ऐसे 7 लोगों पर कभी न करें भरोसा, पड़ सकते हैं बड़ी मुसीबत में – देवी भागवत महापुराण

आजकल के भागम-भाग जीवन में हम लोग अपने शास्त्रों और संस्कारों से बहुत दूर होते जा रहे हैं। फिल्मों और काल्पनिक चित्रणों से वशीभूत होकर हम सही और गलत का पता लगाने में चूक रहे हैं जिस कारण हमें जीवन में कई परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

आज हम आपको शास्त्रों में ही बताये गये इसी ज्ञान के बारे में बतायेंगे, यह है देवी भागवत महापुराण जिसके आधार पर हम आपको बतायेंगे कि किस तरह के सात लोगों से आपको बचना चाहिए। इस महापुराण में देवी भगवती ने ऐसे 7 लोगों के बारे में कहा है, जिन पर कभी भरोसा नहीं करना चाहिए। ये 7 लोग अपने जीवन में परेशानी और दुःखों का कारण बन सकते हैं।

 

1. द्वेष या जलन की भावना रखने वाला

जो मनुष्य दूसरों के प्रति अपने मन में जलन या द्वेष की भावना रखता है, वह निश्चित ही छल-कपट करने वाला, पापी, धोखा देने वाला होता है। वह दूसरों के नीचा दिखाने के लिए किसी भी हद तक जा सकता है। जलन और द्वेष भावना रखने वाले के लिए सही-गलत के कोई पैमाने नहीं होते हैं। ऐसे व्यक्ति पर विश्वास करना आपके लिए बहुत बड़ी परेशानी का कारण बन सकता है।

2. लालच या लोभ की भावना रखने वाला

लालच मनुष्य का सबसे बड़ा दुश्मन होता है। लालची मनुष्य किसी के भी भरोसा के काबिल नहीं होता। लालची इंसान अपने फायदे के लिए किसी के साथ भी धोखा कर सकते हैं। ऐसे लोग धर्म-अधर्म के बारे में नहीं सोचते। ये लोग अपने मतलब को पूरा करने के लिए किसी भी हद तक जा सकते हैं और आपको भी परेशानी में डाल सकते हैं। इसलिए, हर किसी को लोभी या लालची मनुष्य से दूर ही रहना चाहिए।

3. दूसरों का दुख देखकर सुखी होने वाला

ऐसे कई लोग होते हैं, जिन्हें दूसरों को परेशानी में या दुःखी देखकर सुख का अनुभव होता है। ऐसे लोग महादुष्ट माने गए हैं। इस तरह के लोग हर समय दूसरों के दुःख पहुंचाने या मुसीबत खड़ी करने के बारे में सोचते रहते हैं। ऐसे लोग खुद तो परेशानी में फंसते ही हैं, साथ-साथ आपके लिए भी परेशानी का कारण बन सकते हैं। इन पर और इनकी बातों पर कभी भरोसा नहीं करना चाहिए।

4. छल-कपट करने वाला

छल-कपट की भावना कई लोगों के मन में रहती है। ऐसे लोग लालची और मतलबी होते है। कपटी इंसान अपना मतलब पूरा करने के लिए किसी के साथ कोई भी गलत काम करने में एक पल भी नहीं हिचकिचाते। ऐसे लोगों के मन किसी के भी प्रति न तो अपनेपन की भावना होती है न ही प्रेम की। वे बस छल-कपट करके अपना हर काम पूरा करने में विश्वास रखते हैं। ऐसे आदमी की बातों पर या उस पर कभी भरोसा न करें।

5. अहंकारी व्यक्ति

सामाजिक जीवन में सभी के लिए कुछ सीमाएं होती हैं। हर व्यक्ति को उन सीमाओं का हमेशा पालन करना चाहिए, लेकिन अहंकारी व्यक्ति की कोई सीमा नहीं होती। अंहकार में मनुष्य को अच्छे-बुरे किसी का भी होश नहीं रहता है। अहंकार के कारण इंसान कभी दूसरों की सलाह नहीं मानता और अपनी गलती स्वीकार नहीं करता। ऐसा व्यक्ति अपने परिवार और दोस्तों को दुख देने वाला होता है, उस पर कभी भरोसा नहीं करना चाहिए।

6. पराई स्त्री पर मन रखने वाला

जो मनुष्य पराई स्त्रियों पर मन रखने वाला होता है, वह हर समय उनके आगे-पीछे घूमता रहता है। ऐसा इंसान किसी भी समय स्त्री के साथ बुरा व्यवहार कर जाता है। ऐसे व्यक्ति के मन में बुरी भावनाएं उत्पन्न होती रहती हैं। वह अपनी इच्छाओं को पूरा करने के लिए किसी भी हद कर जा सकता है और कई बार तो अपराधी तक बन जाता है। ऐसे लोग चरित्रहीन होते हैं, उन पर कभी भी भरोसा नहीं करना चाहिए।

7. नास्तिक

कई लोग ऐसे भी होते हैं, जो भगवान और धर्म में आस्था नहीं रखते। जिन्हें ना तो धर्म-ज्ञान से कोई मतलब होता है, ना ही देव भक्ति से। ऐसा व्यक्ति धर्म और शास्त्रों में विश्वास ना होने की वजह से अधर्मी और पापी होता है। झूठ बोलना, बुरा व्यवहार करना आदि उसका स्वभाव बन जाता है। वह खुद का जीवन तो नरक के समान बनाता ही है, साथ ही उससे संबंध रखने वालों का व्यवहार भी अपने समान कर देता है। ऐसे मनुष्य से हमेशा दूर ही रहना चाहिए।

साभार – अजबगजब

Pallavi Sharma

पल्लवी शर्मा एक छोटी लेखक हैं जो सनातन संस्कृति, धर्म, भारत और भी हिन्दी के अनेक विषयों पर लिखतीं हैं। इन्हें सनातन संस्कृति से बहुत लगाव है।

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *