Universe

NASA बना रहा है खास स्पेससूट जिसमें मिलेगी अंतरिक्ष यात्रियों को टॉयलेट की सुविधा

अंतरिक्ष में जाने वाले यात्रियों के लिए टॅायलेट इत्यादि एक गंंभीर समस्या बन जाती है, घंटो स्पसे स्टेशन पर काम करने पर और फिर मूत्र त्यागने का कोई साधन ना होने पर अंतरिक्ष यात्रियों को कई शारीरिक परेशानियों का समाना करना पड़ता है।

पर अब NASA ने इसका एक उपाय खोज निकाला है और जल्द ही NASA एक खास तरह के स्पेससूट पर काम कर रहा है। ये ख़ास सूट ‘ओरियन क्रू सर्वाइवल सिस्टम्स सूट्स’ (OCSSS) कहलाता है. रिपोर्ट के अनुसार, अंतरिक्ष यात्री आपातकालीन स्थिति में 6 दिनों तक इस स्पेससूट को पहन कर रह सकते हैं. इसे ओरियन अंतरिक्षयान में सवार होने वाले यात्रियों के लिए बनाया जा रहा है।

बताया जा रहा है कि ये यान इंसानों को पृथ्वी की निचली कक्षा से ऊपर की ओर लेकर जाएगा।  हांलाकि, ओरियन यान में पहले से ही शौचालय की सुविधा मौजूद होगी, लेकिन फिर भी आपातकालीन स्थिति को मद्देनज़र रखते हुए, NASA इस तरह के सूट पर काम कर उसे सफ़ल बनाने की कोशिश कर रहा है।

  • Save

NASA द्वारा इस सूट को बनाने का मक़सद ये है कि अंतरिक्षयात्री मुश्किल हालातों में इस सूट की मदद से अपना गुजारा कर सकें. बता दें, मौजूदा समय में स्पेससूट्स में डायपर लगे होते हैं, लेकिन अंतरिक्षयात्री 10 दिन से अधिक समय तक उनका इस्तेमाल नहीं कर सकते. वहीं स्पेससूट उतारने के बाद वो यान में मौजूद टॉयलेट का यूज़ करते हैं।

रिपोर्ट के मुताबिक, वैज्ञानिक ओरियन यान में दबाव कम होने से जुड़ा एक प्रयोग कर रहे हैं. वहीं इस सूट को डिज़ाइन करने वाले NASA इंजीनियर Kirstyn Johnson ने Space.com को बताया कि सूट पहनकर लंबे समय तक गंदगी में रहना थोड़ा कठिन हो सकता है।

फिलहाल इस ख़ास सूट को लेकर कोई पर्याप्त विवरण नहीं है, लेकिन आशा है कि NASA इसे जल्द ही लॉन्च करेगा। देखने वाली बात यह भी होगी कि इस सूट की कीमत क्या होती है और क्या ये सूट पूराने सूट से ज्यादा आरामदायक और कम वजनी होगा या नहीं।

यह भी जानें – नासा ने पहली बार ली जुपिटर पर 350 साल से चल रहे तूफ़ान की अद्भुत तस्वीर

स्रोत – Dailymail 

Tags

Shivam Sharma

शिवम शर्मा विज्ञानम् के मुख्य लेखक हैं, इन्हें विज्ञान और शास्त्रो में बहुत रुचि है। इनका मुख्य योगदान अंतरिक्ष विज्ञान और भौतिक विज्ञान में है। साथ में यह तकनीक और गैजेट्स पर भी काम करते हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close
0 Shares
Copy link
Powered by Social Snap