Mystery

भारत की सबसे रहस्यमयी जगह, शाम होते ही यहां जग जाती हैं आत्‍माएं

यह तो हम सभी जानते हैं कि रहस्यों को जब भी बात होती है तो भारत सबसे ऊपर होता है। हमारे देश में हर कोने में आपको कुछ ना कुछ विचित्र और रहस्यमयी देखने को मिल ही जाता है। भूत- प्रेतों को लोकर तो अपने देश में सदियों से बहस होती रही है, कई लोगों के लिए यह किसी रहस्य से कम नहीं है।

आज हम भारत की एक ऐसी ही बेहद विचित्र जगह के बारे में बताने जा रहे हैं जिसे भानगढ़ के नाम से जाना जाता है, माना जाता है कि भानगढ़ में एक किला है जिसमें शाम होते ही आत्माएं जग जाती हैं। भारत सरकार ने खुद शाम को वहां पर रुकने की इजाजत किसी को नहीं दी है। आइये जानते हैं कि आखिर इस किले का क्या रहस्य है क्यों इसे भारत की सबसे भूतिया जगह कहा जाता है।

भानगढ़ राजस्थान के अलवर जिले में स्थित है ! इस किले का निर्माण आमेर के राजा भगवंत दास ने सन-1573 में बनवाया ! यह किला विश्व प्रसिद्ध है ! इसे भुतहा किले के नाम से भी जाना जाता है !

भानगढ़ का रहस्य ?

माना जाता है कि इस दुर्ग की राजकुमारी रत्नावती बहुत ही सुन्दर थी,  इस लिए ये राज्य विश्व प्रसिद्ध था । राजकुमारी के लिए दुर-दुर से राजा-महाराजाओ के रिश्ते आया करते थे । लेकिन राजकुमारी ने किसी भी रिश्ते के लिए अपनी मंजूरी नहीं दी । भानगढ़ की राजकुमारी रत्नावती के स्वयंवर की तेयारिया चल रही थी।  लेकिन उसी राज्य में एक तांत्रिक सिंघि‍या नाम का रहता था। वह राजकुमारी से अत्यंत प्रेम करता था। वह राजकुमारी को पाना चाहता था , लेकिन यह संभव नहीं था।

यह भी जानें – भारत की पांच सबसे भूतिया जगह, हर कोई यहां जाने से डरता है

इसी कारण उसने राजकुमारी को पाने के लिए अपने तंत्र-मंत्रो का प्रयोग करना चाहा।  एक दिन जब राजकुमारी की दासी उनके लिए तेल लेने बाजार गयी ! तब तांत्रिक ने उस तेल में सम्मोहित करने का मंत्र डाल दिया।  लेकिन वह दासी तांत्रिक की इस चाल को समज गयी और तेल को पास ही एक चटान पर गिरा दिया ।  सम्मोहित तेल की वजह से वो चटान तांत्रिक के पीछे-पीछे चली गयी और तांत्रिक को कुचल दिया ।  तांत्रिक ने मरते-मरते पुरे भानगढ़ को श्राप दिया की बहुत जल्द ही पूरा राज्य सम्माप्त हो जाएगा !  उन सभी की आत्माओ को कभी भी मुक्ति प्राप्त नहीं होगी ।

जाने की है सख्त मनाही

तांत्रिक सिंघि‍या के श्राप के चलते पूरा राज्य समाप्त हो गया।  लोगो का मानना है की आज भी उन साभी लोगो की आत्माए वहा पर रहती है।  रात होने के बाद कोई भी इन्सान वहा पर नहीं जाता है।  यदि कोई गया भी है तो वापस नहीं आया।

श्राप के चलते पूरा राज्य भूतो का राज्य बन गया ! सूरज ठलने के बाद भानगढ़ किले में जाने पर कानून ने रोक लगा राखी ही । भानगढ़ का किला न शिर्फ़ राजस्थान या भारत में प्रसिद्ध बल्कि इसका रहस्य पूरी दुनिया को पता है।

10 हजार लोगों की हैं आत्माएं

भानगढ़ का किला पूरी तरह खंडर बन चूका है ! यहाँ पर देश-विदेश के कई लोग आते है।  लेकिन शाम होने से पहले भानगढ़ से दूर चले जाते है।  भानगढ़ दुर्ग को तांत्रिको द्वारा तंत्र-मंत्रो की सहायता से सुरक्षित किया गया है।  इस किले में लगभग 10 हजार लोगो की जान गयी थी ! जिनकी आत्माए आज भी भानगढ़ में मोजूद है।

Tags

Pallavi Sharma

पल्लवी शर्मा एक छोटी लेखक हैं जो अंतरिक्ष विज्ञान, सनातन संस्कृति, धर्म, भारत और भी हिन्दी के अनेक विषयों पर लिखतीं हैं। इन्हें अंतरिक्ष विज्ञान और वेदों से बहुत लगाव है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close