Health

अच्छे स्वास्थ्य के लिए रोज करें ये 10 जरुरी योग आसान

Best Yoga Aasan Hindi – आज योग दिवस है जिसके अवसर पर हम आपके लिए ले के आये हैं 10 जरुरी योग आसान जो आपको रोज करने चाहिए, इन आसनों के करने से आपको गजब का स्वास्थ्य लाभ होगा।

क्या है योग (Yoga)

योग बहुत प्राचीन विद्या है जिसका उद्गम भारत में हुआ था, आदियोगी ने सबसे पहले इसकी शुरूआत की थी। योग मनुष्यों के लिए जरुरी है, योग के बल पर मनुष्य अपने शरीर और चित्त को स्वस्थ रख सकता है। आदियोगी भगवान शिव ने इस विद्या को हम मनुष्यों के लिए ही बनाया था, योग सिर्फ शरीर तक ही सीमित नहीं है यह समाधि और परमात्मा में लीन होने का मार्ग भी है।

Source – Flickr

मां पार्वती ने एकबार शिव से पूछा कि “हे प्रभु ! योग में कितने आसन हैं”?शिवयोगी का जवाब था “जितनी योनियां या प्रजातियां; उतने आसन, यानी 84 लाख आसन”। इस जवाब से शिव का तात्पर्य रहा होगा कि हर व्यक्ति के हिसाब से आसन हैं। वैसे आसनों की संख्या अनंत हैं, और ना तो हम सब को सीख सखते हैं और ना ही प्रैक्टिस के लिए उतना वक्त निकाल पाएं, ना ही सभी आसनों को करने की कोई ज़रुरत है।

ऐसे में यहां योगगुरु धीरज  आपको 10 आसनों की एक सीरीज़ बता रहें हैं, जिनके नियमित अभ्यास से आप शारीरिक रुप से मजबूत और मानसिक रुप से शांत रह सकते हैं। ख़ास बात ये हैं कि इस साइंटिफिक सीरीज़ में आपको क़रीब-क़रीब सब तरह के आसन मिलेंगे- स्टैंडिंग से लेकर बैलेंसिंग और फॉरवर्डबैकवर्ड बैंडिंग से लेकर ट्विस्ट तक

शुरुआत करने से पहले : 

इन आसनों को आप सीधे अभ्यास में ला सकते हैं,या बेहतर हो अगर इनको करने से पहले आप 3-5 राउंड सूर्यनमस्कार  का अभ्यास करें। हर आसन में 3-5 सांसें रुकें और आसनों को धीरे-धीरे होश पूर्वक करें। अभ्यास के बाद 5 मिनट शवासन में तन-मन को शांत होने दें।

10 रोज करने वाले आसान

1. अधोमुख श्वान आसन
2. त्रिकोण आसन
3. प्रसारित पादोत्तान आसन
4. पार्श्व उत्तान आसन
5. वृक्षासन
6. वीरभद्रासन प्रकार-दो
7. बद्ध कोण आसन
8. जानु शिरासन
9. सेतुबंध आसन
10. अर्ध मत्स्येन्द्र आसन

वीडियो देखकर आसान सीखें –

भाग 2

स्रोत – vyfhealth.com

यह भी जानें – महायोगी गुरु गोरखनाथ का जीवन परिचय

Tags

Pallavi Sharma

पल्लवी शर्मा एक छोटी लेखक हैं जो अंतरिक्ष विज्ञान, सनातन संस्कृति, धर्म, भारत और भी हिन्दी के अनेक विषयों पर लिखतीं हैं। इन्हें अंतरिक्ष विज्ञान और वेदों से बहुत लगाव है।

Related Articles

Close