Facts & Mystery

लगातार सूरज को देखने के दुष्परिणाम | Harmful Effects Of Sunlight On Eyes

दोस्तों ! SUN यानी हमारा सूरज , Energy का एक बहुत बड़ा और विशालकाय Source है जिसकी वजह से Photosynthesis जैसी प्रक्रिया के चलते पृथ्वी पर जीवन संभव हो पाता है | हमारी पृथ्वी का सबसे करीबी Star होने के साथ साथ ये हमारे आसमान का सबसे Bright यानी चमकीला तारा भी है |

आमतौर पर Astronomers, किसी star की True Brightness को नापने के लिए लगभग 32.6 Light Years जितने Distance का इस्तेमाल करते हैं और उसी के आधार पर Stars की Brightness को Compare करते हैं | इस Distance या दूरी के हिसाब से हमारा सूरज , Sirius Star से लगभग 300 गुना कम चमकीला होता है |

  • Save

Energy Comparison को लेकर चलें, तो सूर्य जितनी चमक या Brightness के लिए हमें लगभग 4 trillion trillion 100 watt के light bulbs की जरुरत पड़ेगी , जिसके बारे में सोचकर भी हमारा दिमाग चकरा जाता है |

और बात हो जब इतनी भयंकर चमक को अपनी आँखों से लगातर देखने की , तो शायद ही आप ऐसा करने की कोशिश करेंगे और हो सकता है कि आप कुछ सेकंडों के बाद ही अपनी नजर हटालें ! well, हम सभी सूर्य को देखते वक़्त ऐसा ही करते हैं | पर दोस्तों , तब क्या होगा जब हम काफी देर तक और लगातार बिना किसी चीज का अनुभव करते हुए सूरज को अपनी आँखों से देखते रहें ?

दोस्तों ! अक्सर जब भी हम sun को देखने की कोशिश करते हैं , तो कुछ seconds के बाद ही हम अपनी पलकें झपकाके उसकी रौशनी से बचने की कोशिश करते हैं और हमें दर भी रहता है कि कहीं इतनी ज्यादा चमक हमें अंधा न करदे !

बहराल दोस्तों ! ये बात भी काफी अधूरी है क्योंकि अंधे होने से पहले ये सूअर्ज की रौशनी आपकी आँखों क्या हाल कर सकती है ! ये शायद ही आपको पता होगा ?

जब भी हम सूरज को Directly अपनी आँखों से देखने की कोशिश करते हैं , तो उससे निकलने वाली Sunlight हमारी Eyeballs को जलाना शुरू कर देती है जिसे Sunburn भी कहा जाता है | ज्यादा देर तक सूर्य को देखने की वजह से उसकी UVA radiations जो UV radiations का ही एक हिस्सा होती है  , हमारे आँखों के transparent part , cornea के cells को damage करना शुरू कर देती है |

ये cornea , हमारी आँखों को बाहरी चीजों से protect करता है जो कई pain receptors से घिरे होते हैं जो सूरज की UVA radiations से होने वाली जलन और दर्द का हमें अनुभव कराते हैं | इसके साथ ही काफी मात्रा में Visible Light सभी हमारे Cornea के cells को ख़त्म कर सकती है | इस कंडीशन को आमतौर पर Photokeratitis कहा जाता है जिसकी वजह से आँखों में दर्द , जलन , धुंधलापन , सूजन और swelling हो जाती है |

  • Save

ये Photokeratitis Effect,  अक्सर लगभग 36 घंटों के बाद समाप्त हो जाता है , बशर्ते आप सूरज को देखना बंद करदें |

दोस्तों ! आपको ये तो पता ही होगा कि अगर हम Sunlight को किसी एक Point पर Focus करते हैं , जैसे किसी Magnifying Glass की  मदद से,  तो उसकी Intensity और Energy बेहद ज्यादा होती है जो किसी भी चीज को जला सकती है |

हमारी आँखों में मौजूद Lens , आमतौर पर Magnifying Lens से 4 गुना ज्यादा Powerful होता है जो काफी मात्रा में Sunlight को एक ही Point पर Focus कर सकता है | अब जैसा कि Cornea एक Transparent Layer है , जिसकी वजह से  सूरज से निकलने वाली High Intensity Light को हमारी आँखों में प्रवेश कर जाती है |

और अगर हम काफी देर तक सूरज को देखते हैं तो हमारा Eyelens उसे आँखों के अन्दर Focus करना शुरू कर देता है जो आगे चलकर आँखों के अंदर के अलग अलग Parts को आसानी से Damage कर सकती है |

इसका सबसे घातक असर हमारे आँखों के अन्दर मौजूद light sensitive tissue , Retina पर पड़ता है | इस Retina में कई Photoreceptors होते हैं जो आँखों में पड़ने वाली Light को Process करके हमारे Brain को Signals भेजते हैं जिसकी वजह से हम चीजो को देख पाते हैं |

काफी मात्रा में retina पर सूरज की रौशनी पड़ने की वजह से free radicals बनना शुरू हो जाते हैं  , जो retina में मौजूद , Cells,  proteins और Photoreceptors को  damage कर देते हैं | इस condition या damage को  आमतौर पर Solar Retinopathy कहा जाता है जो सूरज को लगातार कुछ seconds तक देखने के बाद हो सकती है |

सबसे विचित्र बात तो ये है कि इस retina में कोई pain receptors नहीं होते जिसकी वजह से हमें दर्द का एहसास नहीं होता पर इसकी वजह से कोई भी इंसान स्थायी रूप से अंधा हो सकता है |

  • Save

इसके साथ ही retina में मौजूद Macula Tissue भी Damage हो सकता है जो अक्सर हमें चीजों में दिखने वाली detail में मदद करता है | काफी देर तक सूरज को देखने की वजह से , UV radiations की वजह से  Macular Degenration और Cataract यानी मोतियाबिंद होने की संभावना भी रहती है |

दोस्तों ! इस बात का  ध्यान जरूर रखें कि कभी भी Telescope , Binoculars आदि से Sun को Directly देखने की कोशिश न करें क्योंकि ये Instruments , Sunlight  को इतना Focus कर सकते हैं की कुछ ही Seconds में आपकी Eyeballs ही जल जाएं ! इसके साथ ही कुछ Cases में तो Sunlight  की Reflection से भी बचना चाहिए क्योंकि कुछ Objects जैसे कि पानी  , बर्फ , Glass वगेरा काफी Effective Reflectors होते हैं जो UV Radiations को Reflect करने के बाद भी आपकी आँखों को Damage कर सकते हैं |

  • Save

इन सबके अलावा Solar Eclispe यानी सूर्य ग्रहण को लेकर भी Experts कहते हैं कि इस दौरान सूरज को Directly अपनी आँखों से नहीं देखना चाहिए क्योंकि Retina में Pain Receptors न होने की वजह से आपको दर्द का अनुभव तो नहीं होगा पर लम्बे तक आपकी आँखों में जाने वाली UV light , आपको काफी नुक्सान पहुंचा सकती है |

 

Tags

Shubham Sharma

शुभम शर्मा विज्ञानम् के लेखक हैं जिन्हें विज्ञान, गैजेट्स , रहस्य और पौराणिक विषयों में रूचि है। इसके अलाबा इन्हें खेल और वीडियो बनाना बहुत पसंद है।

Related Articles

Back to top button
Close
15 Shares
Copy link
Powered by Social Snap