Science

खोए हुए मोबाइलों की ट्रैकिंग के लिए कड़े नियम बनायेगा दूरसंचार विभाग

दूरसंचार विभाग आईएमईआई संख्या के साथ छेड़छाड़ करने के संबंध में नए नियम बनाने पर काम कर रहा है। दस 15 अंक की विशिष्ट संख्या से छेड़छाड़ को वह एक दंडात्मक अपराध बनाने और तीन वर्ष तक कारावास की सजा देने का विचार बना रहा है। उल्लेखनीय है कि इसी विशिष्ट संख्या से मोबाइल उपकरण की पहचान की जाती है।

Source – Shutterstock

नए नियमों से फर्जी आईएमईआई संख्या के मामलों पर रोक लगाने और खोए हुए मोबाइल फोन की ट्रैकिंग करने में भी आसानी होगी। एक सरकारी अधिकारी ने कहा कि अभी फर्जी आईएमईआई संख्या की वजह से मोबाइल ट्रैकिंग करना मुश्किल हो जाता है। दूरसंचार विभाग भारतीय टेलीग्राफ कानून के तहत आईएमईआई संख्या के साथ छेड़छाड़ करने को दंडात्मक अपराध बनाने पर काम कर रहा है।

इसे भी देखें: 4,000एमएएच बैटरी के साथ Honor 8 Pro स्मार्टफोन प्रदर्शित, जानें स्पेसिफिकेशन और फीचर्स

गौरतलब है कि भारत पहली बार खुद के मोबाइल मेगाा शो ‘भारत मोबाइल कांग्रेस’ के आयोजन की तैयारी में है जिसमें वैश्विक दूरसंचार बाजार में देश की बढ़ती ताकत का नजारा दिखेगा। यह आयोजन यहां इस साल 27-29 सितंबर को होगा।

दूरसंचार मंत्री मनोज सिन्हा ने संवाददाताओं से कहा, ‘हम लंबे समय से इस तरह का आयोजन भारत में करने की सोच रहे थे। हमें उम्मीद है कि मोबाइल वर्ल्ड कांग्रेस की तरह यह आयोजन भी आने वाले दिनों में अपनी प्रतिष्ठा कायम करेगा।’ प्रस्तावित आयोजन दिल्ली में होना है और इसे शांगहाए व बार्सिलोना में हर साल होने वाले मोबाइल आयोजनों के भारतीय जवाब के रूप में देखा जा रहा है।

इसे भी देखें: इस ऐप से जानें कि, कौन आपका व्हाटसएप्प प्रोफाइल कितनी बार देख रहा है

उद्योग संगठन सीओएआई और के एंड डी कम्युनिकेशंस द्वारा आयोजित किए जा रहे इस कार्य्रकम को दूरसंचार विभाग तथा इलेक्ट्रोनिक्स व आईटी मंत्रालय का समर्थन प्राप्त है। भारतीय दूरसंचार क्षेत्र को ‘सफल गाथा’ करार देते हुए सिन्हा ने कहा कि भारत अपनी ताकत को वैश्विक परिदृश्य में सामने रखे।

Source – PTI

Team Vigyanam

Vigyanam Team - विज्ञानम् टीम

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button