Technology

टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल विकास के लिए हो, विनाश के लिए नहीं : PM

दुनिया को प्रबल संदेश देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यहां अंतर्राष्ट्रीय समुदाय को मानव के लिए विनाशकारी औजार के तौर पर प्रौद्योगिकी के इस्तेमाल को लेकर चेतावनी दी। मोदी ने दुनिया को चरमपंथ के लिए साइबरस्पेस के दुरुपयोग के प्रति भी आगाह किया।

प्रधानमंत्री संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) सरकार द्वारा आयोजित विश्व शासन शिखर सम्मेलन के छठे संस्करण को बतौर विशिष्ट अतिथि संबोधित कर रहे थे। उन्होंने दूरस्थ ऑनलाइन शिक्षा के मसले पर दुनिया को एकजुट होने का आह्वान किया, जिसके माध्यम से गरीब बच्चों को शिक्षा प्रदान की जा सकती है।

उन्होंने कहा, “सारी तरक्की के बावजूद गरीबी और कुपोषण दुनिया से समाप्त नहीं हो पाया है। दूसरी ओर, मिसाइल की शक्ति में इजाफा करने और विनाशकारी क्षमता वाले बम बनाने पर बड़े पैमाने पर धन खर्च किया जा रहा है। हमें सचेत हो जाना चाहिए कि हमने प्रगति के उपकरण के लिए प्रौद्योगिकी तैयार की, न कि विनाश के लिए।”

मोदी ने छह ‘आर’ में छह महत्वपूर्ण कदम सुझाए : आर-रीड्यूस (कम करना), रीयूज (दोबारा उपयोग), रीसाइकिल (पुनर्चक्रण), रिकवर (सुधार लाना), रीडिजाइन (दोबारा डिजाइन करना) और री-मैन्यफैक्च र (पुनर्विनिर्माण)। उन्होंने कहा कि इन उपायों से जिस गंतव्य पर पहुंचेंगे, वहां हर्ष व आनंद है। मोदी के इन सुझावों का श्रोताओं ने जोरदार स्वागत किया।

भारतीय प्रधानमंत्री ने  विश्व समुदाय को बताया कि दुनिया में लोग आपस में एक-दूसरे से इंटरकनेक्टेड और इंटरलिंक्ड होते हैं।

स्रोत – IANS

Tags

Balram Kumar Ray

बलराम कुमार राय विज्ञानम् के गैजेट्स केटेगरी के लेखक हैं. इन्हें टेक्नोलॉजी , गैजेट्स, और Apps पर लिखने में बहुत रूचि है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close