Browse By

Category Archives: Religious

ये है भगवान शिव का अघोर रुप, जानें शिव से जुड़े रहस्यमयी प्रश्नों के उत्तर

भगवान शिव हिन्दुओं के प्रमुख देव हैं और उन्हें देवों के देव ‘महादेव’ भी कहते हैं। भगवान शिव के वैसे तो कई रुप हैं पर अघोर रुप ज्यादा रहस्मयी और विचित्र है, आज हम उसी रुप के बारे में हम आपको बतायेंगे….. भगवान शिव का

ऐसा राजा जिसे इतिहास ने भूला दिया, बनाया था भारत को सोने की चिड़िया

बड़े ही शर्म की बात है कि महाराज विक्रमदित्य के बारे में देश को लगभग शून्य बराबर ज्ञान है, जिन्होंने भारत को सोने की चिड़िया बनाया था, और स्वर्णिम काल लाया था उज्जैन के राजा थे गन्धर्वसैन , जिनके तीन संताने थी , सबसे बड़ी

रामनामी समाज – पुरे शरीर पर लिखवाते हैं राम नाम।

भारत अनोखा देश हैं विविध प्रकार की संस्कृति से भरे हुए देश में हमेशा कुछ ना कुछ नया मिल ही जाता है। भारत में हर प्रकार के धर्म को पालने की शक्ति है। आपको भारत में हमेशा नया देखने को मिल ही जायेगा और शायद

रामायण नहीं है कोई काल्पनिक घटना, सच साबित करते हैं ये तथ्य

रामायण और भगवान राम से हिन्दुओं की आस्था जुड़ी हुई है, लेकिन अकसर ये सवाल उठते रहे हैं कि क्या सच में भगवान राम का इस धरती पर जन्म हुआ था? क्या रावण और हनुमान थे? हम उनको तो किसी के सामने नहीं ला सकते

आखिर क्यों रास्ते पर पड़े नींबू मिर्च पर नहीं रखना चाहिए पैर??

हमारा देश टोटकों, मत्रों और तांत्रिक अनुष्ठानों का देश है, भारत के हर कोने में कई प्रकार के रीति रिवाज अपनाये जाते हैं जो अपने आप में बेहद विचित्र होते हैं। ऐसे ही हर जगह नीबूं का भी उपयोग होता है, नींबू का उपयोग अमूमन

तो ये हैं हिन्दू परम्पराओं से जुड़े वैज्ञानिक तर्क

हिन्दू धर्म परंपराओं का धर्म है, आपको इसमें हजारों परम्पराएं मिल जायेंगी जो किसी ना किसी कारण और उद्देश्य से बनाई गई हैं। वैसे तो बहुत ही कम लोग परंपराओं के वैज्ञानिक तर्क जानते हैं फिर भी इन्हें अपनाते हैं। आईये आज हम इन्हीं परंपराओं

भविष्य पुराण की वह भविष्यवाणियाँ जो आज भी हैं अचूक

वेद भारत की आत्मा हैं, वेदों में जो ज्ञान है वह संसार में किसी और पुस्तक में नहीं है। वेद ज्ञान का भंडार हैं जिन्हें जगतपिता ब्रह्मा द्वारा रचा गया था। वेद की भाषा और मर्म को ‘पुराणों’ के बगैर समझना नामुमकिन है। ये पुराण भारतीय

आखिर क्या है हिन्दू धर्म में शंख का महत्व और क्यों बजाया जाता है शंख

हमारे घरों में हम शंख को देखते हैं यह एक प्रकार का वाद्य यंत्र ही है जो परमात्मा को समर्पित होता है। पूजा इत्यादि में हमेशा शंख का प्रयोग होता है। हमारे धर्म में किसी भी काम की शुरूआत करने से पहले हमेशा शंख का