Universe

शनि का चंद्रमा टाइटन हुबहू है प्रथ्वी जैसा – नासा

NASA के कैसिनी अंतरिक्ष यान से प्राप्त डेटा का इस्तेमाल करते हुए अंतरिक्ष विज्ञानियों ने शनि के चंद्रमा टाइटन का एक वैश्विक मानचित्र तैयार किया है और पाया कि इसकी भौगोलिक विशेषताएं पृथ्वी से काफी मिलती जुलती हैं.

इन मानचित्र में विभिन्न स्रोतों से जुटायी गयी टाइटन की सभी स्थलाकृतियों को शामिल किया गया है. इसमें टाइटन पर नये पहाड़ों समेत कई नयी स्थलाकृतियों का खुलासा हुआ. इनमें से कोई पहाड़ 700 मीटर से अधिक की ऊंचाई का नहीं है.

यह मानचित्र टाइटन (Titan) की स्थलाकृतियों की ऊंचाई एवं गहराई का भी वैश्विक चित्रण करता है, जिससे वैज्ञानिक यह पुष्टि कर पाये कि टाइटन के भूमध्यरेखा क्षेत्र में मौजूद दो स्थान वास्तव में गड्ढे हैं जो संभवत: या तो काफी पुराने हैं, या सूखे हुए समुद्र अथवा क्रायोवोल्कैनिक प्रवाह हैं.

इसमें खुलासा हुआ है कि टाइटन के बारे में हमारी पहले की जो समझ थी उसकी तुलना में यह काफी हद तक चपटा और कहीं अधिक समतल है, साथ ही इसके आवरण की मोटाई में भी पहले की तुलना में अधिक भिन्नता है.

अमेरिका में कॉरनेल यूनिवर्सिटी से पॉल कोरलाइन्स ने कहा, ‘‘कार्य का मुख्य बिंदु था कि वैज्ञानिक समुदाय इस्तेमाल के लिये एक मानचित्र तैयार करें.’’ यह मानचित्र टाइटन के जलवायु का प्रतिरूपण करने वालों, टाइटन के आकार एवं गुरुत्वाकर्षण के अध्ययन एवं अंदरूनी प्रतिरूपों की जांच के साथ जमीन की आकृति के रूपों का अध्ययन करने की इच्छा रखने वालों के लिये महत्वपूर्ण होगा.

अनुसंधानकर्ताओं ने यह भी पाया कि टाइटन के तीन समुद्र समान समतल सतह साझा करते हैं. इसका तात्पर्य है कि पृथ्वी के महासागर के समान ही समुद्र स्तर का निर्माण करते हैं.

Source – Zee News

Tags

Pallavi Sharma

पल्लवी शर्मा एक छोटी लेखक हैं जो अंतरिक्ष विज्ञान, सनातन संस्कृति, धर्म, भारत और भी हिन्दी के अनेक विषयों पर लिखतीं हैं। इन्हें अंतरिक्ष विज्ञान और वेदों से बहुत लगाव है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close