Health

टीका करण का पूरा विज्ञान – Full Science and Importance Of Vaccination In Hindi.

बचपन में लगाए जाने वाले टीकों के बारे में जानिए कुछ ज्ञानवर्धक बातों को ! आखिर क्यूँ लगाया जाता हैं इन्हें ?

प्रस्तावना – Introduction :-

सबसे पहले आप सभी को स्वतंत्रता दिवस की ढेर सारी शुभकामनाएँ | मित्रों ! आज हम एक ऐसे जमाने में जी रहें हैं , जहाँ विज्ञान बहुत ज्यादा उन्नत हो चुका हैं | हाल ही के समय में विज्ञान ने कई सारे खोज कर लिया है , जिस से हमारा जीवन दिन-प्रति दिन बेहतर होता जा रहा हैं | खैर मैंने इस से पहले रसायन विज्ञान तथा वनस्पति विज्ञान के बारे में काफी कुछ रोचक बातों का जिक्र कर लिया हैं | परंतु मैंने अभी तक हमारे खुद के शरीर के विषय मेँ ज्यादा कुछ नहीं लिखा हैं | तो , आज वह समय है जब मेँ आपसे टीका करण (importance of vaccination in hindi) के विषय पर कई अंजान बातों का जिक्र करूंगा |

मित्रों ! प्राचीन समय में लोग प्लेग और पोलिओ जैसे कई घातक महामारी के कारण अपना जीवन गवा बैठते थे | टीका करण (importance of vaccination in hindi) की कमी इस घातक असुविधा का मूल कारण था | लोगों को सही तरीके से टीके (importance of vaccination in hindi) नहीं लग पाते थे या लोगों के अंदर इस विषय पर उतनी जागरूकता नहीं थी , जिसके कारण कई अमूल्य जीवनों का बलिदान चढ़ता था |

Vaccination is must needed procedure.
टीके और टीका करण | Credit:Infection Control Today.

आज के समय में टीका करण इतनी ज्यादा उन्नत हो चुका है की , इससे हम पोलिओ और चिकन फॉक्स जैसे बीमारियों का जड़ से इलाज व निदान करने में सक्षम रह पाएँ हैं | इसके अलावा मित्रों में आपको बता दूँ की आज के समय में एड्स जैसे बीमारियों का भी टीका ढूंढा जा रहा हैं , जिससे इस का भी जल्द से जल्द निदान किया जा सके |

टीका करण क्या हैं ? – What is Vaccination in Hindi ? :-

मित्रों टीका करण के विषय मेँ कोई भी बात जानने से पहले , हमें जानना होगा की आखिर टीका (Vaccine) किसे कहते हैं | तो , मित्रों टीका एक प्रकार की ऐसी प्रणाली है , जिससे किसी भी जीवित प्राणी के अंदर एक निर्दिष्ट बीमारी (एक व एक से अधिक बीमारियों के लिए भी) से लढने की ताकत को कृत्रिम रूप से बढ़ाया जाता हैं |

आमतौर पर हर एक टीका (importance of vaccination in hindi) बीमारी को प्रतिरोध करने के लिए एंटीबॉडी (antibody) को शरीर के अंदर बनाता हैं | खैर जब हम सब छोटे थे तो , हम सभी को ऐसे कई सारे टीके लगे हुए होंगे , क्योंकि इन्हीं टीकों की बदौलत आज हम स्वस्थ हैं | बचपन से ही इन्हीं टीकों ने हमारे शरीर के अंदर कई प्रकार के एंटीबॉडी का निर्माण करते हुए , हम को कई सारे बीमारियों से बचाया हैं |

जब भी किसी शिशु को टीका (importance of vaccination in hindi) दिया जाता हैं , तब उसके कंधे या पैरो के आसपास के जगह पर एक सुई के सहारे किसी भी बीमारी का एक कमजोर नमूना (sample) उस के शरीर के अंदर भेजा जाता है | जब यह नमूना शरीर के अंदर पहुँच जाता हैं , तब यह उस बीमारी के अनुसार एंटीबॉडी का निर्माण करता है और हमें उस रोग से भी बचाता हैं |

में आपको और भी बता दूँ की जब एक बार किसी भी एंटीबॉडी का निर्माण हो जाता हैं , तब वह एंटीबॉडी हमारे शरीर के अंदर जीवन भर प्राकृतिक रूप से मौजूद रहता हैं |

टीका करण करवाने का महत्व – Importance Of Vaccination In Hindi :-

मित्रों ! सीधा-सीधा कहूँ तो टीका सब के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण हैं , चाहे वो एक बच्चा , बुद्ध व्यक्ति या स्वस्थ वयस्क आदमी हो | इसलिए आज हर एक देश के अंदर जन्मे अपने-अपने नागरिकों के लिए एक निर्धारित टीका करण (importance of vaccination in hindi) की सूची बनाई गई हैं |

औसतन एक शिशु को उसके छटे जन्मदिन तक 14 टीके लगते हैं | कई वैज्ञानिक टीका करण को ही शरीर के रोग-प्रतिरोधी शक्ति का एक अहम हिस्सा मानते हैं | इसलिए टीका करण हमारे लिए बहुत मायने रखता हैं क्योंकि यह हर प्रकार से हमारी मदद करता है |

टीका करण की एक संखिप्त इतिहास – History of Vaccination :-

वैसे तो टीका करण की प्रथा बहुत प्राचीन समय से चली आ रही हैं, परंतु 1796 मेँ सबसे पहले आधुनिक टीका करण का इजात हुआ | एडवर्ड जेनर ने इसी साल दुनिया की सबसे पहला टीका को खोज कर निकाला था | उस समय पृथ्वी भर के वैज्ञानिकों ने इस खोज को काफी सरहना किया था |

इसके बाद 1798 मेँ स्माल फॉक्स का टीका निकाला गया था , जिससे इंसानों के शरीर के अंदर होने वाले इस भयानक रोग को सफलता पूर्वक रोका गया | जेनर से काफी ज्यादा प्रेरित हो कर लुईस पाश्चर ने इंसानों के कोलेरा का टीका निकाला|

Vaccination for Life.
टीका करण आपकी जान बचा सकता हैं | Credit: Amazon.

1890 से ले कर 1950 के अंदर काफी सारे टीकों का निर्माण हुआ , जिसमें BCG का टीका भी हैं | 1950 के बाद की सालों मेँ अत्याधुनिक कम्प्यूटर और तकनीक के जरिए कई सारे टीकों का आधुनिकरण किया गया , जिसमें सल्क पोलिओ टीका भी शामिल हैं |

मेँ आपको बता दूँ की इसी सल्क पोलिओ टीका के वजह से आज पृथ्वी के कई सारे देशों से पोलिओ को निदान किया जा चुका हैं | मित्रों ! आज कई सारे टीके इंसानों के लिए मौजूद हैं , जो की कई सारे बीमारियों को हमारे शरीर पर नहीं होने देती हैं , और एक बात इन्हीं टीकों के जरिए आज हमारा भारत पोलिओ और चीकन फॉक्स जैसे रोगों से मुक्त हैं |

टीकों से जुड़ी कुछ रोचक बातें – Amazing Facts about Vaccines in Hindi:-

आपने इस से पहले ब्लैक होल , चाँद और भूताणुओं के विषय पर काफी कुछ रोचक बात पढ़ा होगा , परंतु क्या आपने इससे पहले किसी टीका (importance of vaccination in hindi) के विषय मेँ कुछ रोचक बात पढ़ा हैं ? नहीं ना ! इसलिए मित्रों मेँ यहाँ पर आपको कुछ ऐसे टीकों से जुड़ी दिलचस्प तथ्य बताऊंगा जिस के बारे में आपने शायद ही सुना होगा |

तो , देरी किस बात की चलिए जानते हैं टीकों से जुड़ी कुछ रोचक बात |

1. हर एक टीके की जान है – व्हाइट ब्लड सेल (WBC) :-

मित्रों! एक बात का आप हमेशा ध्यान रखना की , हमारा जो शरीर है यह काफी ज्यादा चालक हैं | प्रकृति में अगर किसी भी जीव को जिंदा रहना हैं तो , उसको चालक होना ही पड़ेगा | खैर जब हमारे शरीर के अंदर किसी भी प्रकार का टीके को लगाया जाता हैं तो , शरीर के अंदर मौजूद WBC (white blood cell) उसी टीके के अंदर मौजूद भूताणुयों या किटाणुओं को प्रतिरोध करने वाला एंटीबॉडी का निर्माण करता हैं |

WBC is most important conponenet of Vaccination. टीका करण का पूरा विज्ञान - Full Science and Importance of Vaccination in Hindi.
डबल्यूबीसी की एक फोटो | Credit : Medical News Today.

इसलिए अगर हमारे शरीर के अंदर WBC न होता तो , किसी भी प्रकार का टीका सही प्रकार से काम नहीं कर पाता | WBC ही एक टीके की जान हैं |

2. इन रोगों को दुनिया से लुप्त कर दिया हैं टीकों ने :-

मैंने ऊपर ही टीकों के जरिए लुप्त हुए कुछ रोगों के बारे में जिक्र किया हैं | परंतु और भी रोग है जो की टीकों के जरिए आज लुप्त हो चुके हैं और उन्हीं रोगों के अंदर रिंडर पेस्ट और रूबेला आदि शामिल हैं |

3. दुनिया की सबसे प्राचीन उपचार प्रणाली (medical treatment) हैं – टीका करण :-

आपको क्या लगता हैं , टीका करण की प्रणाली कितनी पुरानी होगी ? मित्रों ! टीका करण की प्रणाली हजारों साल पुरानी प्रणाली है , जिसे की सबसे पहले चीनी लोग इस्तेमाल करते थे | खैर मेँ आपको और भी बता दूँ की, किसी भी प्रकार की एंटीबायोटिक या एनेस्थेसीया के इजात के कई हजारों साल पहले ही टीकों का आविष्कार हो चुका था|

इसलिए तो टीकों को (importance of vaccination in hindi) दुनिया का सबसे प्राचीन उपचार प्रणाली (medical treatment) कहा जाता हैं |

4. टीकों का किसी भी प्रकार का मुख्य साइड इफेक्ट नहीं होता हैं :-

आपने जब भी किसी भी औषधि के बारे मेँ सुना होगा तो , आपके मन मेँ सबसे पहले उस के साइड इफेक्ट को जानने की जिज्ञासा तो जरूर ही उठा होगा | खैर बाकी औषधियों का तो पता नहीं , परंतु हाँ ! ज़्यादातर टीकों का किसी भी प्रकार का साइड इफेक्ट नहीं होता हैं |

Vaccine is Safe.
टीका करण बिलकुल सुरक्षित है | Credit : 1234RF.

इसलिए तो टीकों को बड़ी आसानी से बिना चिंता किए शिशुओं को दिया जाता हैं | मित्रों ! और एक बात टीकों से आपको क्षण भर भी डरने की जरूरत नहीं हैं , क्योंकि यह हमारे लाभ के लिए ही लगाए जाते हैं | अगर यह आज न होता तो न जाने हम कितने सारे रोगों के चपेट में आ चुके होते | टीकों से होने वाले साइड इफेक्ट बहुत ही दुर्लभ हैं और टीकों की आधुनिकरण के वजह से यह आज देखने को ही नहीं मिलते हैं |

6. आपके जीवन को अकेला 51% बचाता है एक टीका :-

शीर्षक मेँ लिखा हुआ एक-एक शब्द बिलकुल सच हैं | टीकों की ताकत बहुत ज्यादा होती हैं | हाल ही मेँ वैज्ञानिकों ने टीकों के ऊपर एक अध्ययन किया था , जिसमें की उन्होंने एक फ्लू के भूताणु (Flu) को एक रोग के नमूने के हिसाब से इस्तेमाल किया था |

खैर उनके अध्ययन से यह पता चला की , जिन शिशुओं को किसी भी कारण से फ्लू के टीके नहीं लग पाए उन शिशुओं की बचने की क्षमता 51% घाट गया और जिन शिशुओं को यह टीका सही समय पर लगाया गया था , उन शिशुओं की बचने की क्षमता 51% बढ़ गया था |

इसलिए मित्रों ! इंसानों के बच्चों को सही समय पर सही टीके लगने जरूरी हैं | इन्हीं टीकों  से आप और हम आज कई स्वस्थ काम कर पा रहें हैं |

खैर आब इस लेख को समाप्त करने का वक़्त आ गया है , परंतु जाने से पहले आप सभी लोगों से एक बात आग्रह करना चाहूँगा की , जितना हो सके इस लेख को शेयर कीजिए ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग टीकों के विषय मेँ जान पाएंगे | इस से लोगों के अंदर जागरूकता बढ़ेगी और हमारा देश एक स्वस्थ देश बनेगा |

Tags

Bineet Patel

मैं एक उत्साही लेखक हूँ, जिसे विज्ञान के सभी विषय पसंद है, पर मुझे जो खास पसंद है वो है अंतरिक्ष विज्ञान और भौतिक विज्ञान, इसके अलावा मुझे तथ्य और रहस्य उजागर करना भी पसंद है।

Related Articles

Back to top button
Close