Mystery

क्या होती है नागमणि, इसके पास होने से क्या होता है? क्या है इसका रहस्य जरुर जानिए..

Naagmani –  मैंने कई बार नागमणि के बारे में अपने दादा जी से सुना है, कई बार उन्होंने इसको लेकर कई कहानियाँ भी बताई थीं। हालांकि यह सभी कहानियां जनश्रुति के आधार पर थी पर सुनने में हमेशा एक अजीब सी सरसराहट पैदा करती थीं। हिन्दू पुराणों में नागमणि का जिक्र मिलता है, माना जाता है कि नागमणि उस मणि को कहते हैं जो किसी प्रभावशाली नाग के सिर पर होती है।

मणिधर नाग

आम जनता में यह बात प्रचलित है कि कई लोगों ने ऐसे नाग देखे हैं जिसके सिर पर मणि थी। हालांकि पुराणों में मणिधर नाग के कई किस्से हैं। भगवान कृष्ण का भी इसी तरह के एक नाग से सामना हुआ था। नागमणि को भगवान शेषनाग धारण करते हैं। पुराणों और लोक कथाओं में नागमणि के किस्से आम लोगों के बीच काफी प्रचलित हैं।

नागमणि सिर्फ नागों के पास ही होती है। नाग इसे अपने पास इसलिए रखते हैं ताकि उसकी रोशनी के आसपास इकट्ठे हो गए कीड़े-मकोड़ों को वह खाता रहे। हालांकि इसके अलावा भी नागों द्वारा मणि को रखने के और भी कारण हैं।

नागमणि की विशेषता

छत्तीसगढ़ी साहित्य और लोककथाओं में नाग, नागमणि और नागकन्या की कथाएं मिलती हैं। मनुज नागमणि के माध्यम से जल में उतरते हैं। नागमणि की यह विशेषता है कि जल उसे मार्ग देता है। इसके बाद साहसी मनुज महल में प्रस्थित होकर नाग को परास्त कर नागकन्या प्राप्त करता है।

Naagmani
Source – WebDunia

नागमणि के बारे में कहा जाता है कि यह जिसके हाथ लग जाती है, उसकी किस्मत रातोंरात बदल जाती है। नागमणि होती है या नहीं, इसके बारे में भी अलग-अलग मान्यताएं हैं। हम सबने भी मणिधारी नाग की कहानियां किताबों में पढ़ी हैं। मगर हकीकत में शायद ही किसी ने नागमणि देखी होगी।

भारत का विचित्र मंदिर जहां पूजा जाता है नाग-नागिन के जोड़े को
महाभारत का ये रहस्य बातेयगा कि सांपों की जीभ कटी हुई क्यों होती है!

बहुत दुर्लभ है नाममणि

ऐसे सापों के मिलना बहुत दुर्लभ है इसल‌िए कहा जाता है मण‌िधारी नाग नहीं होते हैं। अब सच जो भी है लेक‌िन वृहत्ससंह‌िता में नागमण‌ि के बारे में कई रोचक बातें बताई गई हैं। जो इस बात को सोचने पर व‌िवश करता है क‌ि क्या वास्तव में नागमण‌ि होता है। वृहत्संह‌िता में नागमण‌ि के बारे में कई बातें कही गई हैं।

वृहत्संह‌िता और नागमण‌ि

-नागमण‌ि में इतनी चमक होती है क‌ि जहां यह होती है वहां आस-पास तेज रोशनी फैल जाती है। नागमण‌ि अन्य म‌ण‌ियों से अध‌िक प्रभावशाली और अलौक‌िक होती है।नागमण‌ि मोर के कंठ के समान और अग्न‌ि के समान चमकीली द‌िखती है।

-यह मण‌ि ज‌िसके पास होती है उस पर व‌िष का प्रभाव नहीं होता है। यह रोग से मुक्त होते हैं।वराहम‌िह‌िर बताते हैं क‌ि ज‌िस राजा के पास यह मण‌ि होती है वह शत्रुओं पर व‌िजय प्राप्त करने वाले होते हैं

-इनके राज्य में समय से वर्षा होती और प्रजा खुशहाल रहती है। वराहम‌िह‌िर इस तरह की बात इसल‌िए ल‌‌िखते हैं क‌ि उन द‌िनों राजे महाराजे हुआ करते थे।

Tags

Shivam Sharma

शिवम शर्मा विज्ञानम् के मुख्य लेखक हैं, इन्हें विज्ञान और शास्त्रो में बहुत रुचि है। इनका मुख्य योगदान अंतरिक्ष विज्ञान और भौतिक विज्ञान में है। साथ में यह तकनीक और गैजेट्स पर भी काम करते हैं।

Related Articles

Close