Browse By

Tag Archives: Rituals

क्या आप जानते हैं जनेऊ धारण करने का वैज्ञानिक महत्व

हमारे शास्त्रो में जनेऊ का विशेष महत्व होता है, जनेऊ बालको को पहनाया जाता है ताकि वे शांत – चित्त होकर के विद्या अध्ययन कर सके और साथ में जनेऊ उनकी ब्रह्मचर्य बलि होने में भी सहायता करता है। आप मेंसे बहुतो ने जनेऊ धारण

शायद आप नहीं जानते पर अगरबत्ती जलाने से हमारे ऊपर यह प्रभाव पड़ते हैं

भारतीय हिन्दू समाज में हर रीति-रिवाज में अगरबत्ती का बड़ा महत्व है। हर मंदिर और घर में इसका प्रयोग होता है, सुंगध से भरी बत्ती सभी को मोहित कर देती है। अगरबत्ती आप रोज जलाते हैं पर शायद ही आप इसके पीछे का कारण जानते

हिंदू महिलाएं आखिर पैरों में सोना क्यों नहीं पहनती, जानें धार्मिक और वैज्ञानिक कारण

हिन्दू धर्म में 16 संस्कारों की बात कही जाती है जिसमें कई तरह के संस्कार शामिल हैं। सजने-सवरने के लिए हिन्दू महिलाएं अपने पैरो में पायल और बिछवा पहनती हैं, पर ये सभी चीजें चांदी की बनी होती है। दोस्तों इस बात से तो हर

आखिर क्यों ये सेक्स वर्कर मणिकर्णिका शमशान घाट पर जलती चिताओं के पास पूरी रात नाचती हैं

हमारा देश कई रहस्यों से भरा हुआ है, हर जगह आपको कोई ना कोई अनोखी बात या रहस्य देखने और सुनने को मिल ही जाता है। हिन्दू धर्म में चिताओं को अग्नि दी जाती है। अग्नि देने का कार्य शमशान घाट पर संपन्न होता है। काशी

16 श्रृंगार, जानिए स्त्रियों के लिए क्या है इनका महत्व

श्रृंगार भारतीय पंरपरा का वह हिस्सा है जो सदियों से चला आ रहा है। हिन्दु स्त्रियों के लिए 16 श्रृंगार का विशेष महत्व है। विवाह के बाद स्त्री इन सभी चीजों को अनिवार्य रूप से धारण करती है। हर एक चीज का अलग महत्व है। यहां जानिए

आखिर क्यों रास्ते पर पड़े नींबू मिर्च पर नहीं रखना चाहिए पैर??

हमारा देश टोटकों, मत्रों और तांत्रिक अनुष्ठानों का देश है, भारत के हर कोने में कई प्रकार के रीति रिवाज अपनाये जाते हैं जो अपने आप में बेहद विचित्र होते हैं। ऐसे ही हर जगह नीबूं का भी उपयोग होता है, नींबू का उपयोग अमूमन

भारत की बेहद भयानक और विचित्र परंपराएँ

भारत परम्पराओं का देश है।  यहां के हर हिस्से से कोई ना कोई अनोखी परम्परा जुडी हुई है।  सैकड़ो सालों से चली आ रहीं ये परपंराएँ अपने आप में बेहद विचित्र हैं और हो सकता है इन्हें जानकर आपको डर भी लगें। इन परंपराओं में अंधविश्वास

जानिए, एकादशी व्रत में चावल न खाने का वैज्ञानिक और धार्मिक कारण

हिन्दू धर्म में एकादशी का बड़ा महत्व है, हर एकादशी को वर्त रखने का विधान बताया गया है।  वर्ष की चौबीसों एकादशियों में चावल न खाने की सलाह दी जाती है। ऐसा माना गया है कि इस दिन चावल खाने से प्राणी रेंगने वाले जीव