पूर्ण सूर्य ग्रहण का अध्ययन करेंगे आसमान में गुब्बारे

नासा आसमान में गुब्बारे भेजने के लिए अमेरिका में विद्यार्थियों की टीमों के साथ सहयोग कर रही है। यह कदम एक अत्यंत अनोखे एवं व्यापक ग्रहण अवलोकन अभियान का हिस्सा है। इस अभियान से पृथ्वी के अलावा जीवन के बारे में समझ बढ़ाने में मदद मिलेगी।

 

नासा के ‘इक्लिप्स बैलून प्रोजेक्ट’ की अगुवाई मोनटाना स्टेट यूनिवर्सिटी की एंजेला डेस जार्डिन कर रही हैं। इसके तहत 50 से ज्यादा ऊंचाई तक जाने वाले गुब्बारे भेजे जाएंगे, जो 21 अगस्त के पूर्ण सूर्य ग्रहण के सजीव फुटेज अंतरिक्ष एजेंसी की वेबसाइट को भेजेंगे।

 

नासा ने तेजी से घूर्णन करने वाले न्यूट्रॉन तारों का अध्ययन करने वाले दुनिया के पहले मिशन की तैयारी पूरी कर ली है। न्यूट्रॉन तारा ब्रह्मांड की सबसे घनी वस्तु है। नासा की योजना न्यूट्रॉन स्टार इंटीरियर कंपोजिशन एक्सप्लोरर (एनआईसीईआर) लॉन्च करने की है, जिसे स्पेस एक्स सीआरएस-11 कार्गो रिसप्लाई मिशन से अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष केंद्र में तैनात किया जाएगा।

 

नासा कैलिफोर्निया की सिलिकॉन वैली के एमेस रिसर्च सेंटर के साथ कम कीमत के 34 गुब्बारे के प्रयोग के संचालन के लिए सहयोग करेगी। इन गुब्बारों को माइक्रोस्ट्रेट कहते हैं।

 

स्रोत-IANS

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *