Universe

‘द बिग बैंग थ्योरी’ के बारे में जानना चाहते हैं? – Everything about the ‘The Big Bang Theory’!

क्या आप जानते हैं कि हमारा ब्रह्मांड कितना पुराना है?

बिग बैंग थ्योरी (The Big Bang Theory) इस बारे में प्रमुख व्याख्या है कि ब्रह्मांड की शुरुआत कैसे हुई। (Explanation about how the universe began)

यह वह नाम है जिसका उपयोग वैज्ञानिक ब्रह्मांड के सबसे सामान्य सिद्धांत (Theory of Universe) के लिए करते हैं।

भूत-काल की ओर किया गया काम बताता है कि एक समय था जब तापमान (Temperature) और घनत्व (Density) अनंत थे।

बिग बैंग सिद्धांत समझा सकता है कि ब्रह्मांड जिस तरह से दिखता है वह वैसे क्यों दिखता है। यह बताता है कि दूर की आकाशगंगाएँ (Galaxies) हमसे दूर क्यों जा रही हैं। यह हमें यह भी बताता है कि जिस गति से वे हमसे दूर जाते हैं, वह दूरी के समानुपाती (Proportional) क्यों होती है।

यह बताता है कि क्यों दिखाई देने वाला अधिकांश ब्रह्मांड हाइड्रोजन (Hydrogen) और हीलियम (Helium) से बना है।

वैज्ञानिक इस बात से अवगत हैं कि क्या इसका मतलब यह है कि ब्रह्मांड एक विलक्षणता (Singularity) से शुरू हुआ था, या उस समय के ब्रह्मांड का वर्णन करने के लिए वर्तमान ज्ञान अपर्याप्त है।

ब्रह्मांड की विस्तार दर के विस्तृत माप हमें बताते हैं कि बिग बैंग लगभग 13.7 बिलियन साल पहले हुआ था।

यह ब्रह्मांड की उम्र है।

बिग बैंग थ्योरी क्या है – What is The Big Bang Theory?

Timeline of the universe | Want to know about the 'The Big Bang Theory'?
  • Save
This graphic shows a timeline of the universe based on the Big Bang theory and inflation models. (Image Credits: Space)

बिग बैंग सिद्धांत यह है कि ब्रह्मांड हमेशा अस्तित्व में नहीं था। यह बताता है कि शुरुआती ब्रह्मांड गर्म (Hot) और घना (Dense) था।

जैसे-जैसे समय बीतता गया ब्रह्मांड का विस्तार हुआ, और वह ठंडा और कम घना होता गया।

हालांकि, खगोलविदों को कॉस्मिक माइक्रोवेव बैकग्राउंड (Cosmic Microwave Background) नामक एक घटना के माध्यम से विस्तार की “प्रतिध्वनि” दिखाई दे सकती है।

मानक सिद्धांत के अनुसार, हमारा ब्रह्मांड लगभग 13.7 अरब साल पहले “विलक्षणता” के रूप में अस्तित्व में आया था।

एक “विलक्षणता” (Singularity) क्या है और यह कहां से आती है?

सही मायने में, हम यह निश्चित रूप से नहीं जानते हैं।

विलक्षणता क्षेत्र हैं जो भौतिकी की हमारी वर्तमान समझ को परिभाषित करते हैं। उन्हें “ब्लैक होल” (Black Hole) के मूल में माना जाता है।

ब्लैक होल तीव्र गुरुत्वाकर्षण दबाव के क्षेत्र हैं। दबाव को इतना तीव्र माना जाता है कि परिमित द्रव्य वास्तव में अनंत घनत्व में निचोड़ा जाता है।

अनंत घनत्व (Infinite Density) वाले इन क्षेत्रों को “विलक्षणता” (Singularity) कहा जाता है।

‘ब्लैक होल’ के बारे में अधिक जानने के लिए आप यह लेख भी पढ़ सकते हैं – यहां क्लिक करे।

बिग बैंग थ्योरी – आम गलतफहमी (Common Misconceptions)

बिग बैंग सिद्धांत को लेकर कई गलत धारणाएं हैं। उदाहरण के लिए, हम एक विशाल विस्फोट की कल्पना करते हैं।

हालांकि विशेषज्ञों का कहना है कि कोई विस्फोट नहीं हुआ था। एक विस्तार था (और जो अभी भी जारी है)।

उदाहरणार्थ, एक गुब्बारे की पॉपिंग की कल्पना करने के बजाय, एक गुब्बारे के विस्तार की कल्पना करें। एक असीम रूप से छोटा गुब्बारा जो हमारे वर्तमान ब्रह्मांड के आकार का विस्तार करता है।

एक और गलतफहमी यह है कि हम अंतरिक्ष में कहीं दिखाई देने वाले एक छोटे से आग के गोले के रूप में विलक्षणता की छवि बनाते हैं।

हालांकि कई विशेषज्ञों के अनुसार, बिग बैंग से पहले अंतरिक्ष मौजूद नहीं था।

60 के दशक के उत्तरार्ध में और 70 के दशक की शुरुआत में, जब पुरुष पहली बार चंद्रमा पर गए थे। “तीन ब्रिटिश खगोल वैज्ञानिक, स्टीफन हॉकिंग, जॉर्ज एलिस और रोजर पेनरोज (Steven Hawking, George Ellis, and Roger Penrose) ने समय की हमारी धारणाओं के बारे में थ्योरी ऑफ रिलेटिविटी (Theory Of Relativity) और इसके निहितार्थों की ओर उनका ध्यान कराया।

1968 और 1970 में, उन्होंने पेपर प्रकाशित किए जिसमें उन्होंने आइंस्टीन की थ्योरी ऑफ जनरल रिलेटिविटी को बढ़ाया जिसमें समय और स्थान का माप शामिल था।

उनकी गणना के अनुसार, समय और स्थान की एक प्रारंभिक शुरुआत थी जो पदार्थ और ऊर्जा की उत्पत्ति के अनुरूप थी।

अंतरिक्ष में विलक्षणता प्रकट नहीं हुई; बल्कि, विलक्षणता के अंदर अंतरिक्ष शुरू हुआ।

विलक्षणता से पहले, कुछ भी अस्तित्व में नहीं था, न कि स्थान, समय, पदार्थ या ऊर्जा – कुछ भी नहीं।

तो कहाँ और क्या में विलक्षणता दिखाई देती है अगर अंतरिक्ष में नहीं? यह हम नहीं जानते।

हम नहीं जानते कि यह कहाँ से आया है, यह यहाँ क्यों है, या यहाँ तक कि यह कहाँ है।

बिग बैंग सिद्धांत के सबूत – (Evidence for The Big Bang Theory)

The Big Bang Theory | Want to know about the 'The Big Bang Theory'?
  • Save
This illustration depicts a main membrane out of which individual universes arise; they then expand in size through time. (Image Credits: National Geographic)

बिग बैंग सिद्धांत का समर्थन करने वाले प्रमुख सबूत क्या हैं?

    • सबसे पहले, हम तर्कसंगत रूप से निश्चित हैं कि ब्रह्मांड की शुरुआत कभी तो हुई थी।
    • दूसरा, आकाशगंगाएँ अपनी दूरी के समानुपाती गति (Speed proportional to distance) से हमसे दूर जाती दिखाई देती हैं। इसे “हबल का नियम” कहा जाता है, जिसका नाम एडविन हबल (1889-1953) के नाम पर पड़ा जिन्होंने 1929 में इस घटना की खोज की। यह अवलोकन ब्रह्मांड के विस्तार का समर्थन करता है और बताता है कि ब्रह्मांड एक बार संकुचित हो गया था।
    • तीसरा, अगर ब्रह्मांड शुरू में बहुत गर्म था, जैसा कि बिग बैंग बताता है, हमें इस गर्मी के कुछ अवशेष खोजने में सक्षम होना चाहिए। 1965 में, रेडियो खगोलविदों अरनो पेनज़ियास और रॉबर्ट विल्सन ने एक 2.725 डिग्री केल्विन (-454.765 डिग्री फ़ारेनहाइट, -270.425 डिग्री सेल्सियस) कॉस्मिक माइक्रोवेव बैकग्राउंड रेडिएशन (सीएमबी) का अवलोकन किया। जो कि ब्रह्मांड में व्याप्त था।यह ऐसा अवशेष माना जाता है जिसे वैज्ञानिक खोज रहे थे। पेनज़ियास और विल्सन ने अपनी खोज के लिए 1978 में भौतिकी का नोबेल पुरस्कार साझा किया।
    • अंत में, “प्रकाश तत्वों” की प्रचुरता हाइड्रोजन और हीलियम अवलोकन योग्य ब्रह्मांड में पाए जाते हैं, यह उत्पत्ति के बिग बैंग मॉडल का समर्थन करने के लिए सोचा जाता है।

बिग बैंग थ्योरी – केवल प्रशंसनीय सिद्धांत? (Only Plausible Theory)

क्या मानक बिग बैंग सिद्धांत (Big Bang Theory) इन साक्ष्यों के अनुरूप एकमात्र मॉडल है? नहीं, यह सिर्फ सबसे लोकप्रिय है।

अंतर्राष्ट्रीय रूप से प्रसिद्ध एस्ट्रोफिजिसिस्ट जॉर्ज एफ आर एलिस बताते हैं: लोगों को इस बात से अवगत होना चाहिए कि ऐसे कई मॉडल हैं जो टिप्पणियों को समझा सकते हैं।

उदाहरण के लिए, मैं आपके केंद्र में पृथ्वी के साथ एक गोलाकार रूप से सममित ब्रह्मांड का निर्माण कर सकता हूं। और आप इसे टिप्पणियों पर आधारित नहीं कर सकते।

आप इसे केवल दार्शनिक आधार पर मानने से इंकार कर सकते हैं।

मेरे विचार में इसमें कुछ भी गलत नहीं है। हम अपने मॉडल को चुनने में दार्शनिक मानदंडों का उपयोग कर रहे हैं। ब्रह्माण्ड विज्ञान का एक बहुत छिपाने की कोशिश करता है।

2003 में, भौतिक विज्ञानी रॉबर्ट जेंट्री ने मानक सिद्धांत के लिए एक आकर्षक विकल्प प्रस्तावित किया। एक विकल्प जो ऊपर सूचीबद्ध सबूतों के लिए भी है।

डॉ. जेंट्री (Dr. Gentry) का दावा है कि बिग बैंग मॉडल की स्थापना दोषपूर्ण प्रतिमान पर की जाती है। जो कि अनुभवजन्य (Empirical) डेटा के साथ असंगत (Inconsistent) है।

वह आइंस्टीन के स्टैटिक-स्पेसटाइम प्रतिमान पर अपने मॉडल को आधार नहीं बनाने का विकल्प चुनते है।जो वह दावा करता है कि “वास्तविक ब्रह्मांडीय रोसेटा है।”

जेंट्री ने कई पत्र प्रकाशित किए हैं, जिसमें बताया गया है कि वह मानक बिग बैंग मॉडल में गंभीर खामियों को मानते है।

बिग बैंग थ्योरी (Big Bang Theory) – भगवान के अस्तित्व के बारे में क्या (What about the existence God)?

यह सवाल पूछे बिना बिग बैंग सिद्धांत की कोई भी चर्चा अधूरी होगी।

यदि हम इस सिद्धांत को मानते हैं, तो हम ईश्वर के अस्तित्व के बारे में क्या कह सकते हैं?

ऐसा इसलिए है क्योंकि कॉस्मोगोनी एक ऐसा क्षेत्र है जहां विज्ञान और धर्मशास्त्र मिलते हैं।

सृजन (Creation) एक अलौकिक घटना थी। यानी यह प्राकृतिक क्षेत्र के बाहर हुआ।

यह तथ्य इस सवाल को  पूछता है: क्या कुछ और है जो प्राकृतिक क्षेत्र के बाहर मौजूद है?

विशेष रूप से, क्या एक मास्टर वास्तुकार है?

हम जानते हैं कि इस ब्रह्मांड की शुरुआत थी। क्या ईश्वर “प्रथम कारण” था?

इस लेख में हम उस प्रश्न का उत्तर देने का प्रयास नहीं करेंगे।

हम सिर्फ सवाल पूछते हैं और आपको सोचने देते हैं।

भगवान के अस्तित्व के बारे में अधिक पढ़ना चाहते हैं?  इस लेख को पढ़ें।

Sources: Space.com

Tags

Related Articles

Back to top button
Close
1.1K Shares