Universe

पहली बार ली गई ब्लैक होल के घटना क्षितिज (Event Horizon) की अद्भुत तस्वीर

First-Ever Image Of A Black Hole

Black Hole Ki Pehli Image – अप्रैल 2017  में आठ विशालकाय दुरबीनों को पृथ्वी से एक ही दिशा में देखने के लिए सेट किया गया था , जिनका एक ही उद्देश्य था कि वे इस दिशा में  विशालकाय  Black Hole की तस्वीर को ले सकें।

वे यहां पर उसके Event Horizon की तस्वीर  (Image) लेने में सफल हुए हैं जिसे आप ऊपर देख  सकते हैं।  इस सूपरमैसिव ब्लैकहोल (Supermassive Black hole)  की ये तस्वीर Messier 87 नाम की विशालकाय आकाशगंगा के केंद्र से ली गई है।

फोटो सीधे ब्लैक होल की नहीं है

बेशक, ये फोटो सीधे ब्लैक होल की नहीं है ब्लकि उसकी दिखाई देने वाली एक छाया है, क्योंकि ये ब्लैक होल हमारी पृथ्वी से करोड़ो प्रकाश वर्ष दूर है जिस कारण हम इसकी कभी भी सीधे तस्वीर नहीं ले सकते बल्कि करोड़ो साल पीछे की ही तस्वीर ले सकते हैं इसकी वजह है लाइट की एक सीमित स्पीड।

ब्लैक होल गुरुत्वाकर्षण क्षेत्र (Gravitational Field)  को इतना मजबूत बनाते हैं कि उनसे फिर बिना बजन वाली वस्तु जैसे कि लाइट भी नहीं बच पाती है  और उसमें कैद होकर के ब्लैक होल के घटना क्षितिज (Event Horizon) का निर्माण करती है। इसी घटना क्षितिज (Event Horizon)की मदद से हम ब्लैक होल के होने की  संभावना को प्रकट करते हैं।

Event Horizon Telescope की ली गई मदद

Event Horizon Telescope (EHT)  की मदद से वैज्ञानिकों को एक से  ज्यादा दूरबीनों को एक ही दिशा में रखकर उस पर फोकस किया और  इस ब्लैक होल की तस्वीर ली, इस तरह के मैथड़ को विज्ञान की भाषा में Interferometry कहा जाता है।

इस विशालकाय ब्लैक होल की तस्वीर को लेने के लिए पृथ्वी के आकार का टेलिस्कोप चाहिए था पर EHT ने  Interferometry  के जरिए कई टेलिस्कोप का निर्माण किया और उन्हें विश्व भर की कई जगहों पर सेट किया।

जिस की वजह से उनके पास संयुक्त रूप से पृथ्वी के बराबर की दुरबीन मिल गई और उससे उन्होंने Messier 87  में मौजूद ब्लैक होल की सटीक तस्वीर ली।

M87  आकाशगंगा का है ये  ब्लैक होल

M87 54 मिलियन प्रकाश वर्ष दूर एक अण्डाकार आकाशगंगा  है, और इसकी विशालकाय ब्लैक होल हमारी अपनी आकाशगंगा के केंद्र की तुलना में बहुत बड़ी है। इसका द्रव्यमान सूर्य के द्रव्यमान का 6.5 बिलियन गुना है और 0.39 प्रकाश वर्ष तक फैला है।

Simulation of the black hole at the heart of M87. ESO/M. Kornmesser

“एक बार जब हमें यकीन हो जाता है कि हमने छाया का अनुकरण कर लिया है, तो हम अपने मिले डाटा की तुलना व्यापक कंप्यूटर मॉडल से कर सकते हैं, जिसमें अंतरिक्ष का भौतिकी, सुपरहीटेड पदार्थ और मजबूत चुंबकीय क्षेत्र शामिल हैं।

आइंस्टीन की General Theory Of Relativity  से खाती है मेल 

चित्रित छवि की कई विशेषताएं हमारी सैद्धांतिक समझ को आश्चर्यजनक रूप से अच्छी तरह से मेल खाती हैं। ” पॉल टीपी हो, ईएचटी बोर्ड के सदस्य और पूर्व एशियाई वेधशाला के निदेशक ने कहा । “यह हमें ब्लैक होल के द्रव्यमान (Mass)  के हमारे अनुमान सहित हमारी टिप्पणियों की व्याख्या के बारे में आश्वस्त करता है।”

ब्लैक होल का अवलोकन एक अविश्वसनीय उपलब्धि है, लेकिन यह आइंस्टीन के सामान्य सापेक्षता के सिद्धांत, क्वांटम यांत्रिकी और कुछ ज्योतिषीय सिद्धांतों के लिए एक महत्वपूर्ण परीक्षा भी है। इन निष्कर्षों का विवरण  एस्ट्रोफिजिकल जर्नल लेटर्स  में  कई  पत्रों में प्रकाशित किया गया है ।

ब्लैक होल के भीतर क्या है! What’s Inside a Black Hole

हम अभी भी नहीं जानते हैं कि एक ब्लैक होल के अंदर क्या है। इन वस्तुओं के हमारे अवलोकन लगभग विशेष रूप से अप्रत्यक्ष हैं, हम सिमुलेशन और मॉडल से इन्हें बनाते हैं। हम स्वयं वस्तुओं के बजाय उनके प्रभाव को देखते हैं।

इस ग्राउंड-ब्रेकिंग प्रोजेक्ट की बदौलत अब हम ब्रह्मांड के बीच की सीमा तक पहुँच चुके हैं और जान सकते हैं कि ब्लैक होल के भीतर क्या है।

–  ब्रह्मांड की सबसे खतरनाक चीज, जिसके सामने NASA के सभी वैज्ञानिक भी घुटने टेक देते हैंBlack Hole In Hindi

Tags

Shivam Sharma

शिवम शर्मा विज्ञानम् के मुख्य लेखक हैं, इन्हें विज्ञान और शास्त्रो में बहुत रुचि है। इनका मुख्य योगदान अंतरिक्ष विज्ञान और भौतिक विज्ञान में है। साथ में यह तकनीक और गैजेट्स पर भी काम करते हैं।

Related Articles

2 Comments

  1. इसके उपर हमने वीडियो बना दी है, आप जाकर के चैनल पर देख सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close