ये हैं वेश्यावृत्ति की दुनिया के 13 भयंकर आंकड़े, जो आपको हिलाकर रख देंगे

वेश्याओं को हमारे समाज में घृणा की नज़र से देखा जाता है। वेश्याओं के लिए हमारे समाज की न सोच अच्छी है और ना ही नज़रिया अच्छा है।ज्यादातर लोगों की इस बात की जानकारी नही कि ज्यादातर वेश्याएं इस धंधे में अपनी मर्जी से कम और मानव तस्करी का शिकार बन कर ज्यादा आती हैं। अगर आप को इन वेश्याओं की असली जिंदगी की सच्चाई पता चलेगी तब आपके मन में इनके लिए दयाभाव जरूर उत्तपन्न होगा।

वेश्यावृत्ति से जुड़े कुछ आंकड़े और तथ्य जो आपको इस दलदल की जानकारी देगें –

1. विश्व में लगभग 4 करोड़ Sex Workers हैं। भारत में यह आंकड़ा 30 लाख तक है।

2. वेश्यावृत्ति में पड़ने की औसतन उम्र 13 साल है। (इसका मतलब है कि ज्यादातर लड़कियां 13 साल से कम उम्र में ही वेश्यावृत्ति शुरू कर देती हैं।)

3. भारत में मुंबई सबसे बड़ी Sex Industry है जहां पर 2 लाख से भी ज्यादा Sex Workers हैं। हैरान कर देने वाली बाते तो यह है कि इन Sex Workers में से 50 प्रतीशत से भी अधिक Hiv Aids से पीड़ित हैं।

4. All Bangal Women Union द्वारा वर्ष 1988 में लड़िकयों के वेश्यावृत्ति में आने के कारणो का सर्वे किया गया था जिसमें यह बातें सामने आई –

  • 5 प्रतीशत महिलाएं अपने माता – पिता के कहने पर इस धंधे में आई।
    14 प्रतीशत दोस्तों के चक्कर में पड़कर पैसा कमाने के लालच से।
    23 प्रतीशत दलालों के चक्कर में फंसने से।
    13 प्रतीशत अपने किसी रिश्तेदार के इस धंधे में होने की वजह से।
    10 प्रतीशत प्यार में धोखा खाने के बाद या फि उन्हें शादी का झूठा झांसा देकर इस धंधे में धकेल दिया गया।
    2 प्रतीशत अपने पति की सहमति से।
    बाकी अन्य कारणों से।

यह रिपोर्ट केवल पश्चिम बंगाल की है। भारत के बाकी राज्यों में यह आंकड़े थोड़े ऊपर नीचे हो सकते हैं।

5. भारत में पुरूष वेश्यावृत्ति भी लगातार बढ़ रही है। दिल्ली, चंडीगढ़ और मुंबई जैसे बड़े शहरों में बडे घरानों की कुछ औरतें इनकी सेवाएं लेती हैं।

6. पुरूष वेश्याओं को जिगोली कहा जाता है। अक्सर डिग्री कॉलिजों के लड़के पैसा कमाने की होड़ में इस धंधे में पड़ते हैं।

7. साल 1981 में भारत के सिर्फ 27 प्रतीशत Sex Workers ही Condom का प्रयोग करते थे, 1995 में यह आंकड़ा 82 प्रतीशत तो साल 2011 में 86 प्रतीशत तक पहुँच गया। इससे पता चलता है कि एड्स संबंधी जानकारियां तेज़ी से बढ़ी हैं।

8. भारत में अगर कोई 18 साल से कम उम्र की वेश्या के साथ सेक्स करता हुआ पकड़ा जाता है तो उसे 3 से 4 साल की कैद तक हो सकती है।

9. भारत में आज से लगभग 2,400 साल पहले मौर्य शासन काल में वेश्यावृ्त्ति जायज़ थी और वेश्याओं पर टैक्स भी लगता था। तब नगर के लोग इन वेश्याओं के पास जाते थे और उनपर पैसे भी लुटाते थे। इन वेश्याओं की कमाई बहुत ज्यादा थी। ऐसे में इनसे इनकी कमाई के हिस्से से टैक्स लिया जाता था, जिसका राजकाज में उपयोग किया जाता था।

10. भारत में पर्यटन की वजह से बाल वेश्यावृत्ति लगातार बढ़ रही है। पश्चिमी देशों के कुछ सेक्स मनोविकृत पर्यटक भारत सिर्फ बाल वेश्यावृत्ति के कारण ही आते हैं। वह बच्चों का केवल यौन शोषण ही नही करते बल्कि उसने पोर्न फिल्में भी बनाकर ले जाते हैं। यूनिसेफ की रिपोर्ट के अनुसार भारत में बाल वेश्याओं की संख्या लगभग 2 लाख है।

11. लगभग 10 में से 1 पुरुष सेक्स के लिए वेश्याओं को पैसे देता है।

12. दुनिया के 200 से ज्यादा देशों में से सिर्फ 22 देश ऐसे हैं जहां पर वेश्यावृत्ति गैरकानूनी नहीं। इनमें से प्रमुख देश हैं – Canada, Italy, United Kingdom, Israel, Portugal, Spain, Germany, Ireland, Turkey, France, Finland, Belgium

13. वेश्यावृत्ति के लिहाज़ से दूनिया के 10 शीर्ष देश –

    • थाईलैंड
      ब्राज़ील
      स्पेन
      इंडोनेशिया
      कोलंबिया
      फीलीपींस
      केन्या
      नीदरलैंड
      कंबोडिया
      डोमिनिकन गणराज्य

हमें आशा है कि आपको इस पोस्ट से वेश्यावृत्ति से जुड़ी अहम जानकारी मिलेगी। इस पोस्ट का अंत हम भगवान बुद्ध के इस कथन से करते हैं
“स्त्री तब तक ‘चरित्रहीन’ नहीं हो सकती, जब तक पुरुष चरित्रहीन न हो”

साभार – रोचक.कॉम

Tagged with:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *