Facts & Mystery

आखिर क्या हैं हमारे आदमखोर पूर्वजों का इतिहास ! – History Of Neanderthal People In Hindi

Neanderthal लोग कौन थे, क्या थी इनसे जुड़ी पहलियां?

कहते हैं की, इतिहास हमें अपने अतीत से जुड़ी घटनाओं से बहुत ही अच्छे तरीके से रूबरू करवाता है। जो की मेरे हिसाब से सही भी है। खैर वैसे तो हमने अपने स्कूली किताबों में कई राजा-महाराजा और उनके विशाल साम्राज्यों के बारे में काफी कुछ पढ़ा हैं, परंतु कभी भी हमारे पूर्वजों के बारे में नहीं पढ़ा हैं। हालांकि कई-कई जगह इसके संदर्भ में कई संक्षिप्त लेख मिलते हैं परंतु वह हमारे पूर्वजों के बारे में (neanderthal people in hindi) जानने के लिए पर्याप्त नहीं हैं। कई हजारों सालों पहले पृथ्वी पर आए हमारे पूर्वजों के बारे में हमें निश्चित रूप से ही जानना चाहिए।

Comparison between human and Neanderthal skull.
Neanderthal लोगों की खोपड़ी और इंसान के खोपड़ी के बीच तुलना। New Scientist.

तो, इसी वजह से आज मेँ आप लोगों को हमारे निकट पूर्वज Neanderthal (Neanderthal People In Hindi) लोगों के बारे में बहुत कुछ बातें बताऊंगा। उदाहरण के तौर पर, यह लोग कौन थे और इनका हम लोगों से क्या संबंध हैं इस विषय पर भी हम लोग गहन चर्चा करेंगे। वैसे Neanderthal लोगों के बारे में कहने के लिए तो बहुत कुछ बातें हैं, परंतु मेँ यहाँ पर कुछ बहुत ही विशेष बातों के बारे में चर्चा करूंगा; इसलिए लेख को बहुत ही ध्यान से पढ़िएगा क्योंकि यह लेख बहुत ही रोचक होने वाला हैं।

Neanderthal लोगों का इतिहास – History Of Neanderthal People In Hindi :-

सरल भाषा में कहूँ तो, Neanderthal (Neanderthal people in hindi) लोगों का इतिहास इंसानी सभ्यता के विकास के साथ ही जुड़ा हुआ हैं। वैज्ञानिक कहते हैं की, Neanderthal लोग देखने में हम इंसानों के भांति ही दिखाई पड़ते थे और इनका बाइयोलोजिकल नाम Homo neanderthalensis हैं। वैसे मेँ आपको और भी बता दूँ की, भले ही देखने में यह लोग हमारे जैसे ही लगते हों परंतु इन लोगों का प्रजाति अलग था।

वैसे वैज्ञानिक और भी कहते हैं की, यह लोग हमारे सबसे करीबी पूर्वज हैं। इसके अलावा कई शोध के बाद यह पता चला है की, करीब-करीब 6,50,000 साल पहले इन लोगों के D.N.A में बदलाव आ कर हमारा D.N.A बना था। इसलिए इन लोगों से हमारा आकृति बहुत ही ज्यादा मेल खाता हैं।

इसके अलावा गौरतलब बात यह भी हैं की; इतने सारे सबूतों के बावजूद आज भी वैज्ञानिक इस दुविधा में फंसे हुए हैं की, आखिर कौन सी प्रजाति इंसानों का पूर्वज हैं। क्योंकि दोस्तों Neanderthal लोगों के प्रजाति में कई अलग-अलग और छोटे-छोटे उप-प्रजातियाँ भी शामिल थीं। तो, ऐसे में आज भी यह कह पाना मुश्किल है की; आखिर कौन सी उप-प्रजाति इंसानों का सटीक पूर्वज हैं। इसके ऊपर अभी भी कई सारे शोध चल रहें हैं।

पृथ्वी पर इतने साल पहले आए थे Neanderthal लोग ! :-

Neanderthal लोगों का विकास काफी लंबे समय तक चला, क्योंकि यह एक विकसित प्रजाति के तौर पर पृथ्वी पार आई थी। वैसे इन लोगों के जीवाश्मों से पता चला हैं की करीब-करीब 4,30,000 से लेकर 6,50,000 साल तक इनका पहला पीढ़ी इस पृथ्वी पर आया था। वैसे मेँ आपको और भी बता दूँ की, उस समय यह पीढ़ी अपने प्रारंभिक अवस्था में था।

कुछ वैज्ञानिक यह भी कहते हैं की, 1,30,000 साल से 40,000 साल के पहले इन लोगों का सबसे विकसित पीढ़ी इस धरती पर वजूद में आया था और इनके आज भी कई सारे सटीक सबूत मिलते भी हैं।

Neanderthal लोग कहा रहते थे ? :-

अब लोगों के मन में यह सवाल जरूर ही आ रहा होगा की, आखिर इतने साल पहले आए यह लोग पृथ्वी के किस जगह पर रहते थे? तो, दोस्तों सुनिए यह प्रजाति मूल रूप से यूरोप का हैं। आज भी वैज्ञानिक कई यूरोपिय देशों के अंदर इनका कंकाल और जीवाश्म पाते हैं।

वैसे अधिक जानकारी के लिए बता दूँ की, एसिया के कुछ-कुछ हिस्सों में भी इन लोगों का जीवाश्म पाया गया हैं जो की करीब-करीब 4,00,000 साल पुराने हैं। अगर आप इन लोगों के जीवाश्म के मिलने की जगहों के ऊपर गौर करें तो यह, पश्चिमी देश पर्तुगाल और वेल्स से लेकर पूर्वी रूस के साइबेरिया तक जाता हैं।

तो, ऐसे में कहा जा सकता हैं की यह लोग अपने समय के हिसाब से काफी ज्यादा विकसित रहे होंगे। वैसे यहाँ पर मेँ और एक बात पर आप लोगों का ध्यान केंद्रित करना चाहूँगा की, यह लोग एक निर्धारित जलवायु में रहने के आदि थे। कहा जाता हैं की, करीब-करीब 60,000 साल पहले यह लोग साइबेरिया और इंग्लैंड जैसे सर्द इलाकों में रहते थे। परंतु इसके विपरीत लगभग 1,20,000 पहले यह लोग इटली और पर्तुगाल जैसे गर्म जगहों पर रहना पसंद करते थे।

How neanderthal people live.
Neanderthal लोग । Credit: ZME Science.

इसलिए वैज्ञानिक आज भी इस संशय में हैं की, क्या सच में जलवायु में परिवर्तन ही इन लोगों को एक से दूसरे जगह पर जाने के लिए मजबूर कर दिया होगा या इसके पीछे अन्य कोई वजह होगी ! खैर इसके ऊपर कुछ जीव-विज्ञानी कहते हैं की, क्रमागत विकास के दौर में पृथ्वी के जलवायु में भी कई उतार-चढ़ाव आए। जिससे इन लोगों का एक से दूसरे जगह पर जाना स्वाभाविक हो गया।

क्या वाकई में Neanderthal लोग देखने में इंसानों जैसे थे! :-

अगर हम बारीकी से Neanderthal (neanderthal people in hindi) लोगों के जीवाश्मों को देखें तो, हमें पता चलेगा की आज के इंसानों के मुक़ाबले उनके जीवाश्म में कई छोटे-छोटे असमानता मौजूद हैं। Neanderthal लोगों का खोपड़ी लंबा होता था और इनके भौंहें इंसानों के मुक़ाबले ज्यादा बड़े थे।

इसके अलावा इनका मुख भी हम लोगों से काफी ज्यादा अलग था। इनके मुख का केंद्र का हिस्सा बाहर के तरफ निकला हुआ रहता था और इनका नाक मुख के हिसाब से बहुत ही ज्यादा बड़ा था। उनके दांत आज के इंसानों के दांत के मुक़ाबले काफ़ी लंबे और तेज थे। Neanderthal लोगों के पास आज के इंसानों के भांति कोई ठुड्डी नहीं था।

अगर हम Neanderthal लोगों के शरीर की बात करें तो, इनका शरीर काफी  शक्तिशाली मांसपेशियों से भरा हुआ था। ऊंचाई के हिसाब से यह 1.5 मीटर से लेकर 1.75 मीटर तक होते थे। इसके अलावा इन लोगों का वजन करीब-करीब 64 kg से लेकर 82 kg तक होता था। वैसे इसके अलावा इनका कमर आज के हिसाब से काफी ज्यादा चौड़ा होता था।

इनका शरीर वैसे देखा जाए तो, कद में छोटा था और इनके अवयव (Limbs) काफी बड़े। खैर इसके संदर्भ वैज्ञानिक कहते हैं की, शरीर की ऐसी संरचना के वजह से सर्द इलाकों में शरीर की औसतन आंतरिक तापमान संतुलित हो कर रहता था; जिससे वह लोग आसानी से जीवित रह पाते थे।

क्या Neanderthal लोग आदमखोर थे ? :-

अकसर Neanderthal लोगों के खान-पान को लेकर वैज्ञानिक काफी ज्यादा उत्सुक रहते हुए देखा गया हैं। क्योंकि कहा जाता हैं की, Neanderthal लोग आदमखोर थे। जी हाँ! कई जीवाश्मों से यह पता चला है की, यह लोग काफी ज्यादा मांस खाते थे। हिम काल में जब पेड-पौधे नहीं थे,तो यह लोग बड़े-बड़े जीवों को मार कर खाते थे।

इसके अलावा मेँ आपको और भी बता दूँ की, यह लोग समय-समय पर खाने की कमी के कारण अपने ही कबीले के लोगों को भी खा जाते थे। वैज्ञानिकों को यह भी पता चला है की, इन लोगों के जीवाश्मों के अंदर कुछ मात्रा में पेड़-पौधों की भी मौजूदगी मिली हैं। खैर कुछ वैज्ञानिक यह भी कहते हैं की, यह लोग समय-समय पर “Fungi” भी खाते थे।

कई जगहों पर इन लोगों के जीवाश्म में आसपास समुद्री जीवों का भी जीवाश्म मिला हैं, जिससे यह प्रतीत होता है की यह लोग समुद्री जानवरों को भी खाते थे। वैसे और एक बात ध्यान देने वाली हैं की, इन लोगों का अंदरूनी स्वर पेटी का संरचना करीब-करीब इंसानों के भांति हैं। तो अनुमान लगाया जा सकता हैं की यह लोग भी हमारे तरह बातचीत करते होंगे। खैर इस बात की पुष्टि अभी तक नहीं हो पाई हैं।

वैसे दोस्तों! मेँ यहाँ पर आप लोगों से यह पूछना चाहता हूँ की, क्या आपको लगता हैं की Neanderthal लोग कभी हमारे तरह ही बोलते होंगे? क्या उनको भी हमारी तरह भाषाओं की समझ होगी?

Source:- www.nhm.ac.uk.

Bineet Patel

मैं एक उत्साही लेखक हूँ, जिसे विज्ञान के सभी विषय पसंद है, पर मुझे जो खास पसंद है वो है अंतरिक्ष विज्ञान और भौतिक विज्ञान, इसके अलावा मुझे तथ्य और रहस्य उजागर करना भी पसंद है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button