Technology

NHAI ने ई-टोल भुगतान के लिए पेश किए मोबाइल एप

भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) आज दो मोबाइल एप 1.माईफास्टैग और 2.फास्टैग पार्टनर पेश किए हैं। इसके पीछे मकसद इलेक्ट्रानिक तरीके से टोल के भुगतान के लिए टैग की उपलब्धता सुनिश्चित करना है।

 

 

सरकार एनएचएआई के सभी 371 टोल प्लाजा के रास्तों को इस साल एक अक्तूबर तक फास्टैग अनुकूल बनाने का लक्ष्य लेकर चल रही है। फास्टैग एक लोड किया जा सकने वाला टैग है जो कि वाहन के शीशे में लगा होगा, जिसमें रेडियो फ्रीक्वेंसी पहचान प्रौद्योगिकी (आरएफआईडी) होगी।

 

एनएचएआई के चेयरमैन दीपक कुमार ने कहा कि फास्टैग की खरीद और उसे रिचार्ज कराने की जटिल प्रक्रिया प्रमुख चुनौती है। उन्होंने कहा, ‘‘आज जो मोबाइल एप पेश किए गए हैं उनसे यह प्रक्रिया सुगम हो सकेगी।

 

सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय ने बयान में कहा कि एनएचएआई ने दो मोबाइल एप दो मोबाइल एप….माईफास्टैग और फास्टैग पार्टनर…. पेश किए हैं। इसके पीछे मकसद इलेक्ट्रानिक तरीके से टोल संग्रहण को टैग की उपलब्धता सुनिश्चित करना है।

 

स्रोत-IANS

Tags

Balram Kumar Ray

बलराम कुमार राय विज्ञानम् के गैजेट्स केटेगरी के लेखक हैं. इन्हें टेक्नोलॉजी , गैजेट्स, और Apps पर लिखने में बहुत रूचि है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close