Universe

25 लाख प्रकाश वर्ष दूर एंड्रोमेडा से ऐसी दिखती है हमारी पृथ्वी – Earth From Andromeda Galaxy

क्या हम किसी भी तरह से ऐंड्रोमेडा से अपनी आकाशगंगा के ग्रह पृथ्वी को देख सकते हैं?

ब्रह्मांड को निहारें तो आप उसमें अरबों तारों और आकाशगंगाओं को देख सकते हैं, खास दूरदृष्टि यंत्र जैसे की जेम्स वेब टेलीस्कोप और अन्य टेलिस्कोप जो रेडियो तरंगो पर काम करते हैं, उनकी मदद से आप ब्रह्मांड को आप इस तरह से देख सकते हैं जैसे कोई अति विसकिसत सभ्यता किसी दूसरे ग्रह से पृथ्वी को देख रही हो। इसी कड़ी में आज मैं आपको एक ऐसे आयाम की ओर लेकर जाऊँगा जहां आप पहली बार अपनी पड़ोसी आकाशगंगा जिसे एंड्रोमेडा गैलेक्सी (Earth From Andromeda Galaxy) भी कहते हैं उससे अपनी मिल्की वे आकाशगंगा और पृथ्वी कैसी दिखाई देती है इस दृश्य की कल्पना करेंगे और देखेंगे कि क्या 25 लाख प्रकाश वर्ष (Light Year) दूर किसी दूसरी आकाशगंगा से पृथ्वी को देखा और समझा जा सकता है? क्या ये संभव भी है? आइये जानते हैं इस लेख में।

लोकल ग्रूप (Local Group) का हिस्सा है हम

सबसे पहले बात करतें है कि ऐंड्रोमेडा आकाशगंगा (Andromeda Galaxy) से हमारी मिल्की वे (Milky Way) कैसी दिखाई देगी। आप अब ऐंड्रोमेडा गैलेक्सी में किसी ग्रह पर रहते हैं और टेलिस्कोप से ब्रह्मांड को निहारते हैं तो आपकों कई गैलेक्सी देखने को मिलती हैं। सबसे पहले आप आकाशगंगाओं के एक ग्रूप जिसे लोकल ग्रूप (Local Group) कहते हैं उसकी 54 आकाशगंगाओं को देखोगे जिसका हिस्सा एंड्रोमेडा गैलेक्सी भी है।

Local Group (पड़ोस की 54 आकाशगंगाओं का समुह) (Earth From Andromeda Galaxy)
Local Group (पड़ोस की 54 आकाशगंगाओं का समुह)

25 लाख प्रकाश वर्ष (Light Year) दूर से हमारी आकाशगंगा !

इसी ग्रूप में आपको दूसरी सबसे बड़ी गैलेक्सी मिल्की वे (Earth From Andromeda Galaxy) भी दिखाई देगी जो कि एक स्पाइरल शेप (Spiral shape) में होगी, इस गैलेक्सी का आकार ऐंड्रोमेडा से छोटा है और ये वहां से 25 लाख प्रकाश वर्ष दूर है। अब मिल्की वे गैलेक्सी में पृथ्वी से जब ऐंड्रोमेडा को देखा जाता है तो वो आसमान में एक चमकीले पिंड की तरह दिखाई देती है। अगर कोई साधारण टेलिस्कोप से देखे तो उसे पृथ्वी से एंड्रोमेडा चंद्रमा के बाद दूसरा सबसे बड़ा स्टक्रचर दिखाई देगा।

पर एंड्रोमेडा से आप जब मिल्की वे गैलेक्सी को देखेगें तो वो भी कुछ एंड्रोमेडा जैसी ही दिखाई देगी हालांकि इसका आकार एंड्रोमेडा से आधा है इसलिए एंड्रोमेडा पर आप किसी ग्रह से जब इसे देखेंगे तो आपको साधारण टेलिस्कोप के बजाये किसी खास टेलिस्कोप की जरूरत पड़ेगी तभी आप मिल्की वे आकाशगंगा को देख सकोगे।

300 अरब तारों वाली आकाशगंगा के सबसे पहले दर्शन होंगे

आकार में स्पाइरल (Spiral) मिल्की वे गैलेक्सी के साथ-साथ आप दो और सैटलाइट गैलेक्सी को दिखाई देंगी जो कि परिक्रमा कर रही हैं और लगातार मिल्की वे में टकराकर उसका ही हिस्सा बनने वाली हैं। इन दो सैटलाइट गैलेक्सी के बाद आप टेलिस्कोप से मिल्की वे के सेंटर ब्लैक होल और 300 अरब तारों को निहारोगे।

milky way galaxy from andromeda and Earth From Andromeda Galaxy
एंड्रोमेडा आकाशगंगा से हमारी आकाशगंगा ऐसी दिखाई देगी। एक कंप्युटर चित्र

फिर इन्हें देखने के बाद आपका दूसरा लक्ष्य होगा कि इस गैलेक्सी में अब उन ग्रहो को खोजा जाये जो की उसके स्टार के हैवीटेवल जोने में आते हों ताकि उनमें जीवन की कोई पोसिविलीटी देखी जा सके। अब किसी दूसरी गैलेक्सी के किसी प्लैनेट पर जीवन को खोजने के लिए आपको तकनीकी तौर पर बेहतर होना पड़ेगा, आपकी सभ्यता को बहुत एंडवास स्टेज में होना पड़ेगा तभी आप मिल्की वे गैलेक्सी के ग्रहों को एंड्रोमेडा से देख पाओगे। किसी भी गैलेक्सी में रहने वाली सभ्यता तीन वर्गो में बांटी जाती है जो कि उर्जा की जरूरत पर निर्भर होती हैं।

अगर आप एंड्रोमेडा गैलेक्सी पर रहते हैं और केवल अपने ग्रहो की ही उर्जा को ही पूरा प्रयोग करके सौर-मंडल के दूसरे ग्रहों पर अपने प्रोब्स भेजते हैं तो आपके लिए मिक्वी वे गैलेक्सी पर प्लैनेट्स को खोजना बहुत बहुत ही ज्ययादा मुश्किल है और कहें तो असंभव है।

अत्य आधुनिक सभ्यता होने पर आप क्या-क्या देखे सकेंगे?

आप इस स्जेट पर केवल अपनी ही गैलेक्सी के स्टार्स और विशालकाय नीहारिका (Nebula) को टेलिस्कोप की मदद से ऑब्जर्व कर सकते हैं। ना ही आपके पास उतनी उर्जा है कि आप सुपर एडवांस स्पेसशिप बना सकें जिसकी मदद से आप अपनी गैलेक्सी के ही दूसरे तारों पर जा सकें। एक गैलेक्सी में तारे जो कि बहुत पास दिखाई देते हैं असल में इतने दूर हैं कि टाइप 1 सभ्यता को एक तारे से दूसरे तारे पर जाने में ही लाखों साल लग सकते हैं। 1 प्रकाश वर्ष यानि 10 खरब किलोमीटर दूर कोई अंतरिक्ष मिशन करना भी इस स्टेज पर मुश्किल है। तो अगर आप कुल मिलाकर एंड्रोमेडा (Earth From Andromeda Galaxy)  पर रहते हैं और टाइप 1 सभ्यता हैं तो आप केवल मिल्की वे गैलेक्सी को टेलिस्कोप से ही ओबजर्ब कर सकते हैं।

आप ज्यादा से ज्यादा मिल्की वे आकाशगंगा पर मिलने वाले नेब्युला और Globular cluster यानि तारों के वो झुँड जो कि कई प्रकाश वर्ष में फैले हैं उन्हें ही ओजर्ब कर पाओगे। इस चरण पर अपनी ऐंड्रोमेडा गैलेक्सी के ही बाहर नहीं जा सकते हो और ना ही शायद किसी दूर के ग्रह के जीवन खोज सकते हो। तो 25 लाख प्रकाश वर्ष दूर मिल्की वे गैलेक्सी पर जीवन की खोज कर पाना आपके लिए असंभव ही है।

Modern Civilization In Dyson Sphere.
डाइसन स्फियर (एक कृत्रिम मशीन जिससे सूर्य की पूरी उर्जा संगठित की जा सकती है) के अंदर टाइप 2 सभ्यता। | Credit: Xbox Play Games

पर जैसे की ब्रह्मांड का नियम है कि हर वस्तु समय के साथ विकसित होती है तो मानव सभ्यता या एलियन सभ्यता भी लगातार विकसित होती रहेगी और वैज्ञानिकों की मानें तो जिस गति से हम चल रहे हैं तो आने वाले 10 हजार वर्षो में हम टाइप 2 सभ्यता बन जायेंगे जिससे हम पूरे स्टार यानि अपने तारे की उर्जा का प्रयोग कर पायेंगे। ये ऐनेर्जी बहुत ही ज्यादा होगी जिसके कारण हम ऐसे स्पेसशिप बना सकेंगे जो लाइट की स्पीड के 20 परसेंट स्पीड तक भी जा सकेंगे।

तो ऐसे में अगर आप एंड्रोमेडा गैलेक्सी (Earth From Andromeda Galaxy) में रहते हैं तो अब आप इस चरण पर आ चुके हैं कि आप अपनी गैलेक्सी में कई ग्रहों पर कोलोनाइजेशन (लोगों को बसा सकते हैं) कर सकते हैं। आप अपनी गैलेक्सी में जीवन को भी खोज सकते हैं पर अगर आप ऐंड्रोमेडा से मिल्की वे गैलेक्सी के ग्रह देखने की कोशिश करोगे तो ये भी बहुत मुश्किल काम होगा।

पृथ्वी और किसी भी ग्रह को खोजना है बहुत मुश्किल

असल में ग्रह किसी गैलेक्सी के छोटे पिंड (Object) होते हैं जिनमें अपनी कोई लाइट नहीं होती है तो ऐसे में उन्हें निरीक्षण करना बहुत मुश्किल होता है तो आप ऐंड्रोमेडा गैलेक्सी में बैठकर अभी भी मिल्की वे गैलेक्सी के प्लैनेट्स को सही से नहीं खोज पाओगे। इसके लिए आपको स्पेस प्रोब्स (Space Probes) भेजने पड़गे पर एंड्रोमेडा से मिल्की वे गैलेक्सी की जो दूरी है उसके हिसाब से इन प्रोब्स को वहां जानें में ही 1 करोड़ साल लगेंगे। तो आप अपने जीवन काल में इस गैलेक्सी को शायद ही स्पेस प्रोब्स के जरिए देख पाओ।

space colonization
अंतरिक्ष में मानव वस्ती बनाने की एक संकल्पना  क्रेडिट –  LUNAR HABITATION / Foster + Partners . Image Cortesía de Foster & Partners

पर इस स्जेट पर टेलिस्कोप आपके लिए बहुत काम आ सकता है, आप संसाधन और उर्जा के जरिए एक विशालकाय टेलिस्कोप बनाकर गैलेक्सी को और ज्यादा क्लियर देख पायेंगे। टेलिस्कोप जितना विशाल होगा उतनी ही दूर तक वह देख सकता है और धुंधले से धुंधले ग्रह को भी कैप्चर कर सकता है।

तो टाइप 2 सभ्यता के लिए आप टेलिस्कोप के जरिए अच्छे से ऑब्जर्वेशन कर सकते हैं। वहीं इसी स्टेज पर आपकी सभ्यता इतनी विकसित (Advance) है कि आप अब अंतरिक्ष औपनिवेशीकरण (Space colonization) को और आगे बढ़ा सकते हैं। एंड्रोमेडा पर आपकी सभ्यता अब हर तारे पर स्बेस प्रोब्स और लोगों को भेजकर उन पर लोगों को बसा सकती है।

टाइप 3 सभ्यता होने पर पूरी आकाशगंगा पर होगा आपका राज!

अगर आप इसी तरह के स्पेस मिशन करते रहे तो पूरी गैलेक्सी पर आपके ही लोगों का कब्जा हो जायेगा, 20 लाख सालों में आप हर तारे और उसके ग्रह पर जा चुके होगें और गैलेक्सी के कई ग्रहों पर कब्जा कर चुके होंगे। इस समय अब आप इतने एडवांस हो गये होंगे कि आप टाइप 3 सभ्यता बन चुके हैं। अब आपके पास पूरी गैलेक्सी (Earth From Andromeda Galaxy पर कंट्रोल है और पूरी गैलेक्सी तक की उर्जा को आप प्रयोग कर सकते हैं।

इस स्टेज पर जाकर ही अब मिल्की वे गैलेक्सी पर आसानी से जाकर के उसपर उन ग्रहों को खोज सकते हैं जहां जीवन हो सकता है, पर पृथ्वी को ओबजर्ब करने के बाद अब ये आपके ऊपर डिपेंड करता है कि आप इस ग्रह का क्या करेंगे, अगर पृथ्वी पर आज ही आ जाते हो तो आप इतने एंडवास हैं कि आपको इस ग्रह पर जीवन खोजने और उसके रिसोर्स का कोई फर्क नहीं पड़ेगा, ये ऐसा होगा जैसे कि आप एक इंसान हैं और पृथ्वी एक चींटी के बराबर है।

पृथ्वी को एंड्रोमेडा से देखने के लिए चाहिए विशाल टेलिस्कोप

25 लाख प्रकाश वर्ष आप अगर एंड्रोमेडा आकाशगंगा में रहते हैं तो इतनी दूर से आप किसी दूसरी आकाशगंगा के ग्रह को साधारण टेलिस्कोप (Earth From Andromeda Galaxy) से नहीं देख सकते हो। एक ग्रह के लिए उसका सूर्य ही उसका प्रकाश है जो आपके टेलिस्कोप में पड़ता है जिससे फिर उस ग्रह की एक छबि आपके दूरदर्शी यंत्र पर बनती है। पृथ्वी को देखने के लिए आपको बेहद विशाल टेलिस्कोप की जरूरत पड़ने वाली है, जिसका आकार आपकी सोच से भी परे होगा। एक टेलिस्कोप का दर्पण (Mirror) जितना विशाल होता है उतनी ही दूर से आ रहे प्रकाश को वो साफ देख सकता है। इसलिए पृथ्वी के लिए आपको कई सूर्यों से भी विशाल आकार का टेलिस्कोप चाहिए तभी आप पृथ्वी को देख सकोगे।

एंड्रोमेडा से पृथ्वी को देखने के लिए आपको 1.6 प्रकाश वर्ष विशाल दर्पण वाला टेलिस्कोप चाहिए।।
150 खरब किलोमीटर है आकार! 

तो अगर हम टेलिस्कोप इक्वेशन को देखें और उससे 25 लाख प्रकाश वर्ष दूर एंड्रोमेडा से पृथ्वी को देखें तो उसके लिए हमें कमसेकम 1.6 प्रकाश वर्ष (Light Year) के बराबर के व्यास का टेलिस्कोप बनाना होगा जो 150 खरब किमी के बराबर है। ये सूर्य और सबसे नजदीकी तारे प्रॉक्सिमा सेन्टॉरी की दूूरी का 25 प्रतिशत साइज है।

अगर आप इतना विशाल टेलिस्कोप एंड्रोमेडा गैलेक्सी (Earth From Andromeda Galaxy) पर बना लेते हैं तो तभी आप उसमें पृथ्वी को बेहद हाई रेसोल्युशन में देख पायेंगे। पर इतना करने पर भी आपको उसमें आज के समय की जगह 25 लाख साल पुराना युग दिखाई देगा, उस समय पर मानव जंगलों में रहा करते थे और किसी भी तरह की कोई सभ्यता नहीं थी। तो कुल मिलाकर के आप अगर एंड्रोमेडा गैलेक्सी पर हैं और दूसरी गैलेक्सी पर जीवन खोजना चाहतें है तो ये काम शायद ही आप अपने जीवन काल में कर सको। 

Shivam Sharma

शिवम शर्मा विज्ञानम् के मुख्य लेखक हैं, इन्हें विज्ञान और शास्त्रो में बहुत रुचि है। इनका मुख्य योगदान अंतरिक्ष विज्ञान और भौतिक विज्ञान में है। साथ में यह तकनीक और गैजेट्स पर भी काम करते हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button