Physics

न्यूक्लियर फ्यूशन और इस से जुड़ी कई मिथकों का सच! – Nuclear Fusion In Hindi

पृथ्वी पर जीवन का मूल कारण - न्यूक्लियर फ्यूशन ! आखिर क्यूँ ? जाने इस लेख के अंदर |

नमस्कार मित्रों ! कैसे हैं आप सब ? दोस्तों आज हम एक अलग से विषय पर बात करने जा रहें हैं | तो , वह विषय क्या है ? कोई अनुमान ! खैर मेँ ही बता देता हूँ , आज हम न्यूक्लियर फ्यूशन (Science Of nuclear fusion in hindi) के विषय पर बात कर ने जा रहें हैं | मित्रों ! इस से पहले मैंने रसायन विज्ञान से जुड़ी कई रोचक तथ्य और विकिरण के ऊपर आपसे बात किया है | परंतु मैंने रसायन विज्ञान की मूल भूत बात न्यूक्लियर फ्यूशन (nuclear fusion in hindi) के बारे मेँ आप से इस से पहले जिक्र ही नहीं किया हैं |

हमारे दुनिया में कई ऐसे प्रक्रिया है जिस के बिना हम जीवित नहीं रह सकते हैं | उन प्रक्रियाओं के अंदर एक न्यूक्लियर फ्यूशन का भी प्रक्रिया है जिस के बिना शायद पृथ्वी में जीवन ही नहीं बचता ! तो आखिर वह कौन सी वजह है जो की इस प्रक्रिया को इतना महत्वपूर्ण बनाती हैं ? क्यूँ हम इस प्रक्रिया के बिना जिंदा नहीं रह सकते हैं ? इन सभी सवालों के जवाब जानने के लिए इस लेख को पढ़ते रहिए |

तो , आज हम न्यूक्लियर फ्यूशन (nuclear fusion in hindi) से जुड़ी हर एक मूल भूत वैज्ञानिक बातों को जानेंगे और हाँ ! इसके अलावा हम इस से जुड़ी कुछ मिथकों का भी खुलासा करेंगे | तो , चलिए लेख में आगे बढ़ते हुए इस के बारे में और कई ज्ञानवर्धक बातों को जानते हैं।

How Nuclear Fusion Works?
न्यूक्लियर फ्यूशन कैसे होता है ? Credit : Nuclear Power.

न्यूक्लियर फ्यूशन क्या हैं ? – Science Of Nuclear Fusion ? :-

अगर हम को किसी भी विषय के ऊपर अधिक जानकारी चाहिए , तो सबसे पहले हमें उस विषय की संज्ञा को जानना पड़ेगा | तो , यहाँ सवाल उठता है की आखिर न्यूक्लियर फ्यूशन (Science Of Nuclear Fusion In Hindi ?) किसे कहते हैं ? मित्रों !अगर मेँ आसान भाषा मेँ कहूँ तो न्यूक्लियर फ्यूशन एक परमाणु प्रक्रिया है जिस में कई छोटे-छोटे परमाणु आपस में मिलकर एक बड़े से परमाणु का गठन करते हैं |

उदाहरण स्वरूप आप एक बादाम के लड्डू को ही ले लीजिए | जैसे एक लड्डू के अंदर कई सारे छोटे-छोटे बादाम के दाने होते है ; उसी तरह एक बड़े से परमाणु के अंदर कई सारे छोटे-छोटे परमाणु होते हैं | इसके अलावा जैसे एक बादाम का लड्डू कई छोटे-छोटे बादाम के दानों के आपसी मिलाव से बनता है , ठीक उसी तरह एक न्यूक्लियर फ्यूशन (nuclear fusion in hindi) के बदौलत कई छोटे-छोटे परमाणु के आपसी मिलाव से एक बड़े से परमाणु का निर्माण होता हैं |

यहाँ पर और एक बात पर गौर करना पड़ेगा और वह है की आपसी मिलाव से बनने वाला बड़े परमाणु का वजन उसको बनाने वाले छोटे-छोटे परमाणुओं के कुल वजन से कम होता हैं | वजन में इस अंतर का कारण न्यूक्लियर फ्यूशन प्रक्रिया में होने वाला ऊर्जा का क्षय होता हैं | वैज्ञानिकों ने ऊर्जा के इस क्षय को आइन्स्टाइन के E=mc^2 समीकरण (equation) को माना हैं |

अगर आपको पूछा जाए की दुनिया की सबसे सरल और महत्वपूर्ण न्यूक्लियर फ्यूशन प्रक्रिया का उदाहरण दीजिए तो आपका जवाब किया होगा ? मित्रों ! दुनिया का सबसे सरल और महत्वपूर्ण न्यूक्लियर फ्यूशन प्रक्रिया है हाइड्रोजेन परमाणु का हीलिअम परमाणु में परिवर्तित होना | इस प्रक्रिया के बिना कोई भी प्राकृतिक घटना घटित हो पाना बहुत ही मुश्किल हैं |

न्यूक्लियर फ्यूशन से जुड़ी कुछ मिथकों का सच – Myths About Nuclear Fusion

मित्रों ! मैंने यहाँ पर कुछ न्यूक्लियर फ्यूशन (nuclear fusion in hindi) से जुड़ी मिथकों को आपके सामने रखा हैं | तो , लेख के इस भाग को अवश्य ध्यान से पढ़ें |

1) पहला मिथक – न्यूक्लियर फ्यूशन प्रक्रिया बहुत ही खतरनाक हैं :-

मित्रों ! आपको जानकर अवश्य है हैरानी होगा की , कई लोग न्यूक्लियर फ्यूशन प्रक्रिया को बहुत ही ज्यादा खतरनाक मानते हैं | लोगों का ऐसे सोचने के पीछे का कारण भी एक प्रकार से लाज़िमी हैं , क्योंकि ज़्यादातर लोग समझते है की न्यूक्लियर फ्यूशन प्रक्रिया सिर्फ और सिर्फ न्यूक्लियर रीएक्टर में ही होता हैं |

तो , इसलिए मेँ आपको बता दूँ की न्यूकीयर फ्यूशन प्रक्रिया बिलकुल भी खतरनाक नहीं है | इसी प्रक्रिया के ही बदौलत हम लोग पृथ्वी पर जिंदा हैं |

2) दूसरा मिथक – यह परिवेश को प्रदूषण करता हैं :-

यहाँ पर और एक बात लोगों को न्यूक्लियर फ्यूशन (Science Of nuclear fusion in hindi) के बारे में बहुत ज्यादा खटकती हैं और वह है की यह परिवेश को बहुत ज्यादा प्रदूषण कर देता हैं | मित्रों ! इसलिए मेँ आपको यहाँ बता दूँ की किसी भी ग्रीन हाउस गैस (Green House Gas) के विपरीत यह किसी प्रकार से अपने-आप ही परिवेश को प्रदूषण नहीं करता हैं |

Does Nuclear Fusion pollute enviorment?
परिवेश को प्रदूषित नहीं करता है – न्यूक्लियर फ्यूशन | Credit : Financial Times.

इसके अलावा न्यूक्लियर फ्यूशन की प्रक्रिया कई सारे ऊर्जाओं के स्रोतों का कारण बनता हैं | इस के माध्यम से आप सौलर और विंड (हवा) को इस्तेमाल कर के काफी ज्यादा ऊर्जा बना सकते हैं |

3) तीसरा मिथक – इस से बहुत ही ज्यादा विकिरण (Radiation) निकलता हैं :-

कई लोगों का मानना है की न्यूक्लियर फ्यूशन के प्रक्रिया से हम लोगों को काफी ज्यादा विकिरण (radiation) का सामना करना पड़ता है | परंतु मित्रों ! यह बात बिलकुल भी सहीं नहीं हैं | न्यूक्लियर फ्यूशन से आपको किसी भी विकिरण का खतरा नहीं हैं |

मैरे ऐसे बोलने के पीछे कई सारे वजह हैं | हम लोग प्राकृतिक रुप से विकिरण से घिरे हुए हैं और हर समय विकिरण को अपने शरीर के अंदर सोख रहें हैं | एक न्यूक्लियर रिएक्टर से निकलने वाली विकिरण की मात्रा हम रोजाना सोख रहें विकिरण के कुल मात्रा से सिर्फ 0.005% हैं |

न्यूक्लियर फ्यूशन से जुड़ी कुछ रोचक तथ्य – Amazing Nuclear Fusion Facts :-

मित्रों ! अब हम यहाँ पर न्यूक्लियर फ्यूशन से जुड़ी गज़ब के तथ्यों को जानेंगे | तो धैर्य के साथ लेख को आगे पढ़ते रहिए |

1. पृथ्वी पर जीवन का प्रमुख कारण – न्यूक्लियर फ्यूशन :-

मैंने ऊपर ही आपको पृथ्वी पर जीवन मौजूद होने का कारण न्यूक्लियर फ्यूशन (Science Of nuclear fusion in hindi) को ही बताया हैं | तो , आखिर क्या है जो इसे इतना महत्वपूर्ण बनाता हैं | मित्रों ! सूर्य में हमेशा से ही न्यूक्लियर फ्यूशन की प्रक्रिया जारी हैं | न्यूक्लियर फ्यूशन ही वही प्रक्रिया है , जिस के वजह से सूर्य इतना ज्यादा उज्ज्वल है |

सूर्य के प्रकाश का मूल कारण न्यूक्लियर फ्यूशन है और बिना सूर्य के प्रकाश से पृथ्वी पर जीवन नहीं बच सकता हैं |

2. अनंत काल के लिए ऊर्जा का स्रोत बन सकता है – न्यूक्लियर फ्यूशन :-

मित्रों ! आमतौर पर न्यूक्लियर फ्यूशन प्रक्रिया को अनंत काल तक होने के लिए ड्यूटेरियम (Deuterium) और ट्राईटीयम (Tritium) नाम के दो पदार्थों की जरूरत पड़ती हैं | यह दो पदार्थ पृथ्वी में अभी तक सही मात्रा में खोजे नहीं गए हैं |

अगर मित्रों यह दो पदार्थ सही मात्रा में पृथ्वी पर मिल जाते हैं , तो हम लोग अनंत काल के लिए एक पक्के तौर पर ऊर्जा का बंदोबस्त कर सकते हैं|.

Tags

Bineet Patel

मैं एक उत्साही लेखक हूँ, जिसे विज्ञान के सभी विषय पसंद है, पर मुझे जो खास पसंद है वो है अंतरिक्ष विज्ञान और भौतिक विज्ञान, इसके अलावा मुझे तथ्य और रहस्य उजागर करना भी पसंद है।

Related Articles

Back to top button
Close