Gadgets

iPhone 8 की कीमत हो सकती है 1000 डॉलर से ज्यादा

iPhone 8 के बारे में तरह तरह की जानकारियां सामने आ रही हैं। चर्चा है कि इस स्मार्टफोन में कंपनी कई नए फीचर और स्पेसिफिकेशन का उपयोग कर सकती है। संभावना है कि आने वाला आईफोन 8 सबसे महंगा आईफोन होगा। सामने आई कुछ रिपोर्टस के अनुसार, इस फोन की कीमत 1000 डॉलर से ज्यादा यानि लगभग 67,000 रुपए हो सकती है जो कि पिछले साल लॉन्च किए गए आईफोन 7 से बहुत ज्यादा होगी।

जानकारी के अनुसार आईफोन 8 में ओएलईडी डिसप्ले हो सकता है। आईफोन 8 को कंपनी दो अलग-अलग मॉडल में लॉन्च कर सकती है। जिसमें एक मॉडल में 4.7-इंच या 5.5-इंच का एलसीडी डिसप्ले होगा। वहीं, दूसरे वेरियंट में 5.8-इंच का ओएलईडी डिसप्ले हो सकता है। इसके अलावा आईफोन नए चिपसेट A11 पर पेश हो सकता है और उसमें वायरलैस चार्जिंग की सुविधा होगी। साथ ही आईफोन के डिसप्ले पर कपैसिटिव फिंगरप्रिंट सेंसर उपलब्ध होगा।

रिपोर्ट्स के अनुसार एप्पल पहली कंपनी नहीं है जो दूसरे कॉम्पोनेंट पर पैसे खर्च करने जा रही है। इसके अलावा एंड्राइड फैन्स के लिए अच्छी खबर है कि एंड्राइड डिवाइस निर्माता अपने स्मार्टफोन में आईफोन के कुछ फीचर्स को शामिल कर सकते हैं। ट्रेंडफोर्स के एक नए रिपोर्ट के अनुसार, इस साल DRAM मैमोरी, NAND फ्लैश स्टोरेज और AMOLED पैनल की मांग रहेगी। वहीं, स्मार्टफोन निर्माता भी बेहतर रैम, स्टोरेज और स्क्रीन को लेकर काम रहे है।

यह भी जानें – Redmi Note 5 में होगा 5 Inch का डिस्प्ले और 4000 एमएएच की बैटरी

OLED स्क्रीन को पहले से ही ज्यादा प्रमुखता मिल रही है, क्योंकि इसके सप्लाई पर एप्पल और सैमसंग दोनों साथ काम कर सकते है। OLED डिसुप्ले का निर्माण सैमसंग डिसप्ले द्वारा किया जाएगा। कहा जा रहा है कि दूसरे तिमाही में OLED स्क्रीन की कीमत ज्यादा रहेगी और LCD की कीमत में गिरावट आ सकती है।

एक अन्य रिपोर्ट के अनुसार, बहुत सारे स्मार्टफोन वेंडर्स LPDDR4X मैमोरी का ज्यादा इस्तेमाल कर रहे हैं, जो कि LPDDR4 से ज्यादा महंगा नहीं है। इसमें उपयोग होने वाली रैम स्पलाई इसकी कीमत को पिछले साल के मुकाबले 10 प्रतिशत से बढ़ा सकती है।

यह भी जानें – नोकिया 6 अंतरराष्ट्रीय मार्केट में हुआ लॉन्च, भारत में भी आयेगा जल्द

स्टोरेज कॉस्ट में भी इजाफा आ सकता है, क्योंकि हैंडसेट निर्माताओं का ध्यान उनके स्मार्टफोन के उच्च स्टोरेज कैपेसिटी की तरफ है। रिपोर्ट के अनुसार, eMMC और UFS की कीमतें बढ़ रही है। चीनी स्मार्टफोन वेंडर्स अपने डिवाइस के स्टोरेज स्पोसिफिकेशन को आईफोन से मैच करने की कोशिश कर रहे है। इसका मतलब यह है कि अब ज्यादातर फ्लैगशिप डिवाइस 32जीबी/64जीबी स्टोरेज ऑप्शन से 64जीबी/128जीबी स्टोरेज पर ध्यान दे सकते है।

स्मार्टफोन निर्माताओं को उम्मीद है कि मध्म रेंज और कम रेंज में स्टोरेज डिवाइस को अपग्रेड किया जा सकता है। ट्रेंडफोर्स के एक नए रिपोर्ट के अनुसार, eMMC से ज्यादा पॉपुलर UFS हो सकता है। इस साल स्टोरेज मॉडयूल्स की कीमत बढ़ सकती है।

माना जा रहा है कि पहले से फोन और भी बेहतर हो सकता है जिसकी वजह से स्मार्टफोन और भी महंगा हो जाएगा। हैंडसेट निर्माताओं को अब फोन की कीमत और खुद के मार्जिन को एक समान रखने के लिए महनत करना होगा, जो कि एप्पल से कम है।

Tags

Team Vigyanam

Vigyanam Team - विज्ञानम् टीम

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close