Health

अरबों-खरबों बैक्टीरिया छिपे होते हैं आपके घर में, आखिर कहां रहते हैं ये?

Bacteria In House – इस संसार में अगर कोई जीव सबसे ज्यादा शक्तिशाली और कठोर है तो वह है बैक्टीरिया, ये जीव इतनी अधिक संख्या में है कि इसकी कल्पना करना भी हमारा लिए असंभव है। ये बैक्टीरिया दो तरह के होते हैं, आसान भाषा में कहें तो अच्छे और बुरे, पर अगर कोई भी बैक्टीरिया ज्यादा मात्रा में हो जाये तो वह हमारे लिए घातक हो सकता है। हमारे शरीर में तो अरबों बैक्टीरिया होते ही हैं, अपितु हमारे घर में भी कई खरब बैक्टीरिया होते हैं। आइये जानते हैं ये कहां-कहां पाये जाते हैं।

01. तकिया

दिन भर की थकान और धूल धक्कड़ के बाद इंसान जब तकिये पर सिर रखता है तो बड़ा आराम मिलता है. लेकिन धीरे धीरे तकिया बैक्टीरिया और फंगस का अड्डा बन जाता है. तकिये को बीच बीच में बेहद गर्म पानी से धो देना चाहिए. गर्मियों में तकिये को धूप में भी सुखाना चाहिए।

02. किचन का सिंक

बर्तन धोने के दौरान गंदा पानी सिंक से ही बहता है. इस पानी में फैट, तेल और भोजन के टुकड़े होते हैं. 45 फीसदी सिंक में बैक्टीरिया भरे पड़े होते हैं. इसीलिए बीच बीच में सिंक की सफाई जरूरी है।

03. बर्तन धोने का स्पंज

Source – The Parsimonious Princess

बर्तन धोने वाले स्पंज को दो हफ्ते बाद बदल देना चाहिए. स्पंज को समय पर न बदला जाए तो इसमें सबसे ज्यादा बैक्टीरिया छुपते हैं। फिर ये हमारे लिए बर्तन धोना बेकार ही बन जाता है।

04. किचन का काउंटर

गैस रखने वाली किचन की रैक में 32 फीसदी मौकों पर कीटाणु मिले. आम तौर पर खाना बनाने के बाद काउंटर को कपड़े से पोंछ दिया जाता है, लेकिन इसके बावजूद बैक्टीरिया वहां बच ही जाते हैं।

05. चॉपिंग बोर्ड

सब्जी काटने वाले बोर्ड पर भी बैक्टीरिया आसानी से छुप जाते हैं. चाकू से मांस, मक्खन या रसीले फल काटते वक्त कटिंग बोर्ड में निशान पड़ते हैं और खाने का सूक्ष्म हिस्सा उनमें फंस जाता है. इसीलिए हर दिन एक बार चॉपिंग बोर्ड को खौलते पानी से धो देना चाहिए।

06. बाथरूम के हैंडल

एक शोध में 100 में से नौ घरों के बाथरूमों के हैंडल में बेहद घातक किस्म के बैक्टीरिया मिले. बाथरूम के हैंडल की नियमित सफाई भी जरूरी है।

07. टूथब्रश होल्डर

इंसान आम तौर पर टूथब्रश बदल देता है, टूथपेस्ट नया ले आता है, लेकिन टूथब्रश होल्डर नहीं बदलता. 27 फीसदी मामलों में इसी में बैक्टीरिया छुपे मिले। समय समय पर इसे भी बदलते रहना चाहिए।।

08. स्मार्टफोन

एक इंसान हर रोज कम से कम 20 बार स्मार्टफोन की स्क्रीन देखता है. टच स्क्रीन वाले मोबाइल फोनों में भी बैक्टीरिया खूब छिपे रहते हैं. स्मार्टफोन इस्तेमाल करने के बाद हाथ धोने चाहिए। अधिकतर बीमारियों का कारण भी यही है।

देखा जाये तो साफ-सफाई और नियमित रख-रखाब हमें साफ और स्वस्थ रहने में मदद करता है। तो जितना हो सकते अपने आस-पास सफाई जरूर रखें और नियमत रूप से इसका ख्याल भी रखें।।

साभार – DW

Tags

Shivam Sharma

शिवम शर्मा विज्ञानम् के मुख्य लेखक हैं, इन्हें विज्ञान और शास्त्रो में बहुत रुचि है। इनका मुख्य योगदान अंतरिक्ष विज्ञान और भौतिक विज्ञान में है। साथ में यह तकनीक और गैजेट्स पर भी काम करते हैं।

Related Articles

Close