Physics

आखिर कितने करीब जा सकते हैं आप किसी जलते हुए Rocket के ?-How Close Can We Get To A Rocket Launch ?

क्या होगा जब आपके 100 feet दूर Rocket फटेगा ?

Rocket Launching यानी राकेट को अंतरिक्ष में भेजना , एक बेहद जटिल प्रक्रिया होती है | कई सालों की मेहनत के बाद जब rocket launch किया जाता है तो हम सभी की निगाहें उधर ही टिकी होती हैं | आपने Television या अन्य किसी माध्यम से rocket launch होते हुए तो जरूर देखा होगा | पर वो कुछ खुशनसीब इंसान ही होते हैं , जो इसे अपनी आँखों के ठीक सामने से, आसमान की तरफ जाता हुआ देख पाते हैं | हालांकि हमें ये पता है कि इसके नजदीक जाना खतरे से खाली नहीं है | पर अब सवाल ये है कि आखिर हम बिना अपनी जान खतरे में डाले कितने करीब से किसी rocket launch को देख सकते हैं ? (How Close Can We Get To A Rocket Launch ?)

Rocket Launching का सबसे पहला खतरा 

सबसे पहले बात करते हैं किसी भी rocket launch में होने वाले risk खतरों की | क्योंकि इन्हीं की वजह से हमारा rocket के करीब जाना निर्भर करता है |

सबसे पहला खतरा जो rocket launching को लेकर होता है , वो है rocket explosion यानी उसके फटने का | आपको बतादूँ कि किसी भारी rocket के फटने पर 1.8 kilotons के परमाणु बम जितनी ऊर्जा निकलती है  | पर यहाँ खतरे की सीमा rocket से 1.5 से 2 Km के radius तक ही रह सकती है | इसके करीब जाकर आपके घायल होने की संभावना बेहद ज्यादा है |

पर जरूरी नहीं कि सभी rocket explode हो जाएं ! आपको बतादूँ , कि rocket launching का success rate अब लगभग 97 % से भी ज्यादा है | यानी कि किसी rocket explosion की possibility अब बेहद कम है |

इन वजहों से हम नहीं जाते Rocket के करीब

किसी successful rocket launch में आमतौर पर हमें ख़तरा , इसकी toxic gases ,heat और sound से हो सकता है |

Toxic Gases ( विषैली गैस )

Toxic gases को लेकर बात की जाए , तो आमतौर पर rockets में इस्तेमाल  किए जाने वाले propellants, toxic material बाहर नहीं छोड़ते | कुछ बेहद बुरे हालातों में, aluminium oxide का white powder निकलकर आपके फेफड़ों को damage करदे | पर इस चीज की  संभावना भी बेहद कम है | ये खुद rocket to rocket और fuel पर depend करता है | यानी कि फिलहाल तो आपको इससे कोई खतरा नहीं है |

Rocket की  गरमी आपको कब जलाएगी ?

अब बात कर लेते हैं rocket launch के दौरान निकलने वाली heat radiations यानी गर्मी के बारे में | आपको ये तो पता ही होगा कि rocket launch के लिए , उसमें मौजूद fuel को burn किया जाता है | जो hot gases या mass को नीचे की तरफ high speed और pressure से बाहर निकालता है | इसकी वजह से ही rocket को एक reaction force मिलता रहता हैऔर वो आगे बढ़ने लगता है |

इस दौरान निकलने वाली heat radiations की तीव्रता बेहद ज्यादा होती है , जो आसपास खड़े किसी भी इंसान को पल में जला सकती है |  इन heat radiations की intensity, rocket engine में मौजूद fuel की  मात्रा और उसके consumption rate पर depend करती है |

Normal rockets के लिए , इन heat radiations की limit लगभग 200 मीटर के radius के आसपास की होती है | यानी कि अगर आप इससे कम दूरी पर rocket launching के time बिना किसी सुरक्षा के आएँगे , तो लगभग 30 seconds के अन्दर आप बेहद बुरी तरह से जल चुके होंगे |

एक बात और , कि ये radiation की limit , rocket depend करती है | अगर rockets में engines और fuel ज्यादा है , तो ये limit और भी बढ़ सकती है |

Rocket की आवाज आपकी जान ले लेगी !

अब आखिरी और सबसे महत्वपूर्ण खतरा जो जुड़ा हुआ है rocket launching से , वो है इसकी noise यानी आवाज | हर एक rocket, launching के दौरान भारी मात्रा में आवाज पैदा करता है | इसे अक्सर rocket की sound power भी कहा जाता है | जब rocket से exhaust निकलता है , तो ये अपने आसपास के medium मेंnoise के चलते , mechanical energy पैदा करते हैं |

इस sound energy या power को , जिसे अक्सर sound intensity भी कहते हैं , decibels में नापा जाता है | आमतौर पर rockets , launching के दौरान 160 decibels के करीब आवाज पैदा करते हैं | जो इतनी ज्यादा intense यानी प्रबल होती है कि 100 feet दूर मौजूद building को आसानी से गिरा सकती है |

कितनी आवाज आपके लिए मौत का कारण है ?

America के Saturn V rocket को जब launch किया जाता है तो ये लगभग 220 decibels के आसपास की noise create करता है | जो इतनी ज्यादा है कि अगर आप इससे कुछ 100 feet के radius के अन्दर खड़े  होंगे तो आपका खेल आसानी से खत्म हो जाएगा |

90 से 95 decibels वाली noise आपके सुनने की शक्ति छीन सकती हैं | तो वहीँ 140 decibels वाली sound intensity आपके कानों को permanently damage कर सकती हैं | और तकरीबन 180 decibels या उससे ज्यादा की noise आपकी जान भी ले सकती हैं | और अगर आप किसी 160 decibels sound level वाले rocket के नजदीक होंगे इसका असर भी 180 decibels जितना ही महसूस होगा |

Rocket की आवाज कम भी होती है 

यहाँ ध्यान देने वाली बात ये है कि sound की intensity जो हम decibels में नापते हैं ,वो distance पर भी depend करती है | यानी कि जैसे जैसे किसी sound source से distance बढ़ता जाता है , तो sound की  intensity भी घटने लगती है | किसी average rocket से निकलने वाली noise, 3 miles के distance पर 160 db से घटकर 120 db तक पहुँच जाती है |

जैसे ही distance double होता है , तो sound की intensity जो हमारे काम महसूस करते हैं , वो 10 db तक घट जाती है | यानी कि अगर आपको 3 mile की दूरी पर 120 db की sound सुनाई दे रही है ,तो 6 mile की दूरी पर ये आपको 110 db की सुनाई देगी |

Rocket से इतनी दूरी आपके लिए एकदम सही है 

पर space agencies भी rocket launching के लिए कई तरह के sound suppression systems का इस्तेमाल करती हैं | इससे sound energy से होने वाले खतरे को कम किया जाता है | क्योंकि इनके चलते , खुद rocket पर भी इसका असर पड़ता है | इसके जरिए 195 db तक की sound को 140 db तक कम किया जा सकता है |

अब इन सभी को ध्यान में रखा जाए , तो लगभग 5.5 to 6 miles की दूरी यानी 9.5 Km की दूरी किसी आम इंसान के लिए rocket launch को देखने के लिए एकदम सटीक है |

हालांकि  इस बात का ध्यान जरूर रहे कि ये distance कम भी हो सकता है | क्योंकि अगर rocket छोटा है और उसमें engines भी कम हैं ,तो उससे निकलने वाली sound power खतरनाक साबित न हों | पर किसी भी heavy rocket के लिए , 9 Km के आसपास की  दूरी, आपको सभी खतरों से जरूर बचा लेगी |

Tags

Shubham Sharma

शुभम शर्मा विज्ञानम् के लेखक हैं जिन्हें विज्ञान, गैजेट्स , रहस्य और पौराणिक विषयों में रूचि है। इसके अलाबा इन्हें खेल और वीडियो बनाना बहुत पसंद है।

Related Articles

Back to top button
Close