The Web

दूरसंचार सेवाओं में सुधार के लिए जवाबदेही पर जोर

आईसीटी आधारित मल्टी मॉडल प्लेटफार्म ‘प्रगति’ के जरिए विभिन्न विभागों तथा राज्यों के साथ संवाद बैठक की अध्यक्षता करते हुए मोदी ने दूरसंचार क्षेत्र से जुड़ी शिकायतों के निपटान आदि की दिशा में प्रगति की समीक्षा की।

 

दूरसंचार सेवाओं की खराब स्थिति पर स्पष्ट रूप से नाराजगी जाहिर करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज सभी स्तर पर दक्षता व जवाबदेही पर जोर दिया ताकि हालात में जल्द से जल्द दिखने वाले बदलाव लाये जा सकें।

प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) के बयान में कहा गया है,‘ज्यादातर शिकायतें सेवाओं की खराब स्थिति, कनेक्टिविटी व लैंडलाइन कनेक्शनों के ठप पड़े होने को लेकर हैं।’ बैठक में दूरसंचार विभाग के सचिव ने इस दिशा में उठाए गए कदमों की जानकारी दी।

 

बयान के अनुसार, ‘प्रधानमंत्री ने क्षमता सुधार की जरूरत पर जोर दिया और सभी स्तरों पर जवाबदेही की बात की ताकि इस क्षेत्र में ऐसे बदलाव जल्द से जल्द आएं जो दिखें।’ मोदी ने इस क्षेत्र की समीक्षा के लिए अप्रैल 2015 की बैठक का ज्रिक किया और कहा कि लोगों की समस्याओं को दूर करने के लिए सभी उपलब्ध व मौजूदा प्रौद्योगिकीय समाधानों का इस्तेमाल किया जाना चाहिए।

 

उन्होंने राज्यों से आग्रह किया कि वे इस संबंध में रणनीति, समयबद्ध कार्य योजनाएं व खाके पेश करें। बयान के अनुसार मोदी ने केंद्र सरकार के सभी सचिवों व प्रधान सचिवों से कहा कि वे ‘व्यापार सुगमता’ के लिहाज से स्थिति का आकलन करें।

इस मासिक बैठक में उन्होंने प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) की प्रगति की भी समीक्षा की और 2022 तक सभी को आवास उपलब्ध कराने की केंद्र सरकार की प्रतिबद्धता को रेखांकित किया।

स्रोत-PTI

Tags

Balram Kumar Ray

बलराम कुमार राय विज्ञानम् के गैजेट्स केटेगरी के लेखक हैं. इन्हें टेक्नोलॉजी , गैजेट्स, और Apps पर लिखने में बहुत रूचि है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close