Facts & Mystery

देखें विज्ञान से सम्बंधित कुछ ऐसे तथ्य जिनसे कहीं न कहीं हम सीधे तौर पर जुड़े हुए हैं

32 Awesome Science Facts In Hindi

32 Awesome Science Facts In Hindi –  विज्ञान एक ऐसी रोचक तथा आश्चर्यजनक दुनिया है जिससे हम जुड़े तो हुए हैं लेकिन काफी सारी  चीज़ें ऐसी भी हैं जिनसे हम रूबरू शायद ही हो पाते हैं |या यूँ  कहें की जानें अनजानें यह जानकारियाँ हमसे वंचित रहती हैं और हम ध्यान नही देते लेकिन यह जानने योग्य आवश्यक रूप से होती हैं |

आज हम ऐसी ही कुछ रोचक तथ्यों को आपके समक्ष रखने वाले हैं जो निश्चित रूप से हमसे जुडी हुई हैं और हमे इनकी जानकारी होनी भी चाहिए |

1. जब 1883 में क्राकाटोआ फूटा था, तो उसकी फ़ोर्स इतनी महान थी की 4,800 किलोमीटर दूर ऑस्ट्रेलिया मेंभी उसकी आवाज आई थी।

2. 5 बिलियन वर्षो के बाद सूर्य की उर्जा समाप्त हो जाएगी और वो एक लाल गोला बन कर रह जाएगा।

3. पृथ्वी पर हर साल करीब 1 मिलियन भूकंप आते है।

4. सूअर की कामोत्तेजना करीब 30 मिनट तक रहती है।

5. यदि पेट में स्पर्शक ना होते तो पेट स्वयं को ही पचा लेता है।

6. अब तक का सबसे भारी हैलस्टोन (ओला) बांग्लादेश में 1986 में गीरा था, जो पुरे 1 किलो का था।

 

7. अन्त: प्रजनन के कारण 10 में से 3 कुत्ते सुन नही पाते।

8. हर सेकंड में तकरीबन 100 बार बिजलियाँ पृथ्वी से टकराती है।

9. सूर्य प्रकाश को सूर्य से धरती पर आने के लिये 8 मिनट 20 सेकंड लगते है।

10. 12 अक्टूबर 1999 को “दी डे ऑफ़ सिक्स बिलियन” यूनाइटेड नेशन के प्रोजेक्शन के आधार पर रखा गया।

11. दुनिया में जन्मे सभी लोगो में केवल 10% लोग ही इस समय जिन्दा है।

12. हर साल बिजली से 1000 लोंगों की मृत्यु होती है।

13. 1997 में US के वैज्ञानिक ने पहली बार सिंथेटिक ह्यूमन क्रोमोजोम (मानव गुणसूत्र) बनाया था।

14. 1607 में गैलिलियो ने थर्मोमीटर की खोज की थी।

15. 1250 में अंग्रेज इंसान रॉजर बेकन ने मैग्नीफाइंग ग्लास (आवर्धक लैंस) की खोज की।

 

16. एक स्वस्थ मनुष्य के शरीर में 6000 मिलियन, मिलियन, मिलियन हीमोग्लोबिन के अणु होते है।

17. साल्मोन रिच युक्त कम कोलेस्ट्रोल डाइट लेने से दिल की बिमारियाँ कम होती है।

18. दुनिया का सबसे छोटा कीड़ा तंजानियन पैरासिटिक वास्प है जो एक मक्खी की आँख से भी छोटा है।

19. अगर सूर्य की गोलाई बीच बॉल (Beach Ball) के जितनी हो तो वृहस्पति की गोलाई गोल्फ बॉल के जितनी
होगी और पृथ्वी की गोलाई मटर के दाने जितनी होंगी।

20. किसी भी भारी वस्तु को समुद्र की गहराई में पहुचने में करीब 1 घंटा लगता है।

21. पृथ्वी पर जितने इन्सान नही रहते है उससे ज्यादा माइक्रो-ओर्गनिस्म उनके शरीर पर होते है।

22. ग्रे व्हेंल हर वर्ष 12,500 माइल्स दूर आर्कटिक से मेक्सिको जाके वापस आती है।

23. एक रबर 6,500 ऐटम (Atom) से बनता है।

24. प्राचीन समय में, तारों के तारामंडल का उपयोग कैलेंडर का ट्रैक रखने और नेविगेशन के लिए किया जाता था।

25. हमारे ब्रह्मांड में 125 बिलियन से अधिक आकाशगंगाएँ हैं। हमारी आकाशगंगा में लगभग 100-400 बिलियन तारे हैं।

26. एक बड़े तारे के फटने से ब्लैक होल का निर्माण होता है। इसमें एक बहुत मजबूत गुरुत्वाकर्षण बल होता है जो प्रकाश सहित हर चीज को चूसता है!

27. हमारा सौर मंडल ग्रहों, चंद्रमाओं, धूमकेतुओं, क्षुद्रग्रहों, लघु ग्रहों, धूल और गैस से बना है। सब कुछ सूर्य के चारों ओर घूमता है। हमारा सौर मंडल भी मिल्की वे आकाशगंगा में आता है, और इसमें आठ ग्रह हैं।

28. तीन अलग-अलग प्रकार के ग्रह हैं; स्थलीय ग्रह (बुध, शुक्र, पृथ्वी और मंगल), उनके पास बहुत ठोस, चट्टानी सतह हैं; गैस दिग्गज (बृहस्पति, शनि, यूरेनस और नेपच्यून), ज्यादातर जमे हुए हाइड्रोजन और हीलियम से बना; और बौने ग्रह (प्लूटो, सेरेस और एरिस), छोटे गोल ऑब्जेक्ट जो सूर्य की परिक्रमा करते हैं।

29. इंटरनेट और वर्ल्ड वाइड वेब एक ही बात नहीं है। इंटरनेट अन्य छोटे नेटवर्क का एक नेटवर्क है जो पूरी दुनिया में कंप्यूटर को एक साथ जोड़ता है। वर्ल्ड वाइड वेब लिंक किए गए पृष्ठों का एक संग्रह है जिसका उपयोग इंटरनेट और एक वेब ब्राउज़र की मदद से किया जा सकता है।

30. सभी विद्युत उपकरणों में फ़्यूज़ होते हैं। फ़्यूज़ अनिवार्य रूप से आग रोकने वाले हैं। यदि बिजली की वृद्धि होती है, तो फ्यूज टूट जाएगा, किसी भी क्षति या आग को रोक देगा।

31. इलेक्ट्रॉनिक कंप्यूटर 1940 के आसपास विकसित हुए थे और एक बड़े कमरे के आकार के थे। आज, कंप्यूटर इतने छोटे हो गए हैं कि उन्हें अन्य चीजों जैसे कि माइक्रोवेव, खिलौने, सेल फोन आदि में एम्बेड किया गया है।

32. 1495 में, लियोनार्डो दा विंची ने एक ह्यूमनॉइड रोबोट के लिए डिजाइन दिया। आज, उसी डिजाइन से कई रोबोट प्रोटोटाइप बनाए जा रहे हैं।

– 22 ऐसे ज़बरदस्त Science Facts जिन्हें लोग अक्सर समझते हैं झूठ

Tags

Balram Kumar Ray

बलराम कुमार राय विज्ञानम् के गैजेट्स केटेगरी के लेखक हैं. इन्हें टेक्नोलॉजी , गैजेट्स, और Apps पर लिखने में बहुत रूचि है।

Related Articles

Back to top button
Close
0 Shares
Copy link
Powered by Social Snap