काल ड्रॉप के लिए बहाने नहीं बना सकतीं कंपनियां : दूरसंचार विभाग

जैसे जैसे फ़ोन के उपयोगकर्ता बढ़ते जा रहे हैं , दूरसंचार कंपनियों के लिए यह एक चुनौतीपूर्ण स्थिति बनती जा रही है I कॉल ड्राप की समस्या से लोग परेशान हैं तथा समय के साथ साथ इसमें सुधार लाना निश्चित तौर पर जरुरी हो गया है I इस विषय पर सरकार ने भी अपना रुख कड़ा कर लिया है I

कंपनियों को कड़ा संदेश देते हुए दूरसंचार विभाग ने कहा कि वे कॉल ड्रॉप की बढ़ती समस्या के लिए इस तरह के बहाने नहीं बना सकतीं कि मोबाइल टावर लगाने में दिक्कत आ रही है। विभाग ने कंपनियों से कहा है कि वे इस मुद्दे के समाधान के लिए मिलकर काम करें।

दूरसंचार सचिव अरुणा सुंदरराजन ने पीटीआई भाषा को एक साक्षात्कार में कहा कि दूरसंचार विभाग 21 जनवरी के बाद इस बारे में कंपनियों के साथ बैठक करेगा।

टावर लगाने में मोबाइल कंपनियों को हो रही दिक्कतों को स्वीकार करते हुए उन्होंने कहा कि इसे कॉल ड्रॉप के लिए बहाना नहीं बनाया जा सकता। उन्होंने कहा कि कंपनियों को बुनियादी ढांचे के उन्नयन के लिए निवेश करना होगा।

उल्लेखनीय है कि दूरसंचार नियामक ने कॉल ड्रॉप को लेकर नये नियम एक अक्तूबर से लागू किए। दिसंबर को समाप्त तिमाही के लिए इन नये नियमों के तहत पहली रिपोर्ट  आनी है।

स्रोत – PTI

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.