Facts & Mystery

हिन्दू धर्म में हिमालय को क्यूँ पूजा जाता हैं, क्या है हिमालय का अनसुलझा रहस्य? Himalaya Facts In Hindi.

हिमालय के अंदर मौजूद है एक ऐसी जगह जहां के लोग नहीं मरते!

पूरी पृथ्वी में अगर कोई देश ऐसा है जिस के पास अपार प्राकृतिक सौंदर्य भरा हुआ है तो , वह देश है भारत | भारत को प्रकृति ने बहुत बारीकी से बनाया हैं | इसकी भौगोलिक सुंदरता आज पूरे विश्व में प्रसिद्ध हैं | आज भारत को देखने के लिए देश-विदेशों से कई सारे पर्यटक आ रहें हैं | माथे पर हिमालय (Himalaya Facts In Hindi) का मुकुट और तीनों और अरब , बंगाल और हिन्द महासागर का पानी हमारे देश को बहुत ही ज्यादा आकर्षक बनाता हैं |

हिन्दू धर्म में हिमालय को क्यूँ पुजा जाता हैं ! क्या इसका अन सुलझा रहस्य - Himalaya Facts In Hindi.
टाइगर नेस्ट मोनास्ट्री की फोटो | Credit : Fodors.

हिमालय क्या है?

खैर हिमालय से याद आया की हम लोग आज हिमालय से जुड़ी कई दिलचस्प और रहस्य मई  बातें करेंगे | प्राचीन काल से हिमालय (himalaya facts in hindi) भारत में हिन्दुत्व का मूल आधार रहा हैं | इसके अलावा दुनिया की सबसे ऊँची चोटी Everest इसे दुनिया भर में और भी ज्यादा लोकप्रिय बना देता हैं | मित्रों ! हर कोई हिमालय के बारे में कई सारे बात करते हैं , परंतु हिमालय से जुड़े कुछ ऐसी भी बातें हैं जिस को की बहुत ही कम लोग जानते हैं |

इसके अलावा वेदों , पुराणों और उप-निषदों में कई ऐसे पौराणिक गाथाएँ भी हिमालय से जुड़ी हुई हैं , जिसको की आज के बड़े-बुजुर्ग ही शायद बता पाएँ | इसलिए हमारे जैसे युवाओं के मन में हमेशा यह सवाल उठता है की ,आखिर क्यूँ हम हिमालय को पूजते हैं ? क्या है हिमालय से जुड़ी रहस्यवादी बातें ? क्यूँ हम हिमालय को बहुत ही पवित्र मानते हैं ?

तो , इन सवालों का जवाब आपको कहाँ से मिलेगा ! क्या सोच रहें हैं ? इन सवालों का जवाब आपको यहाँ इस लेख के अंदर मिलेगा | मैंने आगे इस लेख में हिमालय (himalaya facts in hindi) से जुड़ी हर एक बात को आपके लिए प्रस्तुत कर के रखा हैं | तो , लेख को आगे पढ़ते रहें |

आखिर हिमालय को इतना पवित्र क्यूँ माना जाता हैं ?

मित्रों ! दक्षिणी एसिआ में दुनिया का सर्व पुरातन धर्म हिन्दुत्व का जन्म हुआ था | हिन्दुत्व के जन्म से ही हिमालय को काफी भव्य और महत्वपूर्ण माना गया हैं | 2410km लंबी हिमालय (himalya facts in hindi) की पर्वत शृंखला आज कई औषधि वृक्षों का भंडार हैं | इसलिए हिन्दुत्व में हमेशा से ही हिमालय को देव तुल्य या देवता माना गया हैं |

इसके अलावा कई प्राचीन ग्रंथ यह भी बताते हैं की , यहाँ कई सारे देवी और देवताओं का निवास स्थल हैं | हिमालय को कई बार खुद    भगवान जी का घर भी माना गया हैं | “गिरिराज” या पर्वतों का राजा कहे जाना वाला हिमालय हिन्दुत्व में काफी ज्यादा पवित्र माना गया हैं | हिमालय का हर एक कण पावन हैं | यहाँ आपको हर दिशा में धार्मिक गतिविधि होता हुआ नजर आएगा |

हिमालय की महानता आपको इसके ऊँचाई से ही पता चल जाएगा | कई मुनि-ऋषि यहाँ हजारों वर्षों से तपस्या कर रहें हैं | यहाँ आ कर हर एक इंसान के मन में पवित्रता भर जाता हैं | इसके अलावा हिन्दुत्व में हिमालय को मोक्ष प्राप्ति का द्वार भी कहा गया है | अगर पूरे विश्व में देखा जाए तो , आपको हिमालय से ऊँची और इस से महान पर्वत आपको देखने को नहीं मिलेगा |

हिमालय कोदेवात्मा”  का नाम भी दिया गया है , क्योंकि हिमालय का मौलिक तत्व ही धर्म का मूल निव हैं |

हिन्दू धर्म में हिमालय को क्यूँ पुजा जाता हैं ?

अब आपके मन में शायद हिमालय को ले कर कुछ धार्मिक भावनाएँ तो आ ही गई होंगी | खैर फिर भी कई लोग यह पूछते है की , आखिर क्यूँ हिमालय को पुजा जाता हैं ? तो , चलिए आगे इस सवाल का जवाब ढूंढते हैं |

भारत के अंदर आपको कई सारे तीर्थ यात्रा करने के लिए पावन स्थान मिलेंगे , परंतु क्या आप जानते हैं हिमालय के अंदर आपको कई सारे पावन स्थान आपको तीर्थ यात्रा करने के लिए मिल जाएंगे | केदारनाथ , बद्रीनाथ और कैलाश आदि प्रभु शिव जी के मंदिरों के बारे में तो आप जानते ही होंगे | यह सब तीर्थ स्थान आपको हिमालय के अंदर ही आपको मिलेंगे | इसलिए कई बार हिमालय (himalaya facts in hindi) को तीर्थ यात्रीओं का स्वर्ग भी माना गया हैं |

इतने सारे तीर्थ करने वाली जगहों के अलावा पवित्र गंगा , यमुना आदि नदियाँ भी हिमालय के खूबसूरत पर्वतों से निकलती हैं | इसी कारण से हिन्दुत्व में हिमालय को  दुनिया की सबसे पूज्य जगहों में गिना गया हैं |

अध्यात्म का केंद्र बिंदु है हिमालय :-

आज के इस समय में कई सारे लोग मोह-माया से उबर कर अध्यात्म की खोज में निकल रहें हैं | इसलिए आपने कई बार एक दुखी और जीवन से उग चुके इंसान की मुंह से हिमालय जाने की बात एक न एक बार अवश्य ही सुनी होगी | खैर मित्रों यह वास्तविक अध्यात्म नहीं हैं , यह तो सिर्फ मन का एक क्षण भर एक विचार मात्र हैं |

परंतु मेँ आपको यहाँ और भी बता दूँ की पश्चिमी हिमालय को लोग तप और साधना करने का उचित मानते हैं | इसलिए हिमालय के इस हिस्से को तपोभूमि” में कहा जाता हैं | इस हिस्से में आपको पूरा कुमायूँन पर्वत शृंखला ही देखने को मिलेगा | इस के अलावा आपने प्रभु शिव जी की निवास स्थल कैलाश के बारे में तो जानकारी जुटाई ही होगी | कैलाश  के पास स्थित मानसरोवर हिन्दुओं के लिए बहुत ही पूज्य माना गया हैं |

Lake Mansarowar- Sacred Place Of Himalaya.
मानसरोवर का फोटो | Credit : Swarajya.

ऐसा माना जाता है की इस सरोवर के अंदर डुबकी लगाने के बाद आपके सारे कष्ट और कुकर्म हर लिए जाते हैं | सिखों का भी एक तीर्थ स्थल आपको हिमालय के अंदर देखने को मिलेगा | हेमकुंट साहिब नाम से परिचित यह तीर्थ स्थल गुरु गोविंद जी की तपो भूमि के रूप में परिचित हैं | इसके अलावा आप यहाँ कई सारे धार्मिक मंदिर और अन्य सरोवर भी देख सकते हैं |

इतने धार्मिक और अध्यात्म से जुड़ी हुई स्थलों के होने के कारण , यहाँ हर कोई आत्मज्ञान हासिल करने के लिए आता हैं |

साधुओं और योगीओं का कर्म भूमि :-

खैर आम लोगों की बात तो एक जगह है , परंतु हिमालय (himalaya facts in hindi) कई सारे योगीओं , साधकों और संतों का कर्म भूमि हैं | आदि गुरु शंकराचार्य , स्वामी विवेकानन्द आदि कई महान व्यक्तित्व हिमालय को अपना कर्म व तपोभूमि के रूप में पसंद करते थे | इसके अलावा लोकप्रिय वनस्पति वैज्ञानिक जगदीश चन्द्र वशू जी भी हिमालय की महानता से काफी ज्यादा प्रेरित हुए थे |

स्वामी विवेकानन्द जी ने अपना एक खुद का आश्रम भी यहाँ (अलमोरा) पर स्थापित किया था |

हिमालय से जुड़ी अनसुलझे रहस्य – Unsolved Himalayan Mysteries :-

शीर्षक पढ़ कर के आपको थोड़ी सी हैरानी तो हुई ही होगी | मेँ आपको यहाँ बता दूँ की आगे मेँ आपको हिमालय (himalaya facts in hindi) से जुड़ी अन सुलझे बातों का जिक्र करूंगा | तो , आपसे आग्रह है की आगे लेख को पढ़ते रहिए |

1. गुरुडौंगमर झील (Gurudongmar Lake) :-

कंचंझंगा पर्वत शृंखला में स्थित यह झील अपने आप में ही एक अजूबा हैं | इस झील को तीस्ता नदी का उद्गम स्थल भी माना गया हैं | कहावत है की किसी जमाने में झील के आस-पास का इलाका काफी ज्यादा सूखा रहता था और पूरे वर्ष झील ठंड से जमी हुई रहती थी | जमी हुई झील के कारण आस-पास के लोगों को पीने व अन्य कामों के लिए पानी ठीक रूप से मिल नहीं पाता था |

परंतु अगर आप इस झील को गौर से देखेंगे तो , इस झील के अंदर एक निर्धारित स्थान पर सर्दियों के दौरान भी एक ऐसी जगह है जहां का पानी कभी भी नहीं जमती हैं | लोगों का कहना है की बौद्ध धर्म के गुरु “पद्मसंभा” जी ने अपने तपो बल से इस जगह को लोगों के सुविधा हेतु पिघला दिया था | मुझ पर अगर आपको यकीन नहीं आता तो आप एक बार इस झील को खुद जा कर देख लीजिए |

2. टाइगर नेस्ट मोनेस्ट्री (Tiger Nest Monastery) :-

मित्रों ! हिमालय पर्वत शृंखला सिर्फ भारत में ही नहीं हैं | यह भारत के पड़ोसी राष्ट्र नेपाल , चीन और भूटान को हो कर गुजरता हैं | इसलिए यहाँ आपको कई सारे बुद्ध धर्म पीठ देखने को मिलेगा | इन्हीं बुद्ध पीठों के अंदर सबसे प्रमुख बुद्ध पीठ है टाइगर नेस्ट मोनास्ट्री | यह मोनास्ट्री भूटान के एक तीखी पर्वत के किनारे मौजूद हैं | देखने मे सुंदर और प्राकृतिक रूप से एक जोखिम भरी जगह पर होने के बाद भी यह मोनास्ट्री काफी सारे पर्यटकों को आकर्षित करता हैं |

इस मोनास्ट्री के केंद्र में एक खुफिया गुफा मौजूद हैं | माना जाता है की इस गुफा के अंदर बौद्ध धर्म गुरु “पद्मसंभा” 3 साल 3 महीने 3 दिन और 3 घंटे तपस्या किए थे | कुछ लोगों का कहना है की इस स्थान पर गुरु “पद्मसंभा” जी एक बाघ के ऊपर बैठ कर उड़ते हुए आए थे | ठीक इसी वजह से इस जगह का नाम टाइगर नेस्ट हुआ है |

मित्रों ! आपको अगर मौका मिले तो क्या आप इस सुंदर जगह पर जाना पसंद करेंगे | यह स्थान किसी के लिए भी अच्छा ध्यान करने का स्थान हो सकता हैं | हर वर्ष कई सारे संथ यहाँ तपस्या करने के लिए आते हैं |

A mysterious Place in Himalaya.
गुरुडोंगमर झील की फोटो | Credit : Woovly.

3.ज्ञानगंज (Gyan Ganj) , यहाँ के लोग अमर है ! :-

आपने परी कथाओं के अंदर कई सारे अमर सुपर हीरो के बारे मेँ अवश्य ही सुना होगा | परंतु अगर मेँ कहूँ की पृथ्वी पर एक ऐसी भी जगह है जहां के लोग अमर हैं तो , क्या आप मेरे बातों पर विश्वास करेंगे ! खैर विश्वास करना न करना आपकी मर्जी , पर हिमालय के अंदर एक ऐसा गुप्त जगह है जहां के लोग अमर हैं |

हिमालय (himalaya facts in hindi) के सुदूर इलाके में बसा इस जगह का नाम ज्ञानगंज” हैं | यह जगह बाहरी जन सभ्यता से जुड़ा हुआ नहीं है और यहाँ बाहर से कोई भी व्यक्ति नहीं आ सकता | इस जगह को ढूँढने के लिए कई बार पर्वतारोहीओं ने कोशिश की , परंतु वह लोग इसे ढूँढने में सफल न हो सके |

भारत और चीन के बौद्ध संत इस जगह को बहुत ही पवित्र मानते हैं | इस के अलावा कई गुरुओं का मानना है की इस जगह पर सिर्फ एक सिद्ध योगी या साधक जा सकता हैं | यह जगह सिर्फ एक स्थान ही नहीं हैं , यह एक उच्च आयामी स्थल हैं | इसलिए यहाँ जो भी जाता है वह मोक्ष प्राप्ति कर के ही रहता हैं | मित्रों ! आपको क्या लगता हैं ?

हिमालय से जुड़ी कई रोचक तथ्य – Himalaya Facts In Hindi :-

मित्रों ! अब चलिए हिमालय (himalaya facts in hindi) से जुड़ी कुछ रोचक बातों को जान लेते हैं |

  • अकसर लोगों का मानना है की हिमालय सिर्फ एक ही पर्वत है | परंतु मेँ आपको यहाँ बता दूँ की हिमालय कई सारे पर्वत और श्रुखंलायों को ले कर बना हुआ हैं | यह पृथ्वी की सबसे नई पर्वत शृंखला हैं |
  • नई पर्वत शृंखला होने के बाद भी यह काफी ज्यादा पुराना हैं | वैज्ञानिकों के हिसाब से हिमालय आज से 7 करोड़ से साल पहले बना था |
  • आपको जान कर हैरानी होगा की प्रति वर्ष हमारा देश एसिआ के अंदर घुसता ही जा रहा हैं | भारतीय भू-खंड सक्रिय होने के कारण प्रतिवर्ष यह 67 मिलीमीटर एसिआ के अंदर घुसता ही जा रहा हैं | इसलिए हिमालय भी एसिआ में घुसता जा रहा हैं |
  • यहाँ पर हिमालय की और एक बात चौंका देगा | अंटार्टिका और आर्कटिक के बाद हिमालय ही एक ऐसा जगह है जहां पर सबसे ज्यादा वर्फ देखें को मिलता हैं | इसलिए अगर यहाँ का वर्फ ग्लोबल वार्मिंग या किसी अन्य कारण के लिए पिघल जाता हैं तो , पृथ्वी मेँ प्रलय आ सकता हैं |
A beautiful valley of Himalaya's.
हिमालयन घाटी की सुंदर फोटो | Credit : Dook International.
  • हिमालय के अंदर 15,000 से भी ज्यादा ग्लेसिअर मौजूद हैं | कुछ वैज्ञानिक कहते हैं की इन्हीं ग्लेसिअरों के अंदर कुल 12,000 क्यूबिक किलोमीटर की मीठा पानी मौजूद हैं |
  • अगर आपको लगता है की दुनिया की सबसे बड़ी ग्लेसिअर ध्रुवीय इलाके में है तो आप गलत सोच रहें हैं | दुनिया का सबसे बड़ा ग्लेसिअर हिमालय के अंदर मौजूद हैं | इस ग्लेसिअर का नाम “सियाचेन” ग्लेसिअर हैं और यह 48 मिल लंबी हैं |
  • हिमालय पर्वत शृंखला दो समांतर पर्वत श्रुखलाओं से बनी हुई हैं और इन्हीं दो शृंखलाओं के अंदर लंबी और सुंदर सी घाटी मौजूद हैं |
यह बातें हिमालय को बनाता है विशेष :-
  • हिमालय पर्वत शृंखला कुल 612,021 वर्ग किलोमिटर क्षेत्र का है और यह पृथ्वी के स्थल भाग का  0.4% हैं |
  • नेपाल का 76% हिस्सा हिमालय से ही घिरा हुआ हैं | इसलिए इसे नेपाली भाषा में आकाश का माथा” (Forehead of Sky) भी कहा जाता हैं |
  • यहाँ रहस्य मई जानवर येती भी होने का दावा किया जाता हैं |
  • हिमालय का नाम देव “हिमवत” से आया हैं | अगर आपको पता नहीं तो मेँ बता दूँ की देव हिमवत देवी पार्वती” जी की पिताजी हैं|
  • हिमालय कई सारे ऊँची-ऊँची पर्वत के चोटियों का भंडार हैं | दुनिया के 14 ऊँची पर्वत चोटियों में से हिमालय के अंदर आपको 9 चोटियाँ देखें को मिल जाएंगे | इसलिए हिमालय को इतना महान और ऊँचा दर्जा दिया जाता हैं।

Tags

Bineet Patel

मैं एक उत्साही लेखक हूँ, जिसे विज्ञान के सभी विषय पसंद है, पर मुझे जो खास पसंद है वो है अंतरिक्ष विज्ञान और भौतिक विज्ञान, इसके अलावा मुझे तथ्य और रहस्य उजागर करना भी पसंद है।

Related Articles

Back to top button
Close