Universe

क्या होगा अगर आप PLUTO पर Land करेंगे? – What would it be like to land on Pluto?

क्या हम Pluto पर जीवन बिता सकते हैं?

हम सभी का सपना होता है कि एक बार किसी दूसरे ग्रह पर जाकर वहाँ एक दिन तो बिता ही लें | सौरमंडल में पृथ्वी से बाहर की दुनिया जिज्ञासा और रहस्यों से भरी पड़ी है | तो आज हम कुछ ऐसे ही सफर पर निकलने जा रहे हैं | पृथ्वी से कई अरबों किलोमीटर दूर, Pluto ग्रह पर जाकर एक दिन बिताने वाले हैं। जानेंगे कि क्या होगा अगर हम Pluto पर land करेंगे (What would it be like to land on Pluto)?

कैसे पहुंचे हम PLUTO तक ?

1930 में वैज्ञानिकों ने Kuiper belt में मौजूद अपनी जगह को बदलने वाले सबसे बड़े पिंड की खोज की | इसे हम सभी आज Pluto के नाम से जानते हैं | वैसे तो Kuiper belt में Pluto की size के कई और dwarf planets मौजूद हैं | पर अपने volume की वजह से ये आज भी Kuiper belt का सबसे बड़ा dwarf planet है |

Solar system में Pluto पर ,बाकी planets के मुकाबले हमनें शायद इतना ज्यादा ध्यान नहीं दिया | 1989 तक हम इंसानों ने, solar system के सभी planets पर spacecraft भेज दिए थे , और उनके बारे में जानकारी भी मिलना शुरू हो चुकी थीं | पर अभी भी, Pluto तक पहुंचना हमारे लिए असंभव ही था |

ये इतना ज्यादा दूर और अपने आसपास मौजूद पिंडो से घिरा हुआ है कि इसके पास तक पहुंचना बहुत बड़ी चुनौती थी |  साल 2006 में वो दिन आ ही गया , जब हमनें Pluto के लिए एक dedicated probe,  New Horizons को launch किया | Pluto की दूरी का अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते हो कि इसके लिए space probe कि launching speed करीब 16.26 km/s कि थी | करीब 9 साल के बाद , साल 2015 में हम इंसानों को आखिरकार Pluto के कई जटिल रहस्यों का पता लगना शुरू हो गया |

ऐसा दिखाई देगा आपको शुरुआत में PLUTO

करीब 10,000 किलोमीटर दूर से ही आपको Pluto  (land on Pluto) पर,  दिल के आकार की सबसे अलग और सबसे चमकीली सतह दिखाई देगी | इस पूरे surface region को Tombaugh Regio से जाना जाता है | इस surface के western lobe को Sputnik Planatia कहते हैं , जो पूरा का पूरा एक बर्फ का मैदान है | इस पूरी सतह पर आपको , जमी हुई nitrogen, carbon monoxide, and methane ही मिलेगी | ठीक इसके थोड़ा नीचे ही आपको काफी दूर तक फैली हुई गहरे रंग की सतह दिखाई देगी |

Pluto का वातावरण ऐसा है

जैसे ही आप इसके atmosphere में enter करेंगे, तो आप खुद को हल्की नीली धुंध या कोहरे से घिरा हुआ पाएंगे | इधर आपको मुख्य तौर पर nitrogen ही मिलेगी | इसके अलावा कुछ मात्रा में methane, carbon monoxide और कुछ organic compounds भी मिलेंगे | लगभग 160 किलोमीटर ऊपर तक फैली हुई ये धुंध , Pluto की सतह पर मौजूद बर्फ के कारण ही बनती है |

हमारे चंद्रमा से लगभग 2/3 यानी दो तिहाई छोटे से इस ग्रह पथरीला भीतरी भाग , पूरा बर्फ से ढका हुआ है | इसकी density इतनी कम है कि इसका भार, हमारे चंद्रमा का करीब 16 % ही है | (land on Pluto)

Pluto की जमीन और तापमान 

जैसे ही आप इसकी सतह पर कदम रखेंगे , तो आप खुदको 2 से 3 किलोमीटर लम्बे पहाड़ों , कई बड़े बड़े खुले मैदानों , घाटियों के बीच पाएंगे | इसके साथ ही यहाँ आपको 250 kilometer से भी ज्यादा लम्बे ज्वालामुखी के गड्डे यानी craters भी दिखेंगे | जहां पहाड़ methane जैसी जमी हुई गैसों से ढके होंगे ,जो किसी बर्फीले पर्वत से कम नहीं होंगे | तो वहीँ इसकी सतह लगभग 98 % तक solid nitrogen से ढकी हुई मिलेगी | (land on Pluto)

इसके atmosphere का surface pressure पृथ्वी से 1 लाख गुना कम है | जिसका मतलब ये है कि यहाँ आपको किसी तरह का कोई दबाव महसूस नहीं होगा | इसका surface temperature, -240 degree Celsius से लेकर  -226 degree Celsius के बीच ही रहता है | ये  बेहद आसानी से और पल में ही आपके body tissues को जामकर रख देगा | तीव्र शीतदंश के कारण आप बहुत जल्दी अपनी जान भी गवां सकते हैं |

Pluto का गुरुत्वाकर्षण

किसी special equipment के जरिए आप यहाँ के Temperature बच भी जाएं , पर इसकी gravity, आपको शायद  ज्यादा दिनों तक टिकने भी न दे | Pluto का गुरुत्वाकर्षण बल बेहद ही कमजोर है | इसकी surface gravity हमारी पृथ्वी के मात्र 6 % के ही करीब है |ये सच में किसी space station जितनी gravity के आसपास ही है |

अगर आपका वजन यहाँ 70 किलोग्राम है , तो आप Pluto पर महज साड़े 4 किलोग्राम ही भारी होंगे | इस बात का अनुमान आप खुद लगा सकते हैं कि इतनी बेहद कमजोर gravity में आपके लिए इसकी सतह पर चलना कितना मुश्किल होगा | आप यहाँ अपनी body movement भी control नहीं कर पाएंगे | इतनी  low gravity  का सीधा असर आपको , आपके muscles और bones यानी हड्डियों पर देखने को मिलेगा | लम्बे समय के दौरान , इसकी वजह से आपका nervous system भी गड़बड़ा सकता है |

Pluto के दिन और रात 

यदि आप Pluto से किसी तरह हमारी पृथ्वी पर कोई signal या message send करना चाहेंगे , तो उसे पृथ्वी तक पहुँचते पहुँचते , साड़े 4 घंटे से भी ज्यादा का समय लगेगा | हालांकि ये समय ज्यादा भी हो सकता है |

यहाँ आपको 1 दिन गुजारने के लिए, पृथ्वी के 153 घंटो तक का इन्तजार करना पड़ेगा | जी हाँ ! जब पृथ्वी के 248 साल समाप्त होते हैं तब जाकर Pluto का 1 साल पूरा होता है | (land on Pluto)

इसका मतलब ये है कि आपके दिन और रात यहाँ काफी लम्बे होने वाले हैं |  इन सभी चीजों के अलावा , आपको यहाँ कुछ अद्भुत नज़ारे भी देखने को मिल सकते हैं , जो आपने पृथ्वी पर पहले कभी नहीं देखे होंगे | Sunlight को Pluto तक पहुँचने में औसतन साड़े 5 घन्टे तक का समय लगता है | ये सूर्य से इतना ज्यादा दूर है कि आप बिना रुके लगातार हमारे सूर्य को आसानी से देख सकोगे | इसकी चमक , 900 गुना तक कम हो चुकी होगी | ये किसी normal star को देखने जैसा होगा |

Pluto का atmosphere stable नहीं है , ये लगातार बदलता रहता है | जब ये अपनी कक्षा में सूर्य से दूर जा रहा होगा , तो आपको यहाँ यहाँ पूरा नजारा बर्फ भरा हुआ ही मिलेगा | इस बात में भी कोई शक नहीं है कि आपको लम्बे समय तक बर्फ कि बारिश भी देखने को मिले |

Pluto का आसमान कैसा दिखता है ?

जमीन से हटकर अगर आप आसमान की तरफ नजर डालेंगे , तो आपको हल्की नीली परत के पार कई और तारे भी देखने को मिलेंगे | इन्हीं तारों के बीच आपको , Pluto के 5 चंद्रमाओं का भी नजारा देखने को मिलेगा | इन 5 चद्रमाओं में से Styx, Nix, Kerberos, and Hydra नाम के चंद्रमा आपको छोटे और दूर दिखाई देखेंगे | पर Pluto के सबसे बड़े और सबसे करीबी चंद्रमा Charon का आश्चर्यजनक नजारा आपके होश भी उड़ा सकता है |

Pluto का ये सबसे बड़ा चंद्रमा , उसके size का आधा है और ये उससे मात्र 19,640 kilometer ही दूर है | हमारा चंद्रमा हमसे इसके मुकाबले इससे 20 गुना ज्यादा दूर है | Charon भी Pluto के साथ tidally locked है , यानी कि आपको हमेशा इसका सिर्फ एक तरफ का ही हिस्सा देखने को मिलेगा | आप अपनी नंगी आँखों से ही इसके surface को करीब से देख सकते हो |

क्या Pluto पर जीवन संभव है ?

सबसे अजीब और विचित्र बात ये है कि इस सफ़र के दौरान शायद आपको, Tombaugh Regio वाले surface के नीचे कोई बर्फ का समुद्र भी देखने को मिल जाए | वैज्ञानिकों को जिस तरह का data  यहाँ मिला है उसके हिसाब से ऐसा संभव हो सकता है | इस बात से भी पूरी तरह इनकार नहीं किया जा सकता कि उस समुद्र में कोई जीवन मौजूद न हो | पर अभी इसके बारे में कोई ठोस सबूत हमारे पास नहीं है |

खैर इतनी दूर किसी जीवन को खोजना कोई गलत बात नहीं है , पर इस बात की संभावना ज्यादा ही है कि हम शायद ही इस planet पर कभी जाने की सोचेंगे ।

फिलहाल नई study में इस बात का भी जिक्र है कि धीरे धीरे Pluto की conditions और भी ज्यादा colder यानी ठंडी होती जा रही हैं जिसकी वजह से इसके मौसम में भी बदलाव होने लगे हैं | इसके चलते , संभावना है कि आने वाले समय में ये अपने वायुमंडल को भी खो बैठे !

Tags

Shubham Sharma

शुभम शर्मा विज्ञानम् के लेखक हैं जिन्हें विज्ञान, गैजेट्स , रहस्य और पौराणिक विषयों में रूचि है। इसके अलाबा इन्हें खेल और वीडियो बनाना बहुत पसंद है।

Related Articles

Back to top button
Close