भारत के इस अद्भुत मंदिर में भगवान करते हैं बातें, वैज्ञानिक भी हैं हैरान

भारत को यदि मंदिरो का देश कहा जाये तो कोई अनोखी बात नहीं होगी। इस देश में हजारों साल से मंदिरों की परंपरा चली आ रही है। मंदिर भगवान का घर होते हैं जहां पर भक्त लोग जाकर के अपने प्रिय देवता की पूजा करते हैं और मन्नत भी मांगते हैं।

मंदिरो में आस्था इतनी गहरी हो जाती है कि कभी – कभी विज्ञान को भी वहां से पीछे हटना पड़ता है। ऐसा ही एक बहुत अद्भुत मंदिर है बिहार के बक्सर जिले में जहां मुर्तियां आपस में बातें करती हैं। इसकी पुष्टि वैज्ञानिक भी कर चुके हैं।

तंत्र साधना के लिए प्रसिद्ध बिहार के इकलौते राज राजेश्वरी त्रिपुर सुंदरी मंदिर में साधकों की हर मनोकामना पूरी होती है। देर रात तक साधक इस मंदिर में साधना में लीन रहते हैं।

मंदिर में प्रधान देवी राज राजेश्वरी त्रिपुर सुंदरी के अलावा बंगलामुखी माता, तारा माता के साथ दत्तात्रेय भैरव, बटुक भैरव, अन्नपूर्णा भैरव, काल भैरव व मातंगी भैरव की प्रतिमा स्थापित की गई है।

राज राजेश्वरी त्रिपुर सुंदरी मंदिर की सबसे अनोखी मान्यता यह है कि निस्तब्ध निशा में यहां स्थापित मूर्तियों से बोलने की आवाजें आती हैं। मध्य-रात्रि में जब लोग यहां से गुजरते हैं तो उन्हें आवाजें सुनाई पड़ती हैं।

वैज्ञानिकों की मानें, तो यह कोई वहम नहीं है। इस मंदिर के परिसर में कुछ शब्द गूंजते रहते हैं। मंदिर में काली, त्रिपुर भैरवी, धुमावती, तारा, छिन्न मस्ता, षोडसी, मातंगड़ी, कमला, उग्र तारा, भुवनेश्वरी आदि दस महाविद्याओं की भी प्रतिमाएं हैं।

 इस कारण तांत्रिकों की आस्था इस मंदिर के प्रति अटूट है। कहा जाता है कि यहां किसी के नहीं होने पर भी आवाजें सुनाई देती हैं।

Shivam Sharma

शिवम शर्मा विज्ञानम् के मुख्य लेखक हैं, इन्हें विज्ञान और शास्त्रो में बहुत रुचि है। इनका मुख्य
योगदान अंतरिक्ष विज्ञान और भौतिक विज्ञान में है। साथ में यह तकनीक और गैजेट्स पर भी काम करते हैं।

You may also like...

2 Responses

  1. i). Is desi nuskhe ke sevan se Kuch hi dino me ho jayega aap ka ling lamba, mota or tight.
    ii). Nill skhukranu ki problem se pareshan hai to jyada sochiye mat khaye ye desi dawai.
    iii). 30 mint se pahle sambhog me nahi jhad sakte aap rukavat ka achook desi nuskha.
    http://jameelshafakhana.com/

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *