Universe

अंतरिक्ष से धरती के इस नजारे को देखकर आप भी हैरान रह जायेंगे

Best Pics Of Earth From Space,  जर्मनी के अंतरिक्ष यात्री अलेक्जांडर गैर्स्ट हाल में ही अंतरिक्ष की सैर पर निकले हैं। जहां पर उन्होंंने पिछली बार अंतरिक्ष (Space)  में 6 महीने गुजारे थे और वहीं से अंतरिक्ष से धरती का एक नजारा पेश किया था। आप भी इन्हीं तस्वीरों को जरूर देखिए..

विज्ञान से ज्यादा

“हैलो बर्लिन, यहां ऊपर से मुझे कोई सीमाएं नजर नहीं आ रही हैं.” 9 नवंबर, बर्लिन दीवार के गिरने की 25वीं वर्षगांठ के मौके पर अलेक्जांडर गैर्स्ट ने यह ट्वीट किया. विज्ञान से जुड़े कई प्रयोगों के अलावा गैर्स्ट का मकसद था लोगों को दिखाना कि अंतरिक्ष से हमारी पृथ्वी कितनी खूबसूरत लगती है. अपने प्रोजेक्ट का नाम उन्होंने ‘ब्लू डॉट’ रखा।

शब्दों में नहीं कह सके

उत्तरी ध्रुव के पास रोशनी का ऐसा अनोखा नजारा देखने को मिलता है. इसे ऑरोरा कहते हैं. अंतरिक्ष से ऑरोरा की तस्वीर भेजते हुए गैर्स्ट ने लिखा, “मैं शब्दों में व्यक्त नहीं कर सकता कि ऑरोरा के बीच से उड़ान भरते हुए मुझे कैसा महसूस हो रहा है.” गैर्स्ट शब्दों में भले ही ऑरोरा की खूबसूरती को व्यक्त ना कर पाए हों, लेकिन तस्वीर सब कुछ कह रही है।

रोशनी का अनोखा मंजर

ऑरोरा को नॉदर्न लाइट्स के नाम से भी जाना जाता है. धरती पर भी इन्हें देखना कम ही लोगों को नसीब हो पाता है. नॉर्वे के बर्फीले इलाकों में लोग रोशनी के मंजर को देखने पहुंचते हैं. गैर्स्ट खुद को भाग्यशाली मानते हैं कि उन्हें अंतरिक्ष में ऑरोरा का अनुभव करने का मौका मिला।

बूझो तो जानें

अंतरिक्ष में रहते हुए भी गैर्स्ट सोशल मीडिया पर काफी सक्रिय रहे. उन्होंने वहां से कई तस्वीरें फेसबुक और ट्विटर पर शेयर कीं. #geochallenge के साथ वे अक्सर तस्वीर पोस्ट किया करते और लोगों से पूछते कि उनके अनुसार यह किस जगह की तस्वीर है. किसी पहाड़ या ज्वालामुखी जैसा दिखने वाला दरअसल यह एरिजोना में एक उल्कापिंड द्वारा बनाया गड्ढा है।

तूफान की आंख

देखने में तो यह बादलों के बीच एक छोटा सा सुराख लगता है, पर यह 80 किलोमीटर बड़ा है. इसे ‘आय ऑफ स्टॉर्म’ यानि तूफान की आंख कहा जाता है. यह देखने में भले ही खूबसूरत हो, लेकिन इससे धरती पर भारी नुकसान पहुंच सकता है. इस तस्वीर को पोस्ट करते हुए गैर्स्ट, “यहां ऊपर से देख कर हैरानी होती है कि हमारी दुनिया एक दूसरे से कितने प्रत्यक्ष रूप से जुड़ी हुई है।”

सबसे दुखद तस्वीर

गैर्स्ट की तस्वीरों की खास बात है कि इनमें किसी भी तरह के फेर बदल नहीं किए गए हैं. यह तस्वीर गाजा और इस्राएल की है. वहां हो रही बमबारी और धमाकों को इसमें साफ देखा जा सकता है. जब गैर्स्ट ने यह तस्वीर भेजी, तो उन्होंने लिखा, “यह अब तक की मेरी सबसे दुखद तस्वीर है।”

रेगिस्तान में

कहते हैं कि सहारा में जा कर ऐसा लगता है जैसे रेत के पहाड़ कभी खत्म ही नहीं होंगे. लेकिन अंतरिक्ष से देखें तो इन रेतीले पहाड़ों की सीमाएं पता चलती हैं. इस तस्वीर के साथ गैर्स्ट ने लिखा, “आइसिस के अंदर जब नारंगी रोशनी आने लगती है, तो मुझे बिना बाहर देखे ही पता चल जाता है कि मैं अफ्रीका के ऊपर उड़ रहा हूं।”

खोज और तलाश

यह उत्तरी अफ्रीका की तस्वीर है. इस तरह की पुरानी तस्वीरें भी मौजूद हैं. नई और पुरानी की तुलना कर वैज्ञानिक भौगोलिक बदलावों को बेहतर रूप से समझ सकते हैं।

यह भी जानें – आप Space में ना बोल सकते हैं और ना रो सकते हैं, जानें अंतरिक्ष के ऐसे ही रहस्य

Source – DW.com

Tags

Team Vigyanam

Vigyanam Team - विज्ञानम् टीम

Related Articles

Close