनिया में हर किसी को पता हैं की, बर्फ का रंग सफ़ेद होता हैं। हालांकि यह बात पूर्णतः यह सत्य नहीं हैं, क्योंकि पानी की भांति ही बर्फ की रंग भी कई कारणों के वजह से बादल सकती हैं और ठीक इसी तरह साल 2007 में अचानक साइबेरिया में बर्फ का रंग बदल गया।

तो, बात यह है की 2007 में साइबेरिया में एक ऐसा बर्फ़ीला तूफान आया था जिसका रंग नारंगी था। जी हाँ! दोस्तों साल 2007 में रूस के पड़ोसी राष्ट्र “कजाखिस्थान” में एक बहुत बड़ा धूल का तूफान आया था, जिसके कारण वहाँ के धूल के कण साइबेरिया तक आ पहुंचे थे।

बाद में यह धूल के कण साइबेरिया के Snow से मिलकर एक नारंगी स्नो को इजात किया। इसे बनने वाला तूफान भी नारंगी रंग का होने लगा जो की “Orange Strom” से भी परिचित हैं। देखने में यह प्राकृतिक घटना बहुत ही अजीब और दुर्लभ प्रतीत हुआ होगा। प्रकृति ऐसे ही कई सारे अनोखी घटनाएं लोगों को अकसर ही दिखाती रहती हैं, जिससे इंसानों को अपनी स्थान का मालूम पड़ता रहता हैं।

11. 39,000 साल पुराने एक “Mammoth” का विशाल शरीर मिला साइबेरिया के अंदर !:-

अगर किसी को पता नहीं हैं तो, बता दूँ की Mammoth एक तरह का प्राचीन जानवर हैं जो की लगभग आज के हाथी की तरह ही दिखाई पड़ता था। हिम युग के दौरान इनकी अस्तित्व संकट में आ गया था और माना जाता है की इसी दौरान जलवायु में परिवर्तन के कारण यह लुप्त हो गए थे।

खैर हाल ही में साइबेरिया में लगभग 39,000 साल पुराने Mammoth का शरीर मिला हैं। वैसे यहां गौरतलब बात यह हैं की, इस का शरीर पूर्ण रूप से संरक्षित हो कर हैं। इसके शरीर में आपको किसी प्रकार की कोशिकाओं का खराब होना या अंगों में चोट दिखाई नहीं पड़ेगा जो की एक बहुत ही हैरान कर देने वाली बात हैं।

12.1939 तक साइबेरिया में चा को मुद्रा की तरह इस्तेमाल किया जाता था ! :-

क्या आप कभी विश्वास कर सकते हैं की, साइबेरिया (wonderful siberia facts in hindi) जैसे जगह पर चाय को मुद्रा की तरह इस्तेमाल किया जाता था और वह भी साल 1939 तक

यकीन नहीं आ रहा हैं न, मुझे भी बिलकुल यकीन नहीं हुआ था। परंतु बाद में पता चला की यह बात सत्य हैं। लोगों को इस ठंडी जगह पर गरम-गरम चाय का बहुत शौक था। इसलिए वह लोग चाय को काफी तवज्जो देते हैं। वहाँ उस समय जिन लोगों के पास चाय की भरमार होती थी, वह लोग वहाँ पर सबसे अधिक धनी थी।

वाकई में दोस्तों ! इस बात को सुनकर मेँ सोच रहा हूँ की, वहाँ पर उस समय पर एक चाय की पैकट का कीमत कितना रहा होगा (हालांकि मुद्रा की तरह इस्तेमाल होने एक बावजूद इसका कारोबार तो होता ही होगा) जिसे हम 50 से 60 रूपय में खरीद लेते हैं ! आपको इसके बारे में क्या लगता हैं कमेंट करके जरूर ही बताइएगा।

13. हिरोशिमा से 1,000 गुना ज्यादा बड़ा विस्फोट हुआ था साइबेरिया के अंदर :-

साल 1908 में Tunguska Event के नाम से जाने जाना वाला एक बहुत ही भयानक विस्फोट साइबेरिया के अंदर हुआ था। यह विस्फोट इतना विशाल था की, हिरोशिमा का परमाणु विस्फोट इसके सामने कुछ नहीं था।

हिरोशिमा के मुक़ाबले 1,000 गुना ज्यादा बड़े इस विस्फोट के कारण लगभग 8 करोड़ पौधे नष्ट हो गए थे। हालांकि सुदूर इलाके में विस्फोट होने के कारण सिर्फ 2 लोग ही इसमें मरे थे।

14. दुनिया का सबसे “Smartest Street” मौजूद हैं साइबेरिया में, सिर्फ 2.5 km लंबी सड़क पर मौजूद हैं 20 प्रसिद्ध वैज्ञानिक संस्थाएं !:-

1960 के दशक में कई सोवियत वैज्ञानिक साइबेरिया के क्षेत्र में आ कर बस गए थे। इसके कारण एक जगह ऐसी भी बनी जहां पर मात्र 2.5 km के सड़क के दोनों तरफ विश्व प्रसिद्ध 20 वैज्ञानिक संस्थाएं बन गईं।

बाद में इस सड़क को दुनिया की सबसे “Smartest Street” का खिताब मिला।

A mammoth Photo.
मेमथ की तस्वीर | Credit: History.com.
15.बर्फ के बीहड़ के बीचों-बीच मौजूद हैं एक रेतीला रेगिस्तान ! :-

जहां साइबेरिया आपने बर्फ के मोती चादरों के लिए दुनिया भर में विख्यात हैं, वहीं दूसरी तरफ साइबेरिया (wonderful siberia facts in hindi) के बीचों-बीच एक रेतीला टीला या रेगिस्तान वाली एक जगह भी मौजूद हैं।

16. साइबेरिया में एक बिल्ली को मिला मेयर” (Mayor) का पद :-

Barsik नाम के एक साइबेरियन बिल्ली को एक बार मेयर (Mayor) का पद मिला था। हालांकि बाद में बिल्ली को उसके पद से बरखास्त भी किया गया था।

Tags

Bineet Patel

मैं एक उत्साही लेखक हूँ, जिसे विज्ञान के सभी विषय पसंद है, पर मुझे जो खास पसंद है वो है अंतरिक्ष विज्ञान और भौतिक विज्ञान, इसके अलावा मुझे तथ्य और रहस्य उजागर करना भी पसंद है।

Related Articles

Back to top button
Close