Universe

650 खरब पृथ्वियों को समा सकता है ये तारा! फिर भी ब्रह्मांड में ये एक बिंदू भर है.

Uy Scuti And Earth Comparison

Uy Scuti And Earth Comparison  –  हम अपने सौर मंडल के सबसे बड़े ग्रह जूपिटर की बात करें जो पृथ्वी से 60 करोड़ किलोमीटर दूर है अपने अंदर 1300 पृथ्वी समा सकता है, ये एक बहुत बड़ा गैस का ग्रह है जिसकी कोई ठोस सतह दूर-दूर तक नहीं है, भले ही ये हमारे सौर मंडल का सबसे बड़ा ग्रह हो पर इसकी सूर्य से कोई तुलना नहीं है।

हमारा  सूर्य सौर मंडल का सबसे बड़ा  पिंड है जिसमें पूरे सोलर सिस्टम का 99.8 परसेंट भार समाया हुआ है, ये हमारी पृथ्वी से 3 लाख 33 हजार गुना भारी है और अपने विशाल आकार में  13 लाख पृथ्वियों को समा सकता है। पर अगर इसकी तुलना हम आगे आने वाले विशालकाय पिंड से करें तो हमारा सन भी इनके सांमने एक हाई डेफिनेशन टीवी (HDTV) के पिक्सल जैसा दिखने लगता है….

जैसा कि आप पहले से ही जानते हैं कि हमारे सोलर सिस्टम में हमारी पृथ्वी एक छोटा ग्रहों में आती  है जो केवल मर्करी, वीनस और मार्स से आकार में बड़ी है।

पर जब हम इसकी तुलना सोलर सिस्टम के सबसे बड़े ग्रह जूपिटर से करतें है तो हम पाते हैं कि ये उसके सामने कुछ भी नहीं है इसी तरह जब हम अर्थ और जूपिटर की अपने सन  से साइज में कंपेरिशन करते हैं तो फिर ये दोनों ग्रह भी उसके सामने बच्चे लगने लगते हैं।

13 लाख पृथ्वी और 1 हजार जूपिटर्स जैसे ग्रहों को अपने में समा लेने वाला Sun यानि हमारा सूर्य वास्तव में बहुत बड़ा तारा है, पर हमारा ये स्टार भी बहुत छोटा है, अगर हम इसके आकार की दूसरे बड़े स्टार से तुलना करें तो हम पायेंगे कि ये भी उनके सामने कुछ नहीं है।

चलिए इसकी तुलना हम अब तक के खोजे गये सबसे बड़े स्टार UY SCUTI से करते हैं जो कि अर्थ से 5100 Light years (प्रकाश वर्ष) दूर है मतलब कि प्रकाश की स्पीड से भी यहां जाने में आपको 5100 साल लग जायेंगे, ये भले ही इतनी दूर हो पर इसका आकार आपको हैरान कर देगा।

2.37 अरब किलोमीटर के व्यास (Diameter) वाला ये स्टार इतना बड़ा है कि अगर इसे सोलर सिस्टम में फिट किया जाये तो ये सूर्य से लेकर के Uranus ग्रह तक की पूरी जगह को घेर लेगा।

ये इतना बड़ा है कि इसके एक छोर से दूसरे छोर तक लाइट को भी पहुँचने में 2 घंटे लगते हैं। अगर हम इसकी तुलनाअपने तारे सूर्य से करें तो आप इस स्टार के अंदर कमसे कम 400 करोड़ सूर्यों को फिट कर सकते हो, और अगर आपने इस स्टार की गलती से भी पृथ्वी से तुलना करने की कोशिश की तो फिर आप पक्का अपने होश खो बैठेंगे, ये इतना बड़ा स्टार है कि इसके सामने पृथ्वी वास्तव में एक एटम जैसी दिखाई देगी।

ये अपने अंदर कमसे कम 650 खरब या 650 ट्रलियन पृथ्वियों को समा सकता है……. एक तरह से देखा जाये को इसके अंदर हमारी गैलेक्सी के सभी ग्रह भी समा सकते हैं।

 

Tags

Shivam Sharma

शिवम शर्मा विज्ञानम् के मुख्य लेखक हैं, इन्हें विज्ञान और शास्त्रो में बहुत रुचि है। इनका मुख्य योगदान अंतरिक्ष विज्ञान और भौतिक विज्ञान में है। साथ में यह तकनीक और गैजेट्स पर भी काम करते हैं।

Related Articles

Back to top button
Close