Facts & Mystery

यहां छिपाई जाती हैं एलियंस की लाशें, जानें एरिया 51 के ऐसे ही रहस्य

(Area 51 Hindi)

एरिया 51 ( Area 51 Hindi, Aliens Facts In Hindi ), एलियंस को लेकर दुनिया भर के वैज्ञानिक और तर्कशास्त्री बहस करते हैं। कई लोगों का मानना है कि उनका अस्तित्व है तो कई वैज्ञानिक इससे इंकार भी करते हैं। एलियंस को लेकर यह दिलचस्पी अभी 100 साल पुरानी है ही। 100 साल पहले कोई भी इन पर ज्यादा ध्यान नहीं देता था। जैसे – जैसे 20 वीं सदी में विज्ञान और अंतरिक्ष के कार्यों ने जोड़ पकड़ा तो एलियंस पर भी बहस चालू हो गई।

(Who Are The Aliens ) एलियंस कौन होते हैं?

Aliens किसी दूसरी दुनिया और किसी ऐसी जगह से आये हुए प्राणीयों को कहते जो जगह हमारी धरती पर नहीं है। किसी दूसरे ग्रह और किसी दूसरे ही सौर-मंडल से आये प्राणी को हम एलियंस कह सकते हैं। वैसे तो कई बार लोगो ने एलियंस को देखे जाने का दावा किया है पर इन पर कभी भी पुष्टि नहीं हुए ज्यादातर तो झूठे दावे बनकर ही रह गये।

एलियंस के ऊपर शोध करने वाले कुछ वैज्ञानिक अलग ही दावा करते हैं, उनके मुताबिक एलियंस इस धरती पर आये हैं और उन्हें किसी खास जगह पर रिसर्च के लिए कैद करके रखा हुआ है। यह खास जगह उत्तरी अमेरिका के शहर लास वेगास से 80 मील उत्तर-पश्चिम में स्थित है। इस सीक्रेट जगह को ‘एरिया 51 ‘ Area 51 के नाम से जाना जाता है। यह अमरिकी सरकार द्वारा बनाई गई बहुत ही रहस्यमयी जगह है इसके बारे में वहां कि सरकार कुछ भी नहीं बताती है।

यह इलाका अक्सर चर्चा का केंद्र बना रहता है क्योंकि ऐसा माना जाता है कि यहां दूसरे ग्रहों से आए एलियनों के ऊपर शोध कार्य किया जाता है। कई लोगों ने तो यहां तक दावा किया है कि उन्होंने कई बार अनआडेंटिफाइड फ्लाइंग ऑब्जेक्ट (यूएफओ) को वहां उड़ते देखा है।

यहाँ पर मिल चूका है एलियन का शव

साल 1947 में किए गए एक दावे के मुताबिक इस जगह पर एक यूएफओ दुर्घटनाग्रस्त हुआ था। जिसमें से एक एलियन का शव भी बरामद हुआ था। ये एलियन 4 फुट का था और अनगढ़ मानव जैसा दिखता था। कहा जाता है कि एरिया 51 (Area 51 Hindi) के किसी हिस्से में अब भी उस पर रिसर्च चल रहा है।

अमेरिका के नक़्शे में भी इस जगह की कोई जानकारी नहीं

इस जगह के बारे में इतनी गोपनीयता बरती गई है कि अमेरिकी सरकार के किसी नक्शे तक में इसकी कोई जानकारी नहीं है। और काफी साल पहले जब एक नक्शे में इसे दिखाया गया था, तो तुरंत उस नक्शे को बदलकर दूसरा नक्शा लाया गया। क्योंकि अमेरिकी सरकार कभी नहीं चाहती कि एरिया 51 (Area 51 Hindi) के बारे में किसी को पता चले।

खतरनाक है यह जगह

अगर यहां आपकी जान एलियंस और न्यूक्लियर हथियारों से बच जाए, तो भी आप खतरे में हैं। दरअसल, इस जगह पर कई जहरीले मटेरियल्स अनसेफ तरीके से डंप किए गए हैं। इस वजह से यहां रहने वाले लोगों को स्किन डिजीज से लेकर कैंसर तक हो जाता है।

इस जगह पर इंसानों का है प्रतिबन्ध (Area 51 Hindi)

एरिया 51 एक ऐसा स्थान है जो जहां आम आदमियों के जाने पर पूरी तरह से प्रतिबंधित है। इस इलाके के चारों ओर बाड़ लगाया गया है जिससे कि कोई जानवर और इंसान गलती से या धोखे से अंदर नहीं घुस सके। बाड़ों के चारों अत्याधुनिक हथियारों से लैस सुरक्षाकर्मी घूमते रहते हैं।

इस एरिया के आसपास जिन भी लोगों के घर थे, उन्हें अमेरिकी मिलिट्री फाॅर्स ने जबरदस्ती खाली करवाए थे। वजह किसी को बताई नहीं गई, लेकिन जिन्होंने भी जगह खाली करने से मना किया, उन्हें बंदूक की नोक पर डराकर ऐसा करवाया गया।

इस जगह पर कई तरह के प्रतिबंध लगे हुए हैं, सरकार इसे अक्सर टाॅप सीक्रेट ही रखना चाहती है। यहां पर लगे हर होर्डिंग पर लिखा होता है कि किसी भी प्रतिबंधित आदमी को देखते ही गोली मार दी जायेगी।

Aliens Facts In Hindi –

  1. खगोल विज्ञानी  Margaret Turnbull और Jill Tarter ने ऐसे 17,129 तारें और उनके मंडलो का चयन किया है जहां पर ऐलियंस या जीवन की कोई भी संभावना हो सकती है।
  2. वैज्ञानिकों के अनुसार किसी भी ग्रह पर जीवन तभी हो सकता है जब वह ग्रह करीब 3 अरब साल पुराना हो, किसी भी नये ग्रह में शायद जीवन इसी कारण हमें आजतक नहीं मिला है।
  3. सन् 1960 में फ्रैंक ड्रेक नामक एक वैज्ञानिक ने एलियनों से पहली बार संपर्क करने की कोशिश की थी। उस समय करीब 85 फुट की रेडियो डिश इरस्तेमाल की गई थी ताकि उनके द्वारा आने वाले Signals को सुना जा सके।
  4. हर साल ना जाने कितनी Universities  में ऐसे प्रयोग किये जाते हैं जिससे वह लोग एलियंस से संपर्क कर पायें, पर ऐलियंस से हर बार निराशा ही हाथ लगती है।
  5. एलियंस केवल वो नहीं है जो हम फिल्मों में देखते है एलियंस किसी भी  तरह का दीव, सूक्ष्म जीव हो सकता है, ये जरूरी नहीं है कि वह आकार में पृथ्वी के किसी जीव जैसा ही हो।
  6. अब तक कई निजी प्रोजेक्ट्स में करीब 1000 से ज़्यादा तारो को जांचा जा चूका है कि वहाँ एलियन होने के कोई सिग्नल है या नहीं।एलियनों से संपर्क करने में हर साल करीब $50 लाख डॉलर खर्च होते है।
  7. एलियन एक मात्र ऐसा विषय है जिसे लेकर हर साल ना जानें कितनी रिसर्च और थ्योरीज आती हैं। वैज्ञानिकों में भी इन्हें लेकर कई प्रकार के मतभेद हैं।
अगर आप एलियंस को ढूंढना चाहते हैं तो इन तरीकों पर जरुर ध्यान दीजिए,
लोगों को पसंद आ रहे हैं एलियन घर, जो अंतरिक्ष में होने की फील देते हैं

 

इसके बारे में और अच्छे से जानने के लिए आप यह वीडियो जरुर देखें, इसे खास तौर आप पाठकों के लिए तैयार किया गया है।  

Tags

Pallavi Sharma

पल्लवी शर्मा एक छोटी लेखक हैं जो अंतरिक्ष विज्ञान, सनातन संस्कृति, धर्म, भारत और भी हिन्दी के अनेक विषयों पर लिखतीं हैं। इन्हें अंतरिक्ष विज्ञान और वेदों से बहुत लगाव है।

Related Articles

2 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close