Health

DNA Full Form और DNA के बारे में रोचक बातें – DNA Full Form In Hindi

क्या आपको अपने शरीर में मौजूद इस रहस्यमई DNA के बारे में पूरी जानकारी है?

नमस्कार मित्रों! कैसे आप सब? आशा करता हूँ की भगवान के कृपा से आप सभी अच्छे ही होंगे| मित्रों! आज के इस लेख में मैने DNA Full Form के बारे में जिक्र करने का सोचा है। इसलिए ( for this reason ) आप सभी को आज DNA Full Form तथा डीएनए (DNA in Hindi) के बारे में रोचक बातों को जानने का मौका इस लेख में मिलेगा| अगर में आपको बताऊँ तो DNA का हर एक पहलू हमारे जीवन की बहने वाली नदी के लिए बहुत ही जरूरी है। उदाहरण के लिए  हम आपके गुण-सूत्र (Genome) को ही ले लेते हैं। आपके शरीर का हर एक गुण आपके गुण-सूत्र से ही तो जुड़ा है। वंशानुक्रम हो या परिवार से संबन्धित कोई भी विषय , हर एक जगह DNA (DNA in Hindi) की भूमिका बहुत ही  जरूरी है।

डीएनए  (DNA) की बात ही अलग है – DNA Introduction In Hindi

अभी तक DNA के जैसा कोई और दूसरे जैविक कणिका की खोज नहीं हुई है जो इसके जैसा अद्भुत हो। वैसे तो हमारा शरीर कई सारे जैविक कणीकायों और जीव-सारों से बना हुआ है , परंतु  DNA (DNA in Hindi) की बात ही कुछ अलग है।

हालाँकि DNA के अलावा भी और भी कई सारे महत्वपूर्ण चीज़ें आपके शरीर को सही तरीके से चलाने के लिए जिम्मेदार हैं| परंतु फिर भी DNA (DNA in Hindi) की जगह और कोई चीज़ नहीं ले सकती है।

DNA Full Form के ऊपर में बाद में आऊँगा,  अभी में आपको डीएनए (DNA in Hindi) से जुड़ी कुछ मूल-भूत बातों को यहाँ आपके सामने रखने जा रहा हूँ। मित्रों! मैंने ऊपर ही कह रखा है की DNA हमारे जीवन के भावनायों की नदी का मूल स्रोत है।इसलिए यह मनुष्य के जीवन के हर एक कदम पर साथ-साथ चलता है| जीव विज्ञान में DNA एक अजूबा है।

DNA की खोज कैसे हुई? – How DNA was Discovered?

DNA Full Form और DNA के बारे में रोचक बातें| - DNA Full Form In Hindi.
Watson और Crick Credit: DNA learning

किसी भी चीज़ को तभी हम अच्छे से जान सकते हैं , जब हम उससे जुड़ी हर एक चीज़ को पहले अच्छे से जान लें| उन्हीं चीजों में उस की इतिहास भी जुड़ा होता है जो की जानना बहुत ही महत्वपूर्ण है| इसलिए मैंने यहाँ आपको डीएनए (DNA in Hindi) से जुड़ी थोड़ी इतिहास प्रकाश करने का इच्छा जताई है।

हमने किताबों में पढ़ा है की DNA को James Watson और Francis Krick ने 1953 के दशक में DNA की खोज की थी। परंतु आपको जान के हैरानी होगी की , वास्तव में DNA के विषय के ऊपर प्रकाश बहुत सालों पहले ही पड चुका था। DNA की सबसे पहले खोज 1800 शताब्दी में ही हो चुकी थी।

सन 1806 में सबसे से पहले DNA की खोज Johann Friedrich Miescher ने ही कर दी थी। उनके DNA की खोज का मूल कारण था White Blood Cells (WBC), वह WBC में वंशागत गुणों का तलाश कर रहे थे। इसी कारण से वह बाद में डीएनए (DNA in Hindi) की खोज करने में सक्षम हो पाए।

यहाँ पर एक और वैज्ञानिक ने DNA की खोज में अपना बड़ा योग-दान दिया था। Albrecht Kossel नाम के एक जर्मन वैज्ञानिक ने DNA के मुख्य 4 बेस की खोज सन 1881 में ही कर दी थी। इसी अभूतपूर्व कार्य के लिए उनको 1910 में नोवल पुरस्कार भी मिला था।

DNA की खोज में मेंडेल की भूमिका :-

हालाँकि! DNA की खोज में अन्य वैज्ञानिकों का भूमिका काफी ज्यादा रहा है| परंतु मेंडेल न होते तो शायद आज हम डीएनए (DNA in Hindi) तो क्या वंशागत विज्ञान के बारे में सोचते ही नहीं। 1900 के प्रारंभ में मेंडेल के ही वजह से वंशागत विज्ञान के ऊपर काफी ज्यादा शोध  होने लगा।

यही कारण था की Walter Flemming ने 19वीं शताब्दी के मध्य में Chromatin का खोज की थी। मित्रों! अगर आप नहीं जानते तो में आपको बता दूँ की Chromatin क्रोमोसोम से बनी हुई नेटवर्क को कहते हैं।

बाद में यही खोज डीएनए (DNA in Hindi) के खोज की मूल प्रेरणा बनी, आप जो आज DNA की तस्वीर अपनी किताब या किसी भी वेबसाइट पर देख रहे हैं , उसकी जो बनावटी ढंग है उसका भी खोज DNA के खोज से पहले ही हुई थी। परंतु इसके बारे में कोई भी विशेष विवरण हमें ज्यादा नहीं मिलता। क्योंकि DNA की संरचना को लेकर वैज्ञानिकों में कई सारे विवाद लगे रहते हैं।

यहाँ DNA Full Form के ऊपर आधारित इस लेख में बता दूँ की , DNA का जो मूल-भूत संरचना है , वह आज पूरे विश्व के वैज्ञानिकों के द्वारा मानी जाती है। हमारे शरीर में मौजूद DNA राइट-हेंडेड है , में इसके बारे में इस लेख आपको आगे जरूर बताऊंगा। इसलिए ( hence ) आपको चिंता करने की तनिक भी जरूरत नहीं है।

वैसे अगर आप प्राणी-विज्ञान में दिलचस्पी रखते हैं तो , आप मेरे द्वारा लिखी गयी लेखों को भी यहाँ पर आसानी से पढ़ सकते हैं| मैंने प्राणी-विज्ञान की साथ-साथ सूर्य , रसायन विज्ञान के बारे में भी अन्य कई लेख लिखें है| आप चाहें तो उसे भी देख सकते हैं|

DNA क्या है ? – What is DNA in Hindi ?

DNA Full Form के विषय में जानने से पहले हमें डीएनए (DNA in Hindi) को अच्छे से जानना होगा| इसलिए मैंने यहाँ (here) पर सिर्फ DNA के विषय में ही प्रकाश डाला है।

तो, मित्रों आसान भाषा में कहा जाए तो DNA एक प्रकार का जैविक कणिक है , जो की मनुष्य के गुणों को एक पीढ़ी से दूसरे पीढ़ी को स्थानांतरित करता ( transfer ) है। सिर्फ मनुष्य ही नहीं , परंतु ( but ) संसार में मौजूद ज़्यादातर जीवों में भी यह गुणों को एक पीढ़ी से दूसरे पीढ़ी तक पहुँचाने का कार्य करता है। प्रत्येक जीव की हर एक कोषिका में DNA मौजूद होता है। ज़्यादातर डीएनए (DNA in Hindi) को जीवों की कोषिका के नाभिक ( nucleus ) में पाया जाता है। हालाँकि इसके अतिरिक्त Mitochondria  में भी DNA को देखा जा सकता है। परंतु वहां (but) इनकी मात्रा बहुत कम होती है।

तो, मित्रों DNA Full Form के ऊपर आधारित इस लेख में आगे बढ़ते हुए चलिये जानते है DNA किसे कहते  है? (what is DNA In Hindi) ? इसलिए इंतजार और क्या करना! चलिये जानते है।

DNA का Full Form क्या है? – What is the Full Form of DNA in Hindi?

DNA का Full Form है Deoxy RiboNucleic Acid, जैसे की नाम से पता चल रहा है , यह एक जैविक अम्ल है जो की नाइट्रोजन क्षार से बनी हुई होती है।

DNA में मौजूद बेस 4 प्रकारों का होता है| पहला  है Adenine , दूसरा है Guanine , तीसरा है Cytosine और चौथा है Thymine. मित्रों! इनको हम सरल रूप से A , G , C और T अक्षरों से पहचानते है| हमारे शरीर में इस तरीके से (in the same way) बेस से बनी करीब 3 अरब अन्य बेस मौजूद है।

इन्हीं 4 बेस के फलस्वरूप (consequently) बनी 3 अरब बेस का 99.9% हिस्सा हर एक मनुष्य में समान ही होता है। यह बेस किसी भी जीव को बढ़ाने , पालने और जीवित रखनें में शरीर की बहुत मदद करते हैं। उदाहरण  के तौर पर जैसे एक देश का प्रधानमंत्री एक देश को संभालता है , ठीक इसी प्रकार से यह बेस एक जीव को संभालता है।

DNA (DNA in Hindi) के अंदर का विज्ञान ! :-

DNA Full Form और DNA के बारे में रोचक बातें| - DNA Full Form In Hindi.
DNA की संरचना Credit: Interest Compound

मैंने ऊपर  4 बेस का जिक्र किया है, यह 4 बेस DNA की संरचना में बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। यह 4 बेस आपस में ही बेजोड़ bond का निर्माण करके DNA को बनाते है। आगे DNA क्रोमोसम का भी निर्माण करते है।

तो, मुख्य रूप से A ( Adenine ) T ( Thymine ) के साथ और C ( Cytosine ) G ( Guanine ) के साथ bond की स्थापना करता है| Bond के साथ-साथ ( in addition ) यह बेस एक Phosphate और एक Pentose Sugar के साथ भी बंधा हुआ होता है| इसलिए ( for this reason ) नाइट्रोजन बेस , Phosphate और Pentose Sugar से बनी एक DNA को  Nucleotide कहते हैं| यहाँ ( here ) और एक बात पर गौर करने की जरूरत है और वह है Nucleoside | अगर हम phosphate ग्रुप को Nucleotide से निकाल देते हैं तो वह एक Nucleoside बन जाता है|

Nucleotide और Nucleoside के बीच में भी बहुत बार संशय में पड जाता है| इसलिए ( for this reason ) मैने इसके बारे में यहाँ ( here ) पर जिक्र कर दिया है|आमतौर पर दो Nucleotide अ-समांतराल ढंग से आपस में लिपट कर helix के आकार में DNA का गठन करते हैं|

तो, मित्रों अब DNA Full Form के ऊपर आधारित इस लेख में आगे बढ़ते हुए , चलिये जानते और कुछ बातें|

जीव-विज्ञान का अजूबा-DNA !

आपने सिनेमा और किस्से-कहानियों में बहरूपियों के बारे में तो जरूरी सुना ही होगा| बहुरूपिए दूसरे व्यक्ति  के रूप को बहुत ही कम समय में नकल कर सकते  है| ठीक इसी तरह ( likewise ) एक DNA भी अपने संरचना का नकल करते हुए एक दूसरे DNA को जन्म भी दे सकता है|

आपको जान के हैरानी होगा की ! DNA ही है जो की एक नए Organelle को जन्म दे सकता है| है ना! वाकई में एक अजूबा| DNA के नकल करने का यह प्रक्रिया Cell-division के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है| क्योंकि ( because ) इसके बिना एक cell-division हर हाल में अधूरा है|

मित्रों! जब भी एक DNA अपना नकल बनाता है , तो नकल से बनाया गया DNA 100% नकल किए गए असली डीएनए (DNA in Hindi) की तरह ही होती है ( ज़्यादातर ) | अगर यह 100% समान रूप से नकल नहीं हुआ तो आपके शरीर में यह खतरनाक Mutation को भी आरंभ कर सकता है।

DNA Full Form और इस की मूल संरचना – Structure of DNA In Hindi.

DNA Full Form के ऊपर आधारित इस लेख में अब बारी आती है , इसकी संरचना की, वैसे मित्रों मैंने ऊपर ( above ) इस के विषय में ज़्यादातर बातों को आपको बता ही दिया है। परंतु ( but ) कुछ बातों को आपको बताना अब भी बाकी है| तो, चलिए उन बातों को जानते हैं।

Nucleosides आपस में एक दूसरे के साथ मिल जुल कर एक 34 आमस्ट्रॉंग के लंबाई का DNA की गठन करते है| यह DNA बाद में ( later ) 10 हिस्सों में बंटा हुआ होता है| मुख्य रूप से DNA की संरचना में 4 नाइट्रोजन बेस का हाथ होता है| इन्हीं चार बेस में जहां A <->T के साथ दो हाइड्रोजन बॉन्ड के साथ बंधा हुआ होता है , वहीं दूसरी तरफ C <-> G के साथ तीन हाइड्रोजन बॉन्ड के साथ बंधा हुआ होता है।

मित्रों! A और G को Purine और C और T को Pyrimidine कहा जाता है| इस बात को आप ध्यान से अपने मन में बैठा लें क्योंकि ( because ) अगर आप जीव-विज्ञान के छात्र हैं तो आपको यह बहुत की काम देने वाली है|

वैसे यहाँ (here) अब बारी आती हैं Pentose Sugar की| मित्रों! DNA में मौजूद Pentose Sugar की| पाँच कार्बन से बनी यह शुगर नाइट्रोजन बेस से Glyosidic बॉन्ड में बंधे हुए होते हैं|  यह बॉन्ड DNA की स्थिरता में मुख्य भूमिका निभाता है| वैसे तो दोस्तों हाइड्रोजन बॉन्ड भी DNA को स्थिर बनाता है| परंतु ( but ) फिर भी (nevertheless) Glyosidic बॉन्ड की बात ही कुछ अलग है।

DNA के अंदर मौजूद बॉन्ड के बारे में :-

DNA का मूल संरचना|
DNA की अनोखी संरचना| Credit: Technology Networks

अब जब हमने Pentose sugar की बात ही कर ली है | तो चलिये थोड़ा अब Phosphodiester बॉन्ड के विषय में भी जान लेते हैं| यह बॉन्ड DNA में मौजूद Pentose Sugar और Phosphate compound के भीतर संपर्क कायम करने में मदद करता हैं| इसी बॉन्ड की वजह से हमारा DNA इतने काम कर सकता हैं|

इसके बाद ( next ) यह बॉन्ड हमारे DNA को एक नया पहलू प्रदान करता है| बिना इस नए पहलू के DNA Transcription और Translation जैसे गुरुत्व पूर्ण कार्यों को सफलता पूर्वक संपन नहीं कर सकता| हमारे 23 जोड़ों में DNA मौजूद हैं| परंतु ( but ) यहाँ ( here ) चौंकाने वाली बात यह है की , हमारे हर एक डीएनए (DNA in Hindi) की लंबाई इतनी होती है की इसे हमारे कोषीकायों में जगह मिल पाना बहुत कठिन है|

इसलिए ( for this reason ) प्रकृति ने एक गज़ब का उपाय निकाला है| DNA की Coiling के वजह से यह हमारे कोषीकायों में आसानी से बैठ जाता है| वाकई में! प्रकृति का कोई जवाब नहीं है| इसके अलावा ( besides this ) हमारे शरीर का डीएनए (DNA in Hindi) आसानी से किसी भी नए परिस्थिति या माहौल को ग्रहण करके उसी हिसाब से अपने अंदर बदलाव कर सकता है|

कई वैज्ञानिक DNA के इसी बदलाव करके की क्षमता को देखते हुए इसे हमारे शरीर का एक अनोखा organelle भी मानते हैं|

वैसे में यहाँ आपको बता दूँ की , Cell division में हमारे शरीर में मौजूद Allosome समान रूप से दो भागों में बंट कर नए – नए दो allosome युक्त कोषीकायों में परिवर्तित होता है|

DNA से जुड़ी कुछ रोचक बातें – Amazing DNA Fact’s In Hindi :-

वैसे DNA से जुड़ी और DNA Full Form के विषय में मैंने पहले ही बहुत सारे तथ्य आपको बता चुका हूँ| इसलिए ( therefore ) अब में आपको यहाँ ( here ) DNA से जुड़ी कुछ रोचक बातों को आपको बताने जा रहा हूँ|

1. DNA की गरिमा :-

मित्रों! आपको जान के हैरानी होगी की हमारे शरीर के हर एक जानकारी डीएनए (DNA in Hindi) में ही संगृहीत होता जिसकी मात्रा बहुत ज्यादा होता है| परंतु ( but ) DNA मात्र 4 बेस से ही बनी हुई होती है।

2. Virus से बना हुई है हमारी DNA :-

आपको जान करके झटका लगेगा! परंतु यही सच्चाई है| हमारे शरीर का 8% हिस्सा प्राचीन काल में मौजूद एक Virus से बनी हुई है। वाकई में जीव-विज्ञान के रोचक बातों का अंत हो ही नहीं सकता| इसलिए मैंने DNA Full Form को बताने के साथ-साथ इसके रोचक बातों को बताना जरूरी समझा।

3. केले से काफी समानता रखता हैं हमारा DNA :-

अगर आपको में एक समय के लिए कहूँ की हमारा DNA 98% Chimpanzee के DNA से मिलता है , तो शायद आप एक समय के लिए मान भी ले| परंतु ( but ) अगर में कहूँ की हमारे DNA का 50% हिस्सा केले के DNA से मिलता है तो क्या आप विश्वास करेंगे| इसके अलावा ( moreover ) हमारा DNA 40% से 50% गोबी के DNA से भी मेल खाता है| किसी भी नतीजे पर पहुँचने से पहले ( before ) इसके बारे में आप थोड़ा गहराई से जरूर सोचिएगा।

4. प्राकृतिक Pen-drive है हमारा DNA :-

DNA की Pendre
Pendrive है हमारा DNA Credit: Pintrest

आप सभी ने इससे पहले ( before ) कई बार Pen-drive के बारे में कुछ ना कुछ सुना होगा| एक Pen-drive ( likewise ) की भांति हमारा DNA हमारे शरीर की जानकारी को अपने अंदर संग्रह करने का कार्य करता है| 1 ग्राम DNA 700 Terabytes की जानकारी संग्रह कर सकता है| जी हाँ! 700 TB. तो, हिसाब लगा लीजिए की आपका शरीर कितने सारी Hard-Disk का दुकान संग्रह-स्थल है| अगर हम इस दुनिया की जान कारी को संग्रह करना चाहते हैं तो , आपको सिर्फ 2 ग्राम DNA की जरूरत पड़ेगी| वाह! है ना एक अजूबा|

5. हमने खो दिये हैं इतनि सारी महत्वपूर्ण चीज़ :-

हमारे क्रमागत उन्नति में हमने अब तक 510 से ज्यादा प्रकार के DNA codes को खो दिया है| सोचिए लुप्त हो चुके इतने Codes किस किस अंगों के होंगे| फिर भी ( still ) हमारा शरीर आज ( now ) कितना उन्नत है|

6.बड़ी अद्भूत है इसकी संरचना :-

अगर पूछा जाए की दुनिया का सबसे अजूबे से भरी हुई चीज़ का नाम बताओ? तो,शायद में DNA का ही नाम लेता| विशेष ( specifically ) रूप से DNA को इसकी संरचना बहुत ही खास बनाता है| एक आम इंसान की DNA 1.8 मिटर तक लंबी होती है| परंतु ( but ) क्या आपको पता है की ! हमारे कोषीकायों के अंदर सही तरीके से बैठने के लिए यह DNA आपस में ही सघन हो कर लिपट कर 0.09 माइक्रो मिटर की जगह में ही सीमित हो जाते हैं|

मानना पड़ेगा DNA के Full Form से ज्यादा इससे जुड़ी रोचक बात हैं| यकीन मानिए दोस्तों अगर आप अंतरिक्ष के बारे में भी इस तरीके के रोचक बातों को जानना चाहते हैं , आप यहाँ जान सकते हैं|

7. 10 अरब मिल लंबाई की DNA :-

अगर आपको में कहूँ की आपके शरीर के अंदर 10 अरब मील लंबी DNA मौजूद है तो क्या आप मुझ पर विश्वास करेंगे| शायद नहीं! परंतु ( but ) यह सच्चाई है| हमारे शरीर में मौजूद हर एक DNA को अगर एक सीध में एक-दूसरे के साथ जोड़ा जाए तो , इसकी कुल लंबाई 10 अरब मील  से भी ज्यादा होगा| इतनी लंबी DNA को पृथ्वी से ले कर प्लूटो तक और वहाँ से पृथ्वी तक आसानी से बिछाया जा सकता हैं|

8. अंतरिक्ष में भी मौजूद है DNA :-

मित्रों! आपने सही सुना| जीवन के संज्ञा को हकीकत में परिणत करने वाला DNA हमारे आकाशगंगा के केंद्र में भी मौजूद है| हाँलाकी ( although ) पृथ्वी पर मौजूद DNA की तरह यह नहीं है , परंतु ( but ) फिर भी ( still ) इसका यहाँ होना अंतरिक्ष में जीवन संबंधित जुड़ी कई सारे तथ्यों को समझने में हमारी मदद कर सकता है|

9. इंसान के शरीर के अंदर मौजूद है इतनी सारी जानकारी :-

हमारे DNA में मौजूद डेटा|
डेटा Credit: Supply chain asia

मैंने इस लेख के ऊपरी ( above ) में DNA को जानकारी का भंडार के रूप में दर्शाया है| क्यूंकी ( because ) DNA हमारे शरीर के हर एक जानकारी को संग्रह करके रखता है| अगर कोई व्यक्ति प्रति मिनट में 60 शब्द के हिसाब से 8 घंटे एक दिन में काम करेगा तो उसे इंसान की Genome को पूर्ण रूप से टाइप करने के लिए उसे लगभग 50 साल लग जाएंगे|

वास्तव में हमारे शरीर अजूबों से भरी हुई है|

10. इंसान का DNA इस किट के DNA से काफी ज्यादा मेल खाता है :-

मित्रों! इंसान की DNA सिर्फ केले या गोबी से ही नहीं बल्कि एक किट के डीएनए (DNA in Hindi) से भी काफी ज्यादा मेल खाता है। Mud Worm नाम का यह किट मनुष्य के DNA का सबसे करीबी रिसतेदार है| इसके अलावा ( also ) यह किसी भी Chordate से ज्यादा इंसान की DNA के संरचना से एक समान नजर आता है|

सच में! जीव-विज्ञान में काफी सारी रोचक बात छुपी हुई है।

11. DNA की असली अस्तित्व बहुत समय बाद आया :-

DNA Full Form के ऊपर आधारित इस लेख में अब बारी एक अनोखी बात की आती है| हालाँकि डीएनए (DNA in Hindi) के ऊपर खोज 1850 से शुरू हो चुका था | परंतु ( but ) क्या आप जानते हैं! 1943 तक वैज्ञानिक Protein को ही हमारे शरीर के गुणों के परिवाहक के हिसाब में ग्रहण करते थे।

इसलिए DNA की असली अस्तित्व में आने को उतना ज्यादा समय नहीं हुआ है जितना इस पर शोध करने को हुआ है।

12. DNA की half-life period इतनी होती है :-

आप सभी ने इससे पहले (before) half-life की बारे में अपने रसायन विज्ञान के कक्षा में जरूर पढ़ा ही होगा| वैसे तो मित्रों! Half-life रसायन विज्ञान से जुड़ी विषय है | परंतु ( but ) इस का जीव-विज्ञान से कुछ अलग ही रिश्ता है| जानना चाहते हैं , कैसे! तो चलिए जानते हैं।

मित्रों! हमारे शरीर में मौजूद DNA का half-life period 521 साल है| इसलिए अगर हम कोई भी जीव को क्लोनिंग के जरिए पुनः जीवित करना चाहते हैं तो उस जीव की सबसे ज्यादा उम्र 2 million साल या इससे कम होना जरूरी है।

13. Bone marrow ट्रांसप्लांट में DNA :-

मेंने बचपन में Bone marrow के ऊपर कई सारी लेख पढ़ा था| इसलिए ( for this reason ) मेंने सोचा की क्यूँ ना कुछ Bone Marrow के विषय में भी बात कर लिया जाए| अकसर देखा गया है की , Bone Marrow की जो ओपरेसन जो होता है वह काफी ज्यादा जटिल होता है| यहाँ ( here ) पर डीएनए (DNA in Hindi) से जुड़ी एक बात ज़्यादातर लोगों को संशय में दाल डेता है|

आम तौर पर Transplant के ओपरेसन में अंगों को ग्रहण करने वाले व्यक्ति के पाद अंगों को दान करने वाले व्यक्ति का Gene या यूं कहे तो DNA प्रवाहित हो कर आता है| परंतु ( but ) क्या आपको पता है की! Bone Marrow के ओपेरेसन में किसी भी प्रकार का DNA का परिवहन दिखाई नहीं देता हैं|

14. Immortal Drive :-

Internationalspace station
ISS Credit: Wired

अपने अंतरिक्ष में या यूं कहे की आसमान में कभी ना कभी ISS को तो देखा ही होगा| यहाँ ( here ) पर आपको जान के हैरानी होगा की , ISS पर Lance Armstrong , Stephen Colbert और Stephen Hawking जैसे वैज्ञानिकों और विशेष ( specifically ) लोगों का DNA संगृहीत कर के रखा गया है| इसे Immortal Drive भी ( too ) कहते हैं|

अगर पृथ्वी पर किसी भी प्रकार का विनाश हो जाता है , जिससे मनुष्य का नाश हो जाए तो | इसी Immortal Drive के मदद से पृथ्वी पर फिर से इंसानों को पैदा किया जा सकता है| वाह! विज्ञान का नजरिया कितना अलग है| आपको इसके बारे में क्या लगता है? क्या Immortal Drive वाकई में हमारे लिए कारगार सावित हो सकता है|

15. हमारी DNA इस दुनिया का नहीं है! :-

सुन कर झटका लगा ना! मुझे भी लगा था , जब मैंने यह बात सुना था| खैर मैंने पहले ( before ) ही DNA के संरचना को अच्छे तरीके से ऊपर ( above ) बताया है| इसलिए ( for this reason ) में समझता हुईं की आप इस विंदु को अच्छे से समझ लेंगे|

मित्रों! हमारे अंदर मौजूद DNA में Phosphate एक महत्वपूर्ण उपादान है| इसके बिना हमारा DNA बन ही नहीं सकता| ज़्यादातर DNA की स्थिरता में इसी Phosphate का ही हाथ होता है| यहाँ ( here ) आपको जान के हैरानी होगी की यह Phosphate इस दुनिया यानी इस पृथ्वी का है ही नहीं|

जी हाँ! मित्रों हमारे पृथ्वी पर मौजूद Phosphate एक उल्का पिंड में मौजूद Phosphorus से आया है| इसलिए ( hence ) हमारा DNA भी पूर्ण रूप से इस दुनिया का नहीं है| क्योंकि ( because ) Phosphorus इस दुनिया का है ही नहीं|

16. हमारे DNA में मौजूद है करोड़ों के बेस :-

मित्रों! मैंने पहले ( before ) ही बता दिया था की हमारा डीएनए (DNA in Hindi) एक अजूबों से भरी हुई जैविक चीज़ है| यह दिखने में जितना सरल दिखता है , वास्तव में यह इतना सरल नहीं है| इस के अंदर मौजूद 4 बेस अपने आप में प्रतिक्रिया कर के 30 करोड़ से भी ज्यादा नए-नए बेस का निर्माण करते हैं।

बाद में यह बेस हमारे शरीर के Metabolism में इस्तेमाल होने बाले सभी प्रकार के Enzyme और अन्य उपदानों को सही तरीके से नियंत्रित करने में शरीर की मदद करते हैं।

DNA का कार्य क्या है ? – What is the Function of DNA In Hindi?

मित्रों! DNA से जुड़ी हर एक रोचक बातों को मैंने यहाँ ( here ) पर आपको बता दिया| इसलिए ( hence )  DNA Full Form के आधारित इस लेख में अब आगे बढ़ने की बारी आती है| तो , चलिए आगे बढ़ते हैं|मित्रों! विशेष ( specifically ) से DNA के मुख्य 3 कार्य होते है|

Replication :-

यह एक नकल करने की प्रक्रिया है , जिसमें DNA अपना ही नकल कर के अपने जैसा एक दूसरे DNA का निर्माण करता है| इसी कारण से ( for this reason ) शरीर में chromosome की संख्या नियंत्रित हो कर रहती है| इसके साथ-साथ ( in addition to it ) Replication शरीर में Cell-division को भी प्रेरित करता है|

Transcription :-
DNA के अनादर होने वाला मुख्य प्रक्रिया
Transcription और Replication Credit: Microbiology info

DNA हमारे शरीर में Transcription भी करवाता है| क्योंकि ( because ) Transcription एक जटिल प्रक्रिया है | इसलिए ( therefore ) DNA इसे सरल तरीके से संपन करने में शरीर की बहुत मदद करता है| Transcription के जरिए DNA हमारे शरीर में मौजूद RNA का निर्माण करता है|

Genetic Information का परिवहन करना :-

DNA का मुख्य कार्य Genetics में ही है| मैंने पहले ( before ) ही आपको डीएनए (DNA in Hindi) से जुड़ी बहुत सारे बातों को आपके सामने रखा है , जिसमें मैंने Genetic information के परिवहन के बारे में भी जिक्र किया है| मित्रों! DNA का मूल कार्य हमारे शरीर में ठीक रूप से गुण-सूत्र ( gene ) के जरिए गुणों का संचार करना है|

बिना DNA के हमारा शरीर स्याही के बिना कलम की तरह हो जाएगा| डीएनए (DNA in Hindi) हमारे शरीर के लिए बहुत जरूरी है| मनुष्य के शरीर को बढ्ने में , विकसित होने में , ठीक रूप से काम करने में और प्रजनन के सक्षम बनाने के लिए DNA का एक बहुत ही गुरुत्व पूर्ण किरदार है| अगर में कहूँ की DNA हमारे क्रमागत विकास में मुख्य निव बन कर खड़ा रहा तो , यह गलत नहीं होगा|

वाकई में DNA हमारे जीवन को सँवारने में हमारा बहुत मदद किया है| मित्रों! अगर आप DNA से जुड़ी और भी बातों को जानना चाहते हैं तो आप मुझे comment पर जरूर बताएं|

निष्कर्ष :- Conclusion

मेरे आदरणीय पाठकों ! आज के इस DNA Full Form आधारित इस लेख में मैंने आपको डीएनए (DNA in Hindi) से जुड़ी कई बातों को आपके सामने बखान किया है| परंतु ( but ) इसमें अब भी ( still ) ऐसे कई सारे बातें है जो की आपको अभी बताना बाकी है|

मैंने अपनी पूरी कोशिश की है की , कैसे में आपको ज्यादा से ज्यादा जानकारी इस लेख के माध्यम से दे सकु| खैर यह तो वक़्त ही बताएगा की आपको यह लेख पसंद आया की नहीं| परंतु ( but ) मित्रों इतना याद जरूर रखें की यह लेख आपके बहुत काम आने वाला है| इसलिए ( for this reason ) में आपसे यह आग्रह करना चाहूँगा की आप इसे दूसरे लोगों तक भी पहुँचाए , क्योंकि ( because ) ज्ञान बांटने से ही बढ़ता है!

तो, मित्रों हर एक कहानी की तरह इस लेख का भी यहाँ ( here ) अंत करने का समय आया गया है| परंतु ( but ) जाने से पहले | आपके लिए एक छोटा सा काम| इस लेख में मैंने DNA के विषय में बहुत रोचक बातों को आपको बताया है| तो, में यह आपसे और भी आग्रह करना चाहूंगा की आपको इन रोचक बातों में सबसे ज्यादा कोसनी बात पसंद आया , जरूर बताएं|

धन्यवाद!!!

Tags

Bineet Patel

मैं एक उत्साही लेखक हूँ, जिसे विज्ञान के सभी विषय पसंद है, पर मुझे जो खास पसंद है वो है अंतरिक्ष विज्ञान और भौतिक विज्ञान, इसके अलावा मुझे तथ्य और रहस्य उजागर करना भी पसंद है।

Related Articles

Back to top button
Close