Plants and Animals

ऑस्ट्रेलिया के तट पर विचित्र तरह से फंसी 150 व्हेलें, क्या है कारण

वैज्ञानिकों के लिए यह घटना एक रहस्य बनी हुई है, अचानक से ही ऑस्ट्रेलिया के इस तट पर 150 से ज्यादा पायलट व्हेलें दिखाई पड़ी थी। ये यहाँ कैसे आईं और इनके पीछे की क्या घटना है यह तो जाँट का विषय है।

ऑस्ट्रेलिया के पश्चिमी तट की हैमलिन खाड़ी पर शुक्रवार को 150 शॉर्ट फिन पायलट व्हेलें दिखाई पड़ीं।  ये सभी समुद्र तट की रेत पर फंसी थीं।  वेस्टर्न ऑस्ट्रेलियन कंजर्वेशन डिपार्टमेंट के जेरमी चिक के मुताबिक अब तक 135 से ज्यादा व्हेलें मारी जा चुकी हैं।  सिर्फ 15 व्हेले जिंदा बची हैं।  राहत और बचावकर्मियों के मुताबिक जिंदा व्हेलें भी तड़प रही हैं. जेरमी चिक ने कहा, “ज्यादातर व्हेले रात में ही सूखे तट पर फंस गई और नहीं बचीं।”

छोटे फिन वाली पायलट व्हेलों का झुंड नियमित रूप से अंटार्कटिक और हिंद महासागर के बीच में चक्कर काटता है. हिंद महासागर में उत्तर की तरफ गर्म पानी की धारा मिलती है. इस गुनगुने पानी में व्हेलें अपने बच्चों को बड़ा करती हैं।

हैमलिन बे हॉलिडे पार्क की मैनेजर मेलिसा ले ने समाचार एजेंसी रॉयटर्स से बात करते हुए कहा, “मैंने बीते 15 साल में इतनी बड़ी संख्या में व्हेलें फंसी हुई नहीं देखी. इनमे से कुछ ही जिंदा बची हैं और तड़प रही हैं. पिछली बार जब ऐसी घटना हुई थी, तो कोई व्हेल नहीं बची थी।”

स्थानीय निवासियों और सैलानियों को तट से दूर रहने की हिदायत दी गई है।  डिपार्टमेंट ऑफ प्राइमरी इंडस्ट्रीज एंड रीजनल डेवलपमेंट ने बयान जारी कर कहा है, “मुमकिन है कि मृत या मर रहे पशु आकर्षण का काम करेंगे, जिसके चलते पूरे तट के आस पास शार्क आ सकती है।”

यह भी जानें – भारत में मिले डायनासोर युग के मीन मछली के जीवाश्म

हैमलिन खाड़ी से कुछ ही दूरी पर 1996 में भी व्हेल मछलियां फंसी थी. वह व्हेलों के फंसने की सबसे बड़ी घटना बनी, तब 320 लंबे फिन वाली पायलट व्हेलें बीच की रेत पर फंसी थीं. सिर्फ 20 को ही बचाया जा सका।

साभार – DW.Com and smh.com.au

Tags

Team Vigyanam

Vigyanam Team - विज्ञानम् टीम

Related Articles

Close