अमेरिकी वैज्ञानिकों ने खोजा पानी को तोड़ने का एक नया तरीका

यूनिवर्सिटी ऑॅफ ह्यूस्टन के Physicist  ने पानी से Hydrogen और Oxygen अलग करने का एक नया तरीका निकाला है. यह तरीका भविष्य में स्वच्छ हाइड्रोजन ईंधन तैयार करने का प्रभावी तरीका हो सकता है. यूनिवर्सिटी ने विज्ञप्ति में बताया कि यह खोज पानी से हाइड्रोजन निकालने की प्राथमिक बाधाओं में से एक को दूर करती है।

इस दल के सदस्यों में से एक पाउल सी डब्ल्यू चू ने कहा, ‘हाइड्रोजन सबसे स्वच्छ प्राथमिक ऊर्जा स्रोत है. अगर कोई उत्प्रेरक की मदद से पानी में ऑक्सीजन के मजबूत बॉन्ड से हाइड्रोजन को अलग करे तो पानी हाइड्रोजन का सबसे प्रचुर स्रोत हो सकता है। पानी को हाइड्रोजन और ऑक्सीजन में अलग करने के लिए प्रत्येक तत्व के लिए दो प्रतिक्रिया की जरूरत होती है।’

ऑक्सीजन के हिस्से के समीकरण के लिए प्रभावी उत्प्रेरक को प्राप्त करना मुख्य परेशानी का सबब होता है, जिसके बारे में अनुसंधानकर्ताओं का कहना है कि उन्होंने अब इसे प्राप्त कर लिया है. यह उत्प्रेरक लौह मेटाफॉस्फेट और एक कंडक्टिव निकेल फोम प्लेटफॉर्म का बना होता है. अनुसंधानकर्ताओं का कहना है कि इन पदार्थों का मिश्रण मौजूदा समय के समाधान से ज्यादा प्रभावी और कम खर्चे वाला है।

यह परीक्षण में बहुत ज्यादा टिकाऊपन भी दिखाता है क्योंकि यह 20 घंटे और 10,000 चक्रों के बाद भी बिना किसी प्रतिक्रिया के संचालित होता है. इस नए तरीके का इस्तेमाल करने का मतलब यह है कि अब बिना कार्बन उत्सर्जन के ही हाइड्रोजन उत्पादित किया जा सकता है।

स्रोत – एजेंसी

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *