Browse By

Category Archives: Religious

वास्तु अनुसार इन सात तस्वीरों को कभी घर पर ना रखें, आती है गरीबी

वास्तु विद्या हमारे सनातन धर्म की एक बहुत प्रसिद्ध विद्या है। घर और दुकान में सुंदर तस्वीरों का शौक कई लोगों को होता है। मगर वास्तु के अनुसार सभी प्रकार की तस्वीरें घर या दुकान में लगाना शुभ नहीं होता है। वास्तुशास्त्र अनुसार ढेरों ऐसी हैं,

ये हैं पंडित श्यामजी उपाध्याय एकमात्र वकील जो पिछले 40 वर्षों से ‘संस्कृत’ में कर रहे हैं वकालत !

देववाणी संस्कृत के प्रति भले ही लोगों का रुझान कम हो लेकिन वाराणसी के एडवोकेट आचार्य पंडित श्यामजी उपाध्याय का संस्कृत के लिए समर्पण शोभनीय है। 1976 से वकालत करने वाले आचार्य पण्डित श्यामजी उपाध्याय 1978 में वकील बने। इसके बाद इन्होंने देववाणी संस्कृत को

जानिए, 900 वर्ष जीवित रहने वाले देवराहा बाबा की महागाथा

भारत संतो की पावन धरा है, हमारे ऋषि-मुनियों नो भारत को वह ज्ञान दिया है जो आजतक कोई भी नहीं प्राप्त कर पाया है। मोह, काम, क्रोध से दूर यह तपस्वी हमारे भले के लिए ही अवतार लेते हैं। ऐसे ही एक महायोगी थे देवराहा

जानें, नागा साधुओं के बारे में ये 15 बेहद ग़ज़ब तथ्य

नागा साधुओं (Naga Sadhus) का जब भी हमारे सामने नाम आता है हमारे मन में कुंभ मेले की एक तस्वीर उभरती हैं जहां लाखों नग्न साधु भगवान शिव की आराधना कर रहे होंते हैं और कुछ खास मौंको पर कुंभ में गंगा नदी में शाही

ये हैं भारत के 5 सबसे रहस्मयी मंदिर, जिनका राज विज्ञान भी नहीं जानता..

भारत मंदिरों का देश है, यहां हर गली में एक ना एक मंदिर देखने को मिल ही जाता है। मंदिर देवताओं की पूजा करने के लिए बनाये जाते हैं। सनातन परंपरा में इनका निर्माण हजारों सालों से होता आ रहा है। भारत में लाखों मंदिर

गरूड़ पुराण के अनुसार ये चार काम स्त्रियों को कभी नहीं करने चाहिए

स्त्री घर की देवी होती है, शास्त्रों में स्त्री का सम्मान करना बताया गया है। घर-परिवार हो या समाज, हर जगह स्त्रियों की स्थिति सर्वाधिक महत्वपूर्ण होती है। स्त्रियों को उचित मान-सम्मान मिले, इसके लिए गरुड़ पुराण में बताया गया है कि स्त्रियों को किन 4

जानें, आखिर हिन्दू धर्म में एक ही गौत्र में विवाह क्यों नहीं कर सकते

विवाह सनातन धर्म का प्रमुख हिस्सा है, हमारे सनातन धर्म में विवाह को सात जन्मों का रिस्ता माना जाता है। विवाह पद्धति के संबंध में हिन्दुओं में ढेरों प्राचीन परंपराएं मौजूद हैं। इन्हीं में से एक है परंपरा है – अपने गौत्र में विवाह न

जानें, मृतकों की तस्वीर पूजा घर में रखना क्यों माना जाता है अशुभ?

हमारे हिंदू समाज में पूजा को सबसे उत्तम कर्म माना जाता है। यह वह जरिया है जो हमें परमात्मा के करीब पहुँचा देता है। सनातन धर्म में पूजा का विशेष महत्व होता है, हर कोई विभिन्न देवी -देवताओं की पूजा करता है और उनसे मनोकामना