दुनिया में कुछ लोग ऐसे भी हैं जो खातें हैं इन घिनोने कीड़ो को, बेहद विचित्र

0
24
views

भोजन हमारे लिए बेहद जरूरी होता है, इससे हमें ऊर्जा मिलती है जिससे हम अपने दिन भर के काम करते हैं। भोजन आमतौर पर दो तरह का होता है शाकाहारी और दूसरा मांसाहारी, दुनिया में लोग इन दो तरह के भोजन का प्रयोग करते हैं। इनमें से मांसाहारी लोगों की संख्या ज्यादा है। मांसाहारी भोजन मांस द्वारा प्राप्त किया जाता है तो शाकाहारी भोजन फल और पत्तियों के द्वारा।

भोजन का ये क्रम कई वर्षों से चला आ रहा है, पर इस क्रम में कुछ लोगों ने कीड़ो को भी जोड़ दिया है, इन लोगों को कीड़ो में बहुत प्रोटीन और विटामीन दिखाई देता है जिसके कारण ये लोग घिनोंने कीडों को खाने से भी परहेज नहीं करते हैं। आइये जानते हैं कि दुनिया भर में लोग किस तरह के कीड़ो को खाने लगे हैं –

मोपेन कैटरपिलर्स (Mopane Caterpillar) 

पतंगे (Moth) का यह अविकसित रूप अफ्रीका के दक्षिणी हिस्सों में काफी पाया जाता है। इस इलाके में मोपेन इल्ली का पालन लाखों डॉलर्स की इंडस्ट्री के तौर पर विकसित हो चुका है। यहां महिलाएं और बच्चे इस कीड़े की अविकसित इल्ली को इकट्ठा करने का काम करते हैं। आमतौर पर इल्ली को नमक के पानी में उबाला जाता है और फिर धूप में सुखाया जाता है। ऐसा करने से इन्हें बिना रेफ्रिजेशन के लंबे समय तक सुरक्षित रखे जा सकता है। यहां की ज्यादातर आबादी इन्हे भोजन के तौर पर इस्तेमाल में लाती है। जहां एक ओर गाय के 100 ग्राम मांस में 6 मिलीग्राम आयरन होता है, वहीं मोपेन कैटरपिलर के 100 ग्राम में 31 मिलीग्राम आयरन पाया जाता है। ये पोटेशियम, सोडियम, कैल्शियम, फास्फोरस, मैग्नीशियम, जिंक, मैगनीज और कॉपर का भी अच्छा स्रोत है।

टिड्डा (Chapulines) 

यह स्फेनेरियम प्रजाति का टिड्डा है। मेक्सिको में इसे बड़े चाव से खाया जाता है। आमतौर पर इन्हें भूनकर लहसुन की चटनी, नींबू के रस और नमक से साथ खाया जाता है। गौरतलब है कि टिड्डों में प्रोटीन की काफी मात्रा होती है। यह भी कहा जाता है कि टिड्डे में 70 प्रतिशत से ज्यादा प्रोटीन की  मात्रा होती है।

Witchetty Grub

कीड़े के लकड़ी खाने वाली सफेद इल्ली को ऑस्ट्रेलिया में इस नाम से पुकारा जाता है। कच्चा खाने पर इसका स्वाद बादाम की तरह होता है। गर्म कोयले पर हल्का भूनने पर इसकी त्वचा कुरकुरी हो जाती है और इसका स्वाद भूने गए चिकन की तरह होता है। यह मिट्टी के अंदर विकसित होते हैं और पेड़ों की जड़ों को खाकर अपना पोषण करते हैं।

दीमक (Termite)

आप घर के फर्नीचर को नुकसान पहुंचाती दीमक से छुटकारा पाना चाहते हैं? तो दक्षिण अमेरिका और अफ्रीका के लोगों का अनुसरण कीजिए। आप दीमक को फ्राय करके, सुखाकर और उबालकर खा सकते हैं। दीमक में 38 फीसदी प्रोटीन होता है और इसकी वेनेजुएला प्रजाति में प्रोटीन की 64 प्रतिशत मात्रा होती है। दीमक में आयरन, कैल्शियम और अमीनो एसिड भी होता है।

अफ्रीकी घुन (Rhynchophorus ferrugineus)

तकरीबन 4 इंच लंबी (10 सेंमी) और 5 दो इंच (5 सेमी) चौड़ी घुन कई अफ्रीकी जनजातियों का पसंदीदा भोजन है। इन्हें फ्राई करने के अलावा वे इसे कच्चा भी खाते हैं। जरनल ऑफ इन्सेक्ट साइंस की की 2011 में प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक अफ्रीकी घुन पोटेशियम, जिंक, आयरन और फास्फोरस जैसे कई पोषक तत्वों का स्रोत है।

गुबरैले का लार्वा (Mealworm)

गुबरैले की इल्ली इकलौता ऐसा कीट है जो पश्चिमी दुनिया में खाया जाता है। नीदरलैंड में इन्हें इंसानों और जानवरों के खाने के लिए ही विकसित किया जाता है। इनसे कॉपर, सोडियम, पोटेशियम, आयरन, जिंक और सेलेनियम जैसे पोषक तत्व प्राप्त होते हैं।।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here