Strange Science - विचित्र विज्ञान

दिमाग के होश उड़ा देने वाली पांच Sci-Fi Movies, आपकी सोच को बदल कर रख दें

Sci-Fi (Science Fiction) Movies Hindi अगर आप फिल्मों के शौकीन हैं और खासकर विज्ञान से जुड़ी फिल्मों में आप ज्यादा रूचि रखते हैं तो यह लेख आपके लिए ही है। इस लेख में मैं आपको पांच ऐसी फिल्मों के बारे में बताऊँगा जो आपकी विज्ञान की सोच को ही बदल कर रख देंगे। मैं शर्त लगाता हूँ कि आप इन फिल्मों को एक बार में समझ नहीं पायेंगे। चलिए शुरु करते हैं –

1 – नंबर एक पर है सोर्स कोड़ ( Source Code )

 Source Code Movie Explained In Hindi 

इस फिल्म में एक कंप्युटर प्रोगाम द्वारा एक नकली दुनिया को बनाया गया है जिसमें एक सैनिक को बार – बार प्रवेश कराया जाता है। वह सैनिक जिस नकली दुनिया में जाता है वह दुनिया वैज्ञानिकों ने लोगों की मेमोरी से तैयार की है। इस दुनिया का अस्तित्व केवल 8 मिनट का होता है जिसमें उस व्यक्ति को एक रहस्य सुलझाना होता है। दरअसल शहर में भयानक ट्रेन हादसे में कई लोग मारे जाते हैं जिसे एक बम द्वारा अंजाम दिया जाता है। हादसे में सभी लोगों की मौत हो जाती है, उन्ही सभी मृत लोगों की मेमोरी को प्रोसेस करके एक नकली दुनिया का निर्माण किया जाता है जिसमें एक सैनिक को बार-बार भेजा जाता है ताकि वह उस अपराधी का पता लगा सके जिसने उस ट्रेन को बम से उड़ाया था। इस फिल्म की खास बात ये है कि इसमें जो 8 मिनट की नकली दुनिया दिखाई जाती है वह एकदम असली दुनिया की तरह ही सैनिक को लगती है। अधिक जानकारी के लिए ये वीडियो देखें –

2 – 2001: A Space Odyssey 

2001: A Space Odyssey Movie Explained In Hindi 

साल 1968 में आई इस फिल्म ने सभी लोगों की सच को बदल कर रख दिया था। इस फिल्म में यह दिखाया गया है कि कैसे हम अपने पूर्वजों जैसे कि वानरों से विकसित होकर के इंसान बने हैं। फिल्म के पहले सीन में कई बंदर आपस में लड़ाई कर रहे होते हैं तभी उनके सामने एक बेहद ही अजीब सी आकृति वाला मोनोलिथ गिरता है जो कि पूरा 90 डिग्री जमीन से खड़ा हुआ है। इस रहस्यमयी मोनोलिथ को देखकर वह बंदर थोड़ा ज्यादा दिमाग को विकसित कर पाते हैं जिस कारण वह आग जलाना, शिकार करना और भोजन पकाना सीख लेते हैं। इसी तरह ये मोनोलिथ फिर इंसानो को 40 लाख साल बाद दिखाई देता है तो वह उनकी जिंदगी को कैसे आगे बढ़ाता है वही इस फिल्म में दिखाया गया है। अधिक जानकारी के लिए ये वीडियो देखें –

3 – The Cloverfield Paradox

The Cloverfield Paradox Movie Explained In Hindi 

साल 2018 में आई इस फिल्म में समानातंर ब्रह्मांड (Parallel Universe ) को दिखाया गया है जिसमें बताया गया है कि इस सृष्टि में एक से ज्यादा ब्रह्मांड मौजूद हैं जो एकदम समान हैं यानि जो इस धरती पर आप हैं वही दूसरे ब्रह्मांड की धरती पर आप भी होगें। इस तरह जितने ब्रह्मांड उतने ही आपके रूप। फिल्म में पृथ्वी पर कोई संकट आ जाता है जिसके कारण स्पेस स्टेशन के वैज्ञानिक अपनी पार्टिकल को प्रकाश की गति से चलाने वाली मशीन को चालु कर देते हैं जिससे वह दूसरे आयाम में घूसकर एक अलग ब्रह्मांड की अलग पृथ्वी पर पहुँच जाते हैं। फिल्म देखने में बहुत प्रभावशाली है और Parallel Universe के सिद्धांत जिसके बारे में योगवासिष्ठ ग्रंथ में है उस पर केंद्रित है। अधिक जानकारी के लिए ये वीडियो देखें –

4 – Arrival (2016)

Arrival Movie Explained In Hindi 

साल 2016 में आई इस फिल्म में एक ऐसी ऐलियन सभ्यता के कुछ ऐलियन को दिखाया गया है जो पृथ्वी पर आकर के हम लोगों को कुछ नयी भाषा सिखाना चाहते हैं ताकि वह बाद में हमारी मदद ले सकें। फिल्म के शुरु होते ही दुनिया में अफरा-तफरी मच जाती है क्योंकि 12 ऐलियन विमानों ने धरती की 12 जगहों पर लैंड किया है। वैज्ञानिक ऐलियन के यान में घुसकर उनसे संपर्क और बात करने कि कोशिश करते हैं पर इसमें भाषा की दिक्कत सामने आ जाती है।

दरअसल वे ऐलियन जिस भाषा का इस्तेमाल करते हैं वह एक ऐसी भाषा है जो लिनियर – Linear नहीं है यानि हमारी तरह सीधी भाषा नहीं है जिस तरह हम एक लाइन में बाईं से दाईं और लिखते है, उनकी भाषा गोल अक्षरों की तरह है जिसकी बनावट एकदम अलग है, इस भाषा में वह भूत, भविष्य की भी बात बता पाते हैं और लिख पाते हैं इसलिए ये भाषा बहुत रोचक बन जाती है। फिल्म ऐलियन की इसी रहस्यमयी भाषा को समझने के इर्द-गिर्द घूमती है। अधिक जानकारी के लिए ये वीडियो देखें –

5 – Predestination (2014)

Predestination Movie Explained In Hindi 

साल 2014 में आई ये फिल्म समय यात्रा के सिद्धांत पर प्रस्तुत की गई थी जिसमें एक दी आदमी समय में पीछे जाकर के अपने ही अनेक रूपों से बात करता है और उन्हें कुछ गलत करने से रोकता है। वह भूतकाल में जाकर के एक बम को डिफ्युज करना चाहता है जो खुद उसके भविष्य के रूप ने लगाया हुआ होता है। इस फिल्म में समय यात्रा की गुत्थी इस कदर है कि इसे बिना देखे समझना बहुत मुश्किल है। इस फिल्म में एक ही मनुष्य स्त्री और पुरुष दोनों रूपो में होकर के एक साथ ही अपने आप को पैदा करता है। रहस्य से भरी हुई है ये फिल्म। अधिक जानकारी के लिए ये वीडियो देखें –

Tags

Shivam Sharma

शिवम शर्मा विज्ञानम् के मुख्य लेखक हैं, इन्हें विज्ञान और शास्त्रो में बहुत रुचि है। इनका मुख्य योगदान अंतरिक्ष विज्ञान और भौतिक विज्ञान में है। साथ में यह तकनीक और गैजेट्स पर भी काम करते हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close