Universe

Planet Neptune Facts In Hindi – नेपच्यून ग्रह के बारे में रोचक फैक्ट्स

Neptune Facts In Hindi  – Neptune हमारे सौर-मंडल का एक विशाल ग्रह है, यह धरती से काफी बड़ा है। इस ग्रह की खोज गणित के सिद्धांतो के आधार पर हुई थी । यह हमारे सूर्य से आठवें नंबर पर स्थित एक ठंडा ग्रह है। हम इसे अपने सौर – मंडल का अंतिम ग्रह भी कह सकते हैं।

Planet Neptune Facts In Hindi

1. नेपच्यून का नाम समुद्र के रोमन देवता के नाम पर रखा गया था। यह इसलिए क्योंकि इस ग्रह का  रंग समुद्र की तरह ही नीला है।

2. नेपच्यून को पहली बार 1846 में खोजा गया था । इस ग्रह को Jean Joseph Le Verrier ने खोजा था । यह अन्य सभी ग्रहों की तुलना में बाद में पता चला था क्योंकि यह नग्न आंखों के लिए नहीं दिखाई देता है।

3. नेपच्यून की खोज यूरेनस की कक्षा को देखकर हुई थी। जब यह देखा गया कि यूरेनस जब सूर्य की परिक्रमा कर रहा है तो वह अपनी कक्षा में स्थिर नहीं है वहां पर किसी और वस्तु के ग्रेविटी का प्रभाव है। वैज्ञानिकों ने इसी के आधार पर बाद में नेपच्यून की खोज की थी।

4. नेपच्यून के लिए सूरज की एक पूरी परिक्रमा करने में 164.8 पृथ्वी साल लगते हैं। यह 60,190 पृथ्वी के दिनों के बराबर है! 1846 में खोजे जाने के बाद 2011 में जाकर के इस ग्रह ने सूर्य की एक पूरी परिक्रमा की थी।

5. नेपच्यून गैसों से बना एक विसाल ग्रह है  जिनमें यह 29% हीलियम, 80% हाइड्रोजन और मीथेन गैस के निशान की परतों से बना है। इसकी एक ठोस सतह नहीं है।

6. नेप्च्यून में एक महान डार्क स्पॉट तूफान है। यह बृहस्पति पर ग्रेट रेड स्पॉट तूफान के समान है इस तूफान का आकार हमारी धरती के बराबर ही है।

7. द वॉयजर 2 नेप्च्यून तक पहुंचने वाले एकमात्र अंतरिक्ष यान है। यह 1989 में इस ग्रह पर से होकर के गुजरा था, वहां पर इसने पृथ्वी की एक तस्वीर भी ली थी।

Source – ThingLink

8. अब तक नेप्चून के 14 उपग्रह(चांद) खोजे जा चुके है जिनमें से ट्राईटन (Triton) सबसे बड़ा और महत्वपूर्ण है। यदि युरेनस के सभी उपग्रहों के द्रव्यमान को जोड़ दिया जाए तो वह ट्राईट के द्रव्यमान के आधे से भी कम होगा। ट्राईटन सौर मंडल का सांतवा सबसे बड़ा उपग्रह है। यह मुख्यत नाईट्रोजन से बना हुआ है और सौर मंडल की सबसे ठंडी जगहों में से एक है।

9. नेपच्यून के पास 29,297 मील (47,150 किलोमीटर) का व्यास है ।यह सौर मंडल में यह तीसरा सबसे बड़ा ग्रह है। पहला ग्रह जूपिटर है तो दूसरा शनि ग्रह है।

10. अन्य गैसी ग्रहों की तरह Neptune के भी छल्ले है। अब तक इसके 5 छल्लों की खोज हो चुकी है। न्युटन के छल्ले बृहस्पति के छल्लों की तरह धुंधले है और पृथ्वी पर से किसी दूरबीन द्वारा देखे जाने पर यह टूटे हुए(चाप की तरह) नज़र आते हैं।

11. नेपच्यून में एक अद्वितीय मजबूत चुंबकीय क्षेत्र है यह धरती से 27 गुना मजबूत है। यह अन्य ग्रहों की तुलना में विशेष है क्योंकि यह ग्रह के axis  के अनुरूप नहीं है और यह 47 डिग्री कोण पर झूका है।  वर्तमान में नेपच्यून को आगे खोजने के लिए कोई मिशन नहीं है।

Tags

Pallavi Sharma

पल्लवी शर्मा एक छोटी लेखक हैं जो अंतरिक्ष विज्ञान, सनातन संस्कृति, धर्म, भारत और भी हिन्दी के अनेक विषयों पर लिखतीं हैं। इन्हें अंतरिक्ष विज्ञान और वेदों से बहुत लगाव है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close